उप्र में 11 विधान परिषद सीटों के लिए मतदान जारी
Tuesday, 01 December 2020 12:33

  • Print
  • Email

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के 72 जिलों में 11 विधान परिषद सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हो रहा है। शिक्षक और स्नातक पांच स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से और छह शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से इन सीटों के लिए उम्मीदवारों का चयन करेंगे।

वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी।

शिक्षकों के चुनाव में लगभग पांच लाख माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों के भाग लेने की उम्मीद है।

स्नातक के लिए 114 और शिक्षकों के निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 85 सहित कुल 199 उम्मीदवार मैदान में हैं।

उनमें से अधिकांश बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं।

इस बीच, भाजपा, जिसने वास्तव में अब तक शिक्षकों के चुनावों में सक्रिय रूप से चुनाव नहीं लड़ा था, ने पहली बार इन सीटों पर उम्मीदवारों को सपोर्ट करने का फैसला किया।

भाजपा की उत्सुकता उस समय स्पष्ट हो गई जब पार्टी ने एमएलसी (शिक्षकों का कोटा) उमेश द्विवेदी को शामिल किया।

उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, जो राज्य के शिक्षा मंत्री भी हैं, ने कहा, "हम सभी चुनाव लड़ेंगे और विजयी होंगे।"

इन शिक्षकों के निकाय चुनावों में मतदाताओं में कई जिलों के शिक्षक शामिल होते हैं।

उदाहरण के लिए, लखनऊ सीट के लिए मतदाता लखनऊ, रायबरेली और प्रतापगढ़ में फैले हुए हैं।

यह पूछे जाने पर कि भाजपा ने इन शिक्षकों के कोटा चुनावों में इतनी सक्रियता से भाग लेने का फैसला क्यों किया तो राज्य भाजपा के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा, "शिक्षक समाज की मानसिकता को आकार देने के लिए महत्वपूर्ण हैं। इस उद्देश्य के साथ, हम शिक्षकों का समर्थन कर रहे हैं। इसके अलावा, जैसे-जैसे चुनाव होंगे, हम सभी चुनाव लड़ेंगे क्योंकि हम लोकतंत्र में विश्वास करते हैं।"

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि महामारी को देखते हुए, प्रत्येक मतदाता को वोट डालने से पहले थर्मल स्कैनिंग से गुजरना होगा।

प्रत्येक मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या 1,000 पीपीई किट तक सीमित कर दी गई है, मतदानकर्मियों को सैनिटाइजर, फेस शील्ड और फेस मास्क प्रदान किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि 100 सदस्यीय उत्तर प्रदेश विधान परिषद में समाजवादी पार्टी के पास 52 एमएलसी हैं, भाजपा के 19, बसपा के आठ, कांग्रेस के दो और अपना दल (सोनेलाल) का एक एमएलसी है।

शिक्षकों के पास एक एमएलसी है, जबकि तीन निर्दलीय हैं। चौदह सीटें खाली हैं।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss