एक फोन पर हर रोज 8 हजार लोगों को अपने घर से खाना भेज रहे मंत्री ब्रजेश पाठक
Tuesday, 14 April 2020 17:38

  • Print
  • Email

लखनऊ: लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक की एक पहल को खूब सराहना मिल रही है। उनके राजभवन कॉलोनी स्थित नौ नंबर की सरकारी कोठी पर आजकल सुबह से ही फोन घनघनाने लगता है। यह सिलसिला रात तक चलता है। या तो मंत्री खुद फोन उठाते हैं नही तो उनका ऑपरेटर फोन उठाता है। फोन करने वाले हर व्यक्ति का पहले नाम और घर का पता नोट किया जाता है और फिर उसे भोजन पहुंचाया जाता है। हर रोज आठ हजार लोगों को मंत्री अपने निजी संसाधनों से भोजन और राशन दे रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान अब तक वह एक लाख 38 हजार लोगों को खाना खिला चुके हैं तो पांच हजार कुंतल से ज्यादा राशन बांट चुके हैं। लॉकडाउन के दौरान गरीबों को भोजन पहुंचाने के लिए घर पर कंट्रोल रूम खोलने का प्रयोग सफल रहा है।

मंत्री ब्रजेश पाठक ने आईएएनएस से कहा, "लॉकडाउन के कारण रोज कमाने-खाने वाले परिवार संकट में हैं। काम-धंधा ठप होने से ऐसे लोगों के पास राशन खरीदने के पैसै नहीं हैं। रेल और बस सेवा बंद होने से बाहर के भी तमाम लोग लखनऊ में फंसे हैं। इन लोगों के बारे में ख्याल करते हुए मैने आवास पर फूड कंट्ररेल रूम की स्थापना की। 0522-2239999 नामक नंबर को सार्वजनिक कर दिया। पहले ही दिन सात सौ से ज्यादा लोगों ने फोन किए। अब हर दिन करीब आठ हजार लोगों को बना-बनाया खाना और राशन पहुंचाया जा रहा है।"

पिछले 27 मार्च से विधि एवं न्याय तथा ग्रामीण अभियंत्रण विभाग मंत्री ब्रजेश पाठक अपने पूरे परिवार और स्टाफ के साथ जरूरतमंदों के लिए भोजन बनाने और राशन किट तैयार करने में व्यस्त रहते हैं। यह सिलसिला लगातार चल रहा है। जरूरतमंदों तक दवाएं भी मंत्री भेजते हैं। लखनऊ के नरही, हुसैनगंज, फूलबाग, सदर, तालबाग, कैसरबाग, महानगर, निरालानगर, विकास नगर, कृष्णानगर, आलमबाग, आशियाना, अलीगंज, चांदगंज, डालीगंज, चिनहट, पत्रकारपुरम, तिलकनगर, माल एवेन्यू, इंदिरानगर, माल एवेन्यू मलिन बस्ती आदि इलाकों में रोजाना वाहन से भोजन के पैकेट और राशन किट भेजते हैं।

मंत्री के घर बने फूड कंट्रोल रूम के आंकड़ों के मुताबिक, एक लाख 38 हजार पैकेट भोजन के अलावा अब तक पांच हजार कुंतल राशन बांटा गया। जिसमे दो हजार कुंतल आटा, एक हजार कुंतल चावल, सात सौ कुंतल दाल, एक हजार कुंतल आलू, सौ कुंतल चीनी और दो सौ कुंतल तेल शामिल है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss