Print this page

आगरा: मरीज की मौत के बाद परिजनों ने की अस्पताल में तोड़फोड़
Friday, 14 August 2020 12:04

आगरा (यूपी): इलाज के दौरान एक मरीज की मौत होने के बाद उसके परिवार के सदस्यों ने आगरा के एक निजी अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की। साथ ही उन्होंने डॉक्टरों पर लापरवाही बरतने और ओवरचार्ज करने का आरोप लगाते हुए कर्मचारियों की पिटाई कर दी। जीआर अस्पताल के मालिक और समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह ने कहा कि मरीज नाहर सिंह (50) को 19 जुलाई को गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था। उन्हें एसएन मेडिकल कॉलेज से स्थानांतरित किया गया था। रोगी को तीन हफ्तों से अधिक समय तक आईसीयू में हाई ऑक्सीजन फ्लो पर रखा गया था क्योंकि उन्हें सांस लेने में बहुत ज्यादा दिक्कत थी। वह इससे जुड़े एक सिंड्रोम से पीड़ित था।

पिछले तीन दिनों से मरीज वेंटिलेटर पर था। रोगियों के परिवार के सदस्यों को उनके अस्थिर स्वास्थ्य के बारे में अक्सर अपडेट किया जाता था। गुरुवार को इलाज के दौरान नाहर सिंह की मौत हो गई।

राजेंद्र सिंह ने कहा कि मृतक के परिवार ने आरोप लगाया है कि डॉक्टरों की लापरवाही के कारण मरीज की मौत हो गई और फिर उन्होंने अस्पताल में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

उन्होंने आगे कहा, "उन्होंने प्रवेश द्वार और कांच के शीशे भी तोड़ दिए। डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों की भी पिटाई की। मैंने उपयुक्त कार्रवाई के लिए ताजगंज पुलिस स्टेशन को लिखित शिकायत भेज दी है। उनकी बर्बरता की करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।"

ताजगंज एसएचओ नरेंद्र सिंह ने कहा, "मामले की जांच की जा रही है। सभी तथ्यों की जांच करने के बाद एक प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। हम मृतक के परिवार के सदस्यों से संपर्क कर रहे हैं।"

--आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी