Print this page

हापुड़ दुष्कर्म के आरोपी ने छोड़ा संदिग्ध सुसाइड नोट
Friday, 14 August 2020 12:09

अमरोहा (उत्तर प्रदेश): अमरोहा पुलिस को हापुड़ में 6 साल की बच्ची के साथ बेरहमी से दुष्कर्म के आरोपी दलपत के कपड़े, एक पहचान पत्र और कथित रूप से एक सुसाइड नोट मिला है। नोट में कहा गया है कि वह मुठभेड़ में नहीं मारा जाना चाहता है। इसमें लिखा है, "मैं जानता हूं कि मुझे मुठभेड़ में मार दिया जाएगा और मैं उस तरह से मरना नहीं चाहता हूं। मैं अपने जीवन को समाप्त करने के लिए खुद अपना साधन चुनूंगा। कृपया मेरे बच्चों को परेशान न करें।"

हालांकि पुलिस इस सुसाइड नोट को लेकर संदिग्ध थी क्योंकि यह जांच को गुमराह करने का प्रयास भी हो सकता है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "जब तक कि हम उसे या उसके शरीर को नहीं ढूंढ लेते हैं या शरीर को नष्ट करने के सबूत को नहीं ढूंढ लेते हैं, तब तक हम सुसाइड नोट पर भरोसा नहीं करेंगे। इसके अलावा हम सुसाइड नोट पर उसकी लिखावट का मिलान करने की कोशिश भी कर रहे हैं।"

अमरोहा के महमूदपुर गांव के पास यह 'सुसाइड' नोट मिला है। इसी गांव में आरोपी दलपत सिंह रहता था। यह सुसाइड नोट तब सामने आया है, जब पुलिस ने आरोपियों के संबंध में कोई भी जानकारी देने पर 50 हजार रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस तीन स्केच की मदद से आरोपियों को पकड़ रही थी।

कथित तौर पर ग्रामीणों ने आरोपी के पैतृक गांव के बाहरी इलाके में देशी शराब के ठेके के पास उसे धर दबोचा था और पुलिस को इसकी सूचना भी दे दी थी, लेकिन जब तक पुलिस मौके पर पहुंची आरोपी भाग गया था।

हापुड़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) सर्वेश मिश्रा ने कहा, "गजरौला की फर्म में जहां आरोपी काम करता था, वहां ट्राउजर, शर्ट और पहचान पत्र मिला है। जबकि महमूदपुर गांव से लगभग एक किमी दूर फतेहपुर गांव के बाहरी इलाके में एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है।"

नाबालिग लड़की का दलपत ने 6 अगस्त को तब अपहरण कर लिया था जब बच्ची हापुड़ के गढ़ इलाके में अपने घर के बाहर खेल रही थी। आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया और उसे पास के जंगल में मरने के लिए छोड़ दिया था। खोज और बचाव दल को बच्ची 12 घंटे बाद मिली थी।

बच्ची फिलहाल मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। उसके निजी अंगों पर कई चोटें थीं। 12 घंटे तक लावारिश पड़ी रहने के कारण उसका बहुत खून बह गया था।

आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें पिछले छह दिनों से अमरोहा में हापुड़ के गढ़ और गजरौला के पास के जंगलों में दबिश दे रही हैं, लेकिन आरोपी फरार है।

--आईएएनएस

एसडीजे