यह है ब्रिटेन की सबसे कम उम्र की महिला ISIS आतंकी

ब्रिटेन की एक अदालत ने 18 साल की एक लड़की को आतंकी हमले की योजना बनाने के मामले में सोमवार (4 जून, 2018) को दोषी ठहराया है। कोर्ट के फैसले के बाद लड़की आईएसआईएस की सबसे कम उम्र की दोषी ब्रिटिश आतंकी बन गई। उसे ब्रिटिश म्यूजियम पर हमले की योजना बनाने के मामले में दोषी ठहराया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक सफा बाउलार पर आरोप था कि वह आईएस में शामिल होने के लिए सीरिया जाने की योजना बना रही थी और आईएस के आतंकी एवं अपने प्रेमी के मारे जाने के बाद वह लंदन में आतंकी हमला करने की तैयारी कर रही थी। चौंकाने वाली बात यह है कि सफा बाउलार तब महज 16 साल की थी जब वह बिट्रिश मूल के आईएस आतंकी नावेद हुसैन (32) के संपर्क में आई। इस दौरान उसकी योजना आतंकी नावेद शादी करने की थी। लेकिन उसकी उम्मीदें तब धराशाई हो गईं जब अगस्त, 2016 में परिवार संग मोरक्को जा रही बाउलार को रोका गया और उसका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया।

बाद में पासपोर्ट जब्त करने से गुस्साई बाउलार ने बिट्रेन में ही आतंकी हमले करने की योजना बनाई। इसके लिए उसने ऑनलाइन कोडिंग भाषा में बात की है। इस भाषा में ग्रेनेड के लिए अनानास जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया। हालांकि जिन लोगों से उसने ग्रेनेड की मांग की वह असल में ब्रिटेन के ही अडंरकवर एजेंट थे। इस दौरान उसके प्रेमी हुसैन की ड्रोन हमले में मौत हो गई।

 

बीबीसी के अनुसार ओल्ड बैली स्थित एक ज्यूरी ने उसे आतंकवाद के दो आरोपों में दोषी ठहराया। रिपोर्ट में कहा गया कि उसे छह सप्ताह के भीतर सजा सुनाई जाएगी। साल 2015 में बाउलार पेरिस में हुए आतंकी हमलों के बाद आतंकियों के ऑनलाइन संपर्क में आकर कट्टरपंथ की शिकार हो गई थी। उस समय वह 16 साल की थी।

POPULAR ON IBN7.IN