जी7 सम्मेलन : ट्रंप ने सहयोगी देशों को खरी-खोटी सुनाई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सप्ताहांत में कनाडा के क्यूबेक में आयोजित जी7 सम्मेलन के बाद वाशिंगटन के सहयोगी देशों पर जमकर बरसे हैं। ट्रंप ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, "अमेरिका सहयोगी देशों की सुरक्षा के लिए नाटो का लगभग पूरा खर्च भार उठात था।"

अमेरिका राष्ट्रीय आय पर आधारित फॉर्मूले के तहत नाटो पर खर्च के पांचवे भाग को सीधे वहन करता था।

बीबीसी के मुताबिक, जी7 के सदस्य देशों ने ट्रंप द्वारा सम्मेलन के संयुक्त बयान को खारिज करने पर उनके फैसले की अलोचना की।

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने ट्रंप के ह्दयपरिवर्तन को निराशाजनक बताया जबकि फ्रांस के राष्ट्रपति पहले ही ट्रंप के इस कदम की निंदा कर चुके हैं।

गौरतलब है कि ट्रंप ने क्यूबेक में आयोजित सम्मेलन को बीच में छोड़ दिया था और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो पर बेईमान और कमजोर होने का आरोप लगाया था।

--आईएएनएस