भारत, नेपाल सहित चीन और दक्षिण एशियाई गैर-सरकारी मैत्री संगठनों का सम्मेलन आयोजित
Wednesday, 15 July 2020 08:50

  • Print
  • Email

बीजिंग: चीन और दक्षिण एशिया के गैर-सरकारी मैत्री संगठनों का शिखर वीडियो सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसकी थीम है 'मैत्री से महामारी-रोधी शक्ति का मिलन, सहयोग से समान विकास का संवर्धन।' इस सम्मेलन में भारत और नेपाल सहित कई देशों ने हिस्सा लिया। चीनी जन विदेशी मैत्री संघ, दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय मित्रता और चीन के साथ सहयोग के लिए संगठन, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका आदि दक्षिण एशियाई देशों में गैर-सरकारी मैत्री संगठनों के नेताओं ने वीडियो सम्मेलन में भाग लिया।

उन्होंने कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने, चीन और दक्षिण एशियाई देशों के बीच एकता व सहयोग को आगे बढ़ाने, बेल्ट एंड रोड का सह-निर्माण करने आदि विषयों पर विचारों का आदान-प्रदान किया और व्यापक आम सहमति जताई।

चीनी जन विदेशी मैत्री संघ के अध्यक्ष लिन सोंगथ्येन ने कहा कि मौजूदा सम्मेलन दुनिया भर में कोविड-19 महामारी के खिलाफ नाजुक समय में आयोजित किया गया, जिससे एक बार फिर जाहिर हुआ है कि चीनी जनता और दक्षिण एशियाई जनता के बीच मैत्री अंतरराष्ट्रीय परिवर्तन के हर थपेड़े को झेलते हुए कसौटी पर खरी उतरी है। और साथ ही साथ दोनों पक्षों के बीच एक होकर सहयोग करने तथा मुश्किलों को दूर करने का दृढ़ संकल्प भी दिखाया गया है।

महामारी के मुकाबले के दौरान, चीन और दक्षिण एशियाई देशों की सरकार और जनता एक दूसरे का समर्थन करते हुए सहायता देती हैं। सक्रिय कदम उठाकर महामारी के फैलाव को कारगर रूप से रोक दिया गया, और सबसे बड़े हद तक अपने देश तथा क्षेत्रीय जनता के स्वास्थ्य की सुरक्षा की गई। इस दौरान अपार प्यार वाली एशियाई संस्कृति और एशियाई भावना दिखी, और विश्व भर में महामारी की रोकथाम और उस पर अंकुश लगाने के लिए आदर्श स्थापित हुआ, महामारी के खिलाफ एशिया का प्रस्ताव और एशिया की बुद्धि पेश की गई।

सम्मेलन में भाग लेने वाले दक्षिण एशियाई देशों के गैर-सरकारी मैत्री संघों के नेताओं ने कहा कि कोविड-19 महामारी के मुकाबले के दौरान दक्षिण एशियाई देशों ने चीन के साथ मिलकर सहयोग करते हुए एक दूसरे को सहायता दी। चीन में महामारी के खिलाफ नाजुक समय में दक्षिण एशियाई देशों और जनता ने चीन और चीनी जनता को आध्यात्मिक समर्थन और सामग्री की सहायता दी।

वहीं, महामारी की गंभीर स्थिति का सामना करने के समय, चीन ने दक्षिण एशियाई देशों में चिकित्सा दल भेजे, अपना सफल महामारी-रोधी अनुभव साझा किया और दक्षिण एशियाई जनता को बड़ी मात्रा में चिकित्सा सामग्री की मदद दी। मौजूदा वीडियो सम्मेलन के माध्यम से दोनों पक्षों के बीच कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में आपसी मैत्री और मजबूत होगी, जिससे समान विकास और सहयोग को आगे बढ़ाया जा सकेगा।

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )

-- आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss