कोरोनाकाल में पंचायत चुनाव की बिसात बिछाने में जुटी भाजपा!
Thursday, 07 May 2020 16:42

  • Print
  • Email

लखनऊ: वैश्विक महामारी कोरोना के चलते हुए पूर्णबंदी के दौर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपना चुनावी मोड के तापमान को कम नहीं होने देना चाहती है। इसीलिए विषम परिस्थितियों में भी वह कार्यकर्ताओं से लगातार संवाद स्थापित किये हुए है।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को सेमीफाइनल मानकर तैयारी में जुटी भाजपा ने ग्रामीण विकास के साथ राष्ट्र निर्माण पर फोकस करने का फैसला लिया है। इस कारण वह कोरोनाकाल में भी पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए बिसात बिछाने में जुटी हुई है।

कोरोना संकट में आई दिक्कतों के बीच में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव और संगठन के कर्ताधर्ता सुनील बसंल टेक्नोलॉजी के माध्यम से बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता से संवाद कर अपनी जड़े मजबूत कर रहे हैं। लॉकडाउन में मिली थोड़ी ढील में वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए स्वतंत्रदेव सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत व विधान परिषद चुनावों के लिए गठित पदाधिकारियों व मंत्रियों की टीमों से किए संवाद में संगठनात्मक मुद्दों पर मंथन किया।

प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल सहित पार्टी के अन्य पदाधिकारियों ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों के बूथ अध्यक्षों से ब्रिज कॉल के माध्यम से संवाद किया। पार्टी का यह अभियान 14 मई तक चलेगा। नेताओं ने पार्टी द्वारा चलाये जा रहे सेवा अभियान में बूथ स्तरीय कार्यकताओं की भूमिका और योगदान की सराहना की साथ ही साथ जमीनी हकीकत का फीडबैक भी लिया।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता व प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल की उपस्थिति में पंचायत चुनाव से जुड़े प्रमुख पदाधिकारियों के मंथन का दौर लगातार चल रहा था कि अचानक से आए कोरोना ने इसमें ब्रेक लगा दिया था। भाजपा जानती है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अगर उसकी धाक और मजबूत हो गयी तो 2022 के विधानसभा चुनाव में उसका मुकबला करने में किसी से भी इतनी दिक्कत नहीं आएगी। इसी कारण सपा-बसपा को मुख्य प्रतिद्वंद्वी मानते हुए छोटे दलों से मिल रहीं चुनौतियों को ध्यान रखने पर भी मंथन हो रहा है।

प्रदेश अध्यक्ष ने बूथ अध्यक्षों से कहा कि वे खुद व अपनी बूथ समिति के सभी सदस्यों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हर जरूरी उपायों और सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन करे।

पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी के अनुसार प्रदेश में जल्द ही पंचायत चुनाव होने के आसार हैं, जिसे देखते हुए पार्टी ने अपनी बूथ लेवल की इकाई को मांझना शुरू किया है। जिससे कार्यकर्ताओं का मनोबल भी बढ़े। पार्टी की ओर समीक्षा हो रही है। कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया जा रहा है। लॉकडाउन का पालन क्षेत्र में किस प्रकार हो रहा है, इस बात का भी अपडेट लिया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं से निरंतर संपर्क-संवाद बनाए रखने पर जोर दिया।

उनका मानना है कि मोबाइल फोन व वाट्सएप समूहों के माध्यम से आपसी तालमेल बना रहना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्र की समस्याओं का समाधान कराने में जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें।

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक राजीव श्रीवास्तव कहते हैं, "भाजपा बहुत बड़ा दल है। कार्यकर्ता भी बहुत है। इसलिए इस महामारी में कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाना जरूरी है। कोरोना काल में लोग घरों में हैं। ऐसे में बड़े नेताओं का संवाद छोटे कार्यकर्ताओं से पार्टी के कायरे को लेकर एक्टिव करता है। पहले अध्यक्ष और संगठन महामंत्री व्यस्तता के चलते पहले न मिल पाते हों, लेकिन इस समय टेक्नोलॉजी ने आसान कर दिया है। भाजपा चुनौती में अवसर ढूढने में लगातार लगी रहती है। इसका फायदा पार्टी को मिलता रहा है। पंचायत चुनाव में भी इस प्रकार की मुहिम बहुत कारगर साबित होगी।"

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डा़ चन्द्रमोहन ने कहा, "भाजपा का विश्वास लोकतंत्र में है। भाजपा हमेशा सभी चुनाव में भाग लेती है। पंचायत चुनाव की तैयारी भी अच्छे से की है। अभी पूरा देश कोरोना की महामारी में है। जब इससे बाहर आएंगे तो चुनावी रणनीति बनाकर तेज गति से लगेंगे।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss