चीन की जनसंख्या के 2029 तक 1.44 अरब होने की संभावना

चीन की जनसंख्या 2029 तक 1.44 अरब हो जाएगी जिसके बाद इसमें 'नहीं रुकने वाली' गिरावट का सिलसिला शुरू होगा। एक सरकारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। 'बीबीसी' की रविवार की रिपोर्ट के अनुसार, चाइना एकेडमी ऑफ सोशल साइंसेज (सीएएसएस) ने चेताया कि देश को कम कार्यबल और अधिक उम्र वालों की एक बड़ी आबादी को संभालने के लिए नीतियों को लागू करना ही होगा। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि युवाओं की संख्या में कमी और वृद्धों की संख्या में वृद्धि से बेहद प्रतिकूल सामाजिक और आर्थिक परिणाम पैदा होंगे।

दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश ने 2015 में ऐसी समस्याओं से निपटने के लिए अपनी एक संतान वाली नीति को समाप्त कर दिया था। 

संयुक्त राष्ट्र के नवीनतम अनुमानों के अनुसार, चीन की आबादी 1.41 अरब है। 

सीएएसएस की ग्रीन बुक ऑफ पॉपुलेशन एंड लेबर में प्रकाशित इस शोध में बताया गया है कि कामगारों की संख्या अब कम हो रही है और प्रजनन दर में कमी के कारण आगे कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

सदी के मध्य तक चीन की आबादी के घटकर 1.36 अरब होने का अनुमान है जिससे सीधे तौर पर श्रम शक्ति में 20 करोड़ की गिरावट हो सकती है।

इस अध्ययन में निर्भरता दर (बुजुर्गों और बच्चों जैसे गैर-कामकाजी लोगों का अनुपात) में वृद्धि की भी भविष्यवाणी की गई है।

रिपोर्ट के अनुसार, एक बच्चे की नीति में ढील देने से दीर्घावधि में मदद मिलेगी लेकिन अल्पावधि में इससे अधिक आश्रितों के पैदा होने की संभावना है।

--आईएएनएस