इंडोनेशिया भूकंप : हजारों पर्यटकों को निकालने का अभियान जारी

इंडोनेशिया के लोम्बोक द्वीप में आए घातक भूकंप के बाद मंगलवार को फंसे हुए हजारों पर्यटकों को निकालने के लिए अभियान जारी है। इस भूकंप में 98 लोगों की मौत हो गई है और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों द्वारा जारी एक वीडियो में सैकड़ों लोग गिली ट्रावांगन द्वीप के तट पर जमा दिख रहे हैं। इन्हें निकालने के उपाय किए जा रहे हैं। इसमें ज्यादातर विदेशी पर्यटक हैं।

यह द्वीप अपने सफेद रेतीले तट व साफ जल के लिए मशहूर है। यह द्वीप रविवार को लोम्बोक में आए 6.9 तीव्रता के भूकंप के केंद्र के पास स्थित है।

पानी के छिछले होने के कारण पहले राहत कार्यो में दिक्कतों का सामना करना पड़ा, लेकिन समुद्र में बढ़े जल से नौ जहाजों को गिली द्वीप पर लंगर डालने में मदद मिली।

अब तक गिली द्वीप से 2,700 से ज्यादा पर्यटक जा चुके हैं। लोम्बोक हवाईअड्डे 24 घंटे खुला हुआ है और इसके उड़ान कार्यक्रमों में खासा वृद्धि हुई है।

भूकंप का केंद्र उत्तरी लोम्बोक में था। यह द्वीप का कम विकसित आवासीय भाग है। लोम्बोक के पर्यटक रिसॉर्ट ज्यादातर द्वीप के दक्षिणी तट पर हैं।

भयावह भूकंप से करीब 20,000 लोगों के विस्थापित हुए हैं।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, बचाव दल ने मंगलवार को भी ढही हुई इमारतों के मलबे में बचे हुए लोगों की तलाश जारी रखी।

इंडोनेशियाई नेशनल बोर्ड फॉर डिजास्टर मैनेजमेंट (बीएनपीबी) के प्रवक्ता सुतोपो पुरावो नुगरोहो ने कहा कि बचाव दल ने उत्तरी लोम्बोक की एक ध्वस्त मस्जिद से एक जीवित व्यक्ति को बचाया। उत्तरी लोम्बोक भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका है, जहां 72 लोगों की मौत हुई है।

--आईएएनएस