पेशावर के एक मदरसे में धमाका, 7 की मौत, 123 घायल
Tuesday, 27 October 2020 17:09

  • Print
  • Email

पेशावर: पाकिस्तान के पेशावर के एक मदरसे में बम धमाका हुआ है, जिसमें कम से कम सात लोगों के मारे जाने और 123 के घायल होने की सूचना मिली है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, शहर के दीर कॉलोनी में स्थित जामिया जुबेरिया मदरसा में कुरान की पढ़ाई के दौरान यह हादसा हुआ।

पुलिस सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, हादसे के वक्त मदरसे में करीब 40-50 छात्र मौजूद थे।

मदरसा प्रशासन ने कहा है कि इस वक्त यहां भर्ती छात्रों की संख्या 1,100 है।

पेशावर शहर के एसपी वकार अजीम ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया कि सुबह आठ बजे के करीब एक अंजान आदमी मदरसे में आया और अपने पीछे स्कूल में एक बैग छोड़कर चला गया।

उन्होंने कहा कि उस बैग में ही आईईडी डिवाइस के होने की बात कही जा रही है, जिसने उस वक्त धमाका किया जब छात्रों ने सुबह-सुबह अपनी पढ़ाई के लिए यहां आना शुरू किया था।

बम निरोधक दस्ते (एआईजी) के सहायक महानिरीक्षक शफकत मलिक ने पुष्टि की कि धमाके के लिए पांच किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था।

पेशावर के लेडी रीडिंग हॉस्पिटल में मृतकों के शवों और घायलों को भेज दिया गया है। अस्पताल के निदेशक तारिक बुर्की ने कहा है कि सात मृतकों में चार बच्चे हैं और घायलों में भी कम से कम 50 बच्चे हैं।

इस बीच, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह भी कनफर्म किया है कि घायलों में से दो शिक्षक भी हैं।

अब तक किसी भी आतंकी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

घटनास्थल का दौरा करने के बाद खैबर पख्तूनख्वा के स्वास्थ्य मंत्री तैमूर सलीम झागरा ने संवाददाताओं को बताया कि घायलों में रिकवरी की संख्या को बढ़ाए जाने के मद्देनजर हर संभावित बेहतर उपचार पर गौर फरमाया जा रहा है।

खैबर-पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री महमूद खान ने पुलिस को इस पर तत्काल जांच के आदेश दिए हैं।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और प्रधानमंत्री इमरान खान ने धमाके की निंदा करते हुए कहा है, "हम यह सुनिश्चित करेंगे कि जो भी आतंकी समूह इस कायरतापूर्ण बर्बर हमले के लिए जिम्मेदार है, उसे जल्द से जल्द न्याय मिले।"

--आईएएनएस

एएसएन-एसकेपी

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.