भ्रष्टाचार के मामलों में नेतन्याहू से 12वीं बार पूछताछ

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से भ्रष्टाचार के दो मामलों में शुक्रवार को 12वीं बार पूछताछ की गई। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एक राष्ट्रीय रोधी भ्रष्टाचार पुलिस इकाई 'लाहव 433' के जांचकर्ता शुक्रवार सुबह नौ बजे जेरूसलम में प्रधानमंत्री के आवास पर पहुंचे और उनसे लगभग पांच घंटे तक पूछताछ की।

नेतन्याहू के आवास के बाहर प्रदर्शनकारी बड़े-बड़े बैनर लिए खड़े रहे, जिन पर नेतन्याहू का चेहरा बना हुआ था और 'क्राइम मिनिस्टर' लिखा हुआ था। प्रदर्शनकारियों ने न्याय की मांग को लेकर नारेबाजी भी की।

नेतन्याहू 'केस 1000' में पर घूस लेने, धोखाधड़ी और विश्वासघात के संदिग्ध हैं। 'केस 1000' को नेतन्याहू के इजरायली कारोबारी आर्नोन मिलचैन और आस्ट्रेलियाई कारोबारी जेम्स पैकर के साथ संबंधों की वजह से 'गिफ्ट्स केस' भी कहा जाता है।

पुलिस का कहना है कि ये दोनों कारोबारी अपने हित साधने की एवज में पिछले कई वर्षो से नेतन्याहू को लाभ पहुंचा रहे थे। 

नेतन्याहू 'केस 2000' में भी समान अपराधों के संदिग्ध हैं। पुलिस का कहना है कि 'येदियोथ आरोनोथ' समाचार पत्र के मालिक आर्नोन मोजेस ने नेतन्याहू से से वादा किया था कि वह अपने समाचार पत्र में उनकी सकारात्मक कवरेज करेगा, बदले में उनके प्रतिद्वंद्वी समाचार पत्र 'इजरायल हायोम' पर प्रतिबंध लगा दिया जाए।

हालांकि, प्रधानमंत्री के कार्यालय ने आरोपों को खारिज किया है।

--आईएएनएस 

 

POPULAR ON IBN7.IN