उप्र : मुख्यमंत्री ने किया मिशन शक्ति का आगाज
Saturday, 17 October 2020 17:26

  • Print
  • Email

बलरामपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बलरामपुर की रिजर्व पुलिस लाइन में 'मिशन शक्ति' का आगाज किया। उन्होंने कहा कि जो लोग नारी गरिमा और स्वाभिमान को दुष्प्रभावित करने की कोशिश करेंगे, बेटियों पर बुरी नजर डालेंगे, उनके लिए यूपी की धरती पर कोई जगह नहीं है, उनकी दुर्गति भी तय है। मुख्यमंत्री जनपद बलरामपुर से प्रदेशव्यापी 'मिशन शक्ति' का श्री गणेश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महिलाओं, बेटियों और बच्चों की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन के प्रयास को गति दी गई है।

शारदीय नवरात्र से वासंतिक नवरात्र तक चलने वाले इस अभियान का शुभारंभ करते हुए योगी ने कहा, "नारी शक्ति की प्रतीक है। हमारी सनातन परंपरा में नारी पूजनीय है, वंदनीय है। नवरात्रि का अनुष्ठान इसी का द्योतक है। आवश्यकता है कि बदलते दौर में नई पीढ़ी को अपनी सनातन संस्कृति की परंपरा का वाहक बनाएं, उनमें, स्त्री के प्रति सम्मान, सुरक्षा और स्वावलंबन की भावना का प्रसार करें। मिशन शक्ति इसी दिशा में एक प्रयास है। जो लोग नारी गरिमा और स्वाभिमान को दुष्प्रभावित करने की कोशिश करेंगे, बेटियों पर बुरी नजर डालेंगे, उनकी खैर नहीं है। यह लोग सभ्य समाज के लिए कलंक हैं। राज्य सरकार ऐसे अपराधियों से पूरी कठोरता से निपटेगी। इनकी दुर्गति तय है।"

उन्होंने कहा कि बेटा-बेटी में कोई भेद नहीं, कोख में बेटियों की हत्या और बाल-विवाह की सार्वजनिक रूप से निंदा होनी चहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने खिलाफ होने वाली हिंसा या अपराध की शिकायत जरूर करें। आपके पास 1090, 1070, 189, 112 जैसी तमाम विकल्प हर समय उपलब्ध हैं।

विगत दिनों बलरामपुर में एक बालिका के साथ हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मिशन शक्ति उस बालिका को श्रद्धांजलि स्वरूप है। जनता से मुखातिब मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशव्यापी मिशन शक्ति के पहले चरण में महिलाओं, बेटियों और बच्चों की सुरक्षा व सम्मान सुनिश्चित करते हुए जन जागरूकता का कार्यक्रम चलाया जाएगा। दूसरे चरण में ऑपरेशन शक्ति के अंतर्गत चिन्हित मनचलों, शोहदों की काउंसलिंग कराई जाएगी। इसके बाद भी अगर सुधार न हुआ तो जनसहयोग से ऐसे असामाजिक तत्वों के सामाजिक बहिष्कार की कार्रवाई होगी। इनकी तस्वीर चौराहों पर लगेगी।

उन्होंने कहा कि अभियान के तहत महिला हित में कार्य करने वाली संस्थाओं, समूहों और व्यक्तियों को सूचीबद्ध करते हुए प्रदेश सरकार सम्मानित करेगी। इस बार रामलीला के मंच और दुर्गा पंडाल भी महिला सशक्तीकरण का संदेश देंगे। हर जनपद से 100 रोल मॉडल महिलाएं भी चुनी जाएंगी।

योगी ने महिलाओं को उन्नति के लिए हर अवसर उपलब्ध कराने के आश्वासन देते हुए कहा कि महिला संबंधी अपराध कतई क्षम्य नहीं है। ऐसे प्रकरणों में त्वरित कार्रवाई होगी। अभियोजन की कार्यवाही पूरी तैयारी से होगी। जल्द से जल्द न्याय के लिए इनकी सुनवाई जरूरत के अनुसार, फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की सुविधा और संवेदनशीलता के दृष्टिगत प्रदेश के सभी थानों और तहसीलों में महिला हेल्पडेस्क की स्थापना की जाएगी। यहां तैनात कर्मचारी भी महिला होगी।

कार्यक्रम स्थल पर मिशन शक्ति से जुड़े सभी विभागों की प्रदर्शनी लगाई गई थी। मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का लोकार्पण करते हुए सभी स्टॉलों का अवलोकन भी किया। इससे पहले मुख्यमंत्री के आगमन पर उनके स्वागत में स्थानीय लोक कलाकारों ने भजन एवं देवी गीतों पर आकर्षक प्रस्तुति दी। पूरे कार्यक्रम में में कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन किया गया।

--आईएएनएस

वीकेटी/एसजीके

 

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.