नागोर्नो-काराबाख युद्धविराम को विफल होते देखना निराशाजनक : ट्रंप
Wednesday, 28 October 2020 14:05

  • Print
  • Email

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र को लेकर अमेरिकी मध्यस्थता से आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच हुए युद्धविराम को विफल होते देखकर उन्हें बहुत निराशा हुई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ट्रंप ने पत्रकारों द्वारा अजरबैजान और आमेर्निया के बीच नए युद्धविराम समझौते को तोड़े जाने के सवाल पर कहा, "यह देखना निराशाजनक है, लेकिन ऐसा होता है जब आपके पास ऐसे देश होते हैं जो लंबे समय से ऐसे मसलों में उलझे हुए हैं।"

वहीं, विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अर्मेनियाई प्रधानमंत्री निकोलस पशिनियन और अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलियेव के साथ अलग-अलग फोन पर बातचीत की।

बयान में कहा गया कि पोम्पियो ने दोनों देशों के नेताओं से शत्रुता को खत्म करने, अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन करने के लिए और ओएससीई मिन्स्क समूह के सह अध्यक्षों के तत्वावधान में नागोर्नो-काराबाख संघर्ष के लिए एक राजनयिक समाधान निकालने के लिए कहा।

गौरतलब है कि अमेरिका, अजरबैजान और अर्मेनिया की ओर से रविवार को संयुक्त बयान में कहा गया था कि दोनों युद्धरत देशों के बीच नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र में एक नए मानवीय संघर्ष विराम पर सहमत हुईं, जो सोमवार से प्रभावी होगा।

हालांकि, युद्धविराम के प्रभावी होने के कुछ ही समय बाद, दोनों पक्षों ने युद्धविराम को तोड़ दिया और एक-दूसरे पर आरोप मढ़ते हुए हमला कर दिया।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss