बलिया कांड : आरोपी पक्ष की प्राथमिकी दर्ज न होने पर अनशन करेंगे विधायक
Saturday, 17 October 2020 20:10

  • Print
  • Email

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया में कोटे की दुकान के आवंटन के दौरान हुए खूनी संघर्ष के मामले में मुख्य आरोपी भाजपा कार्यकर्ता धीरेंद्र प्रताप सिंह के साथ उसके दो भाइयों सहित कई के खिलाफ मामला दर्ज है। आरोपी पक्ष के समर्थन में खुलकर आने वाले बैरिया से भाजपा के विधायक सुरेंद्र सिंह आरोपी के परिवार की तरफ से केस दर्ज कराने रेवती थाना पहुंचे। उन्होंने कहा कि दूसरे पक्ष की भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई तो वह आमरण अनशन करेंगे। विधायक सुरेंद्र ने कहा, "प्रशासन एकतरफा कार्रवाई कर रहा है। तीन दिन तक मेडिकल न होने पर आज मुझे आना पड़ा। पहले पक्ष की जिस तरह से प्राथमिकी दर्ज की गई है, वैसे ही दूसरे पक्ष की भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई तो मैं आमरण अनशन पर बैठूंगा। सत्याग्रह करूंगा और जीवन का अंत करूंगा।"

रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर में पुलिस टीम के सामने हुई हत्या के मामले में आरोपित पक्ष की ओर से मुकदमा दर्ज कराने भाजपा के बैरिया से विधायक सुरेंद्र सिंह समर्थकों के साथ थाने पहुंचे। इस दौरान विधायक के साथ मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के परिवार की चोटिल महिलाएं और बच्चे भी हैं।

विधायक का कहना है कि मारपीट में धीरेंद्र प्रताप सिंह का परिवार भी घायल हुआ है। इस मामले में तो उनकी भी एफआइआर दर्ज होनी चाहिए। पुलिस ने केस से पहले मेडिकल की बात कही तो विधायक आरोपित परिवार के लोगों और भीड़ के साथ सीएचसी गए। वहां कोई डॉक्टर नहीं था। इसके बाद विधायक सभी को लेकर जिला अस्पताल रवाना हो गए। भारी भीड़ के कारण पुलिस फोर्स के साथ एसपी भी पहुंचे थे।

इस बीच पुलिस ने गोलीकांड के अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कुछ स्थानों पर छापेमारी की, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस मामले में पुलिस अब तक मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के दो भाइयों देवेंद्र प्रताप सिंह व नरेंद्र प्रताप सिंह को ही गिरफ्तार कर चुकी है।

गौरतलब है कि बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन में गुरुवार को कोटे की दुकान के चयन के लिए खुली बैठक हो रही थी। इसमें एसडीएम, सीओ, एसओ व अन्य पुलिसकर्मी भी शामिल थे।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, भाजपा कार्यकर्ता धीरेंद्र प्रताप सिंह ने एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी। इस दौरान ईंट-पत्थर और लाठी-डंडे भी चले। इसमें कई लोग घायल हो गए हैं। इस मामले में धीरेंद्र समेत आठ नामजद और 25 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसडीएम, सीओ के अलावा मौके पर मौजूद कई पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

--आईएएनएस

वीकेटी/एसजीके

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss