बोध गया, पटना विस्फोट : एनआईए ने सिमी सदस्य से पूछताछ की
Tuesday, 15 October 2019 09:25

  • Print
  • Email

रायपुर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने प्रतिबंधित संगठन सिमी के संदिग्ध सदस्य अजहरुद्दीन से 2013 के बोध गया व पटना बम विस्फोट के संबंध में आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के साथ उसके संबंधों को लेकर पूछताछ की। अजहरुद्दीन को शुक्रवार रात को हैदराबाद हवाईअड्डे से गिरफ्तार किया गया था। वह सऊदी अरब से यहां पहुंचा था। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

एक उच्च पदस्थ एनआईए सूत्र ने आईएएनएस से कहा, "एजेंसी ने अजहरुद्दीन उर्फ केमिकल अली से 2013 के बोध गया व पटना बम विस्फोट मामले की जांच के संबंध में तीन घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की। वह छत्तीसगढ़ पुलिस की हिरासत में था।"

सूत्र ने कहा कि अजहरुद्दीन से पूछताछ की गई कि वह किस तरह से पटना व बोध गया विस्फोट के आरोपियों से संपर्क में था। अजहरुद्दीन पर स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के सदस्यों को आश्रय देने का आरोप है, जो बम विस्फोट में शामिल थे और उसके कॉल रिकॉर्ड से पता चलता है कि वे अजहरुद्दीन से लगातार संपर्क में थे।

उन्होंने यह भी कहा कि उससे यह भी पूछताछ की गई कि उसने रायपुर में आईएम आतंकियों के लिए किस तरह से लॉजिस्टिक सपोर्ट की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि बोध गया व पटना बम विस्फोट से पहले अजहरुद्दीन ने आईएम आतंकियों के लिए रायपुर में रुकने के लिए व रायपुर से पटना व पटना से रायपुर आने के लिए सहायता की थी।

बोध गया के महाबोधि मंदिर परिसर में जुलाई 2013 को 10 बम विस्फोटों में पांच लोग घायल हो गए, जब कि एक सिलेंडर बम मंदिर परिसर से बरामद किया गया। 2018 में पटना में एनआईए की विशेष अदालत ने आईएम के पांच आतंकियों को 2013 के बोध गया विस्फोट मामले में दोषी करार दिया और उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

अक्टूबर 2013 में तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री व मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पटना की गांधी मैदान की रैली में श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट हुए, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई थी और 80 से ज्यादा घायल हो गए थे।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss