अमेरिका में अवैध रूप से रह रहे 44 लाख लोग

अमेरिका में पिछले साल 700,000 से ज्यादा विदेशियों को वीजा की अवधि खत्म होने के बाद देश से जाना था लेकिन वे अधिक समय तक रुके रहे। आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मैक्सिको के साथ सीमा पर अरबों डॉलर की लागत से दीवार बना कर सीमा को सुरक्षित बनाने की बात कही है। हाल के सालाना आंकड़े बताते हुए हैं कि वीजा की अवधि से अधिक समय तक रुकने वाले कितने अवैध प्रवासी हैं। एक अनुमान के मुताबिक देश के एक करोड़ 10 लाख लोगों में से 40 फीसदी लोग वीजा की अवधि समाप्त होने के बाद गैरकानूनी तौर पर रह रहे हैं। अक्तूबर 2016 से सितंबर 2017 के बीच विमान या जहाज से आने वाले पर्यटकों में से 701,900 लोग वीजा की अवधि से अधिक समय तक रुक गए। वीजा की अवधि से अधिक समय तक रुके लोगों की संख्या काफी बड़ी है लेकिन अभी इसका सही से पता नहीं है क्योंकि इसमें यह शामिल नहीं है कितने लोग सड़क मार्ग से पहुंचे।

अमेरिका में ज्यादातर लोग कारोबार के उद्देश से वहां जाते हैं और फिर जैसे ही उनका बिजनेस सेट हो जाता है तो वह रुक जाते हैं। कारोबारी लोग यह भी भूल जाते हैं कि उनके वीजा की अवधि समाप्त होने वाली है। बता दें कि ट्रंप सरकार की तरफ से वीजा नियमों में सख्ती के बीच अमेरिका में बसने और कारोबार करने की इच्छा रखने वाले भारतीयों में वहां के ईबी-5 वीजा कार्यक्रम की तरफ आकर्षण बढ़ रहा है। यह जानकारी इस तरह के कार्यक्रम से जूड़ी एक वित्तीय सेवा फर्म ने दी है।  ईबी-5 वीजा कार्यक्रम के तहत, ग्रीन कार्ड पाने के लिये व्यक्ति को किसी योजना में 5 लाख से 10 लाख डॉलर के बीच निवेश करना होता है, जोकि कम से कम 10 नौकरियां सृजित करे सके। यह विदेशी नागरिकों और उनके परिवार (उनके 21 वर्ष तक के बच्चे) को ग्रीन कार्ड और स्थायी निवास उपलब्ध कराता है। अमेरिकी वीजा कार्यक्रम से जुड़े रीजनल सेंटर कैनएम इन्वेस्टर र्सिवसेज के भारत और पश्चिम एशिया के उपाध्यक्ष अभिनव लोहिया ने कहा कि कैनएम को 2016 में ईबी-5 50 निवेशक प्राप्त हुये जोकि 2017 में बढ़कर 97 हो गये और इस वर्ष इसके 200 तक पहुंचने की उम्मीद है।

 

POPULAR ON IBN7.IN