वियतनाम : महिलाएं कचरा प्रबंधन से कर रहीं कमाई

वियतनाम के तटीय शहर होई एन में प्रतिवर्ष लगभग दो करोड़ पर्यटक आते हैं, जिससे विश्व विरासत स्थल पर लगभग 27,000 टन शहरी कचरा उत्पन्न होता है। 

पैगोड़ा, मंदिरों, प्राचीन कुओं और गुंबदों के लिए प्रसिद्ध इस शहर के ज्यादातर ठोस कचरे को पहले महासागर, नदियों और गड्ढों को भरकर खत्म किया जाता था जिससे यहां रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए खतरा पैदा हो गया था।

अब घरेलू और पर्यटन उद्योग कचरा को रीसाइकिलेबल, बायोडिग्रेडेबल और सख्त तीन भागों में बांटकर संयुक्त राष्ट्र की समितियों द्वारा स्थानीय लोगों खासकर महिलाओं के सहयोग से एक परियोजना के तहत खपाया जा रहा है।

परिणामस्वरूप वैज्ञानिक कचरा खपाने से न केवल स्थानीय लोगों के लिए आय और रोजगार का स्रोत बन गया है, बल्कि स्थानीय पर्यावरणीय और जलवायु परिवर्तन की तरफ भी एक साथ ध्यान खींचता है।

वियतनामी, चीनी और जापानी प्रभाव के सामंजस्यपूर्ण मिश्रण का केंद्र होई एन क्वांग नाम प्रांत के तटीय शहर डा नांग के 30 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है।

टिकाऊ विकास को बढ़ावा देने वाले दीर्घकालीन कचरा प्रबंधन तंत्र को स्थापित करने का श्रेय 'ग्लोबल एनवायरमेंटर फेसिलिटी' (जीईएफ) को जाता है, जो होई एन में 2010 में स्थापित हुआ था। मूलत: इसका उद्देश्य नवाचार और वकालत है।

जीईएफ के सहयोग से, कई पर्यावरणीय सम्मेलनों के लिए एक वित्तीय तंत्र, एक महिला संघ ने 'होई एन में ठोस कचरे का सामाजीकरण' नाम की एक परियोजना का संचालन किया।

जीईएफ के प्रवक्ता ने आईएएनएस को बताया कि परियोजना का लक्ष्य न केवल कचरे को इकट्ठा करना, उसे अलग करना और उसका निपटान करना है, बल्कि गरीब महिलाओं को इससे धनार्जन करने का अवसर प्रदान करना भी है।

बायोडिग्रेडेबल कचरे को घरेलू स्तर पर उपजाऊ बनाया जाता है और उसके बाद स्थानीय किसानों द्वारा इसका उपयोग कृषि में किया जाता है। प्लास्टिक, धातु और अन्य रीसाइकिलेबल कचरा इकट्ठा कर रीसाइकिल केंद्रों पर भेज दिया जाता है जबकि ठोस कचरा स्थानीय सरकार द्वारा गलाया जाता है।

एक रिवॉल्विंग क्रेडिट योजना समूहों के सदस्यों को ऋण प्रदान करती है और कचरा प्रबंधन कार्यक्रम को और सरल करने में सहायता प्रदान करता है।

होई एन में रहने वाली एक 80 वर्षीय महिला का कहना है कि कचरा प्रबंधन कार्यक्रम ने उसके परिवार को रोजगार देने में मदद की। होई एन का जनसंख्या घनत्व राष्ट्रीय जनसंख्या घनत्व से छह गुना है।

उन्होंने एक दुभाषिए के माध्यम से आईएएनएस को बताया, "मेरा पूरा परिवार पूरी तरह से कचरा इकट्ठा करने और उसे गलाने पर निर्भर है। यह हमें हमारी जीविका कमाने में सहायता प्रदान करता है और पर्यावरण की रक्षा करता है।"

'संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन' (यूनीडो) के अनुसार, 'होई एन पर्यावरणीय नगर विकास' छोटे और मध्यम उद्योग, विशेषकर पर्यटन, शिल्प और पर्यटन उद्योगों में हरित उद्योग कार्यक्रमों को लागू करने के लिए लोगों की सक्रिय भागीदारी की कल्पना करता है। 'होई एन पर्यावरणीय नगर विकास' संयुक्त राष्ट्र की एक योजना निधि से वित्त पोषित है।

स्थानीय नगरीय प्रशासन को ठोस कचरा को एकत्र करने की योजना बनाने तथा व्यावसायिक लोगों के सहयोग से शहर में बागवानी करने के लिए कहा गया है।

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN