पीएम मोदी अयोध्या के लिए दिल्ली से रवाना, सीएम योगी भी पहुंचने वाले हैं रामनगरी
Wednesday, 05 August 2020 10:20

  • Print
  • Email

अयोध्या: रामनगरी अयोध्या में यह रामकथा का नया अध्याय है, 492 वर्ष तक चली संघर्ष-कथा का अपना 'उत्तरकांड' है। अपनी माटी, अपने ही आंगन में ठीहा पाने को रामलला पांच सदी तक प्रतीक्षा करते रहे तो रामभक्तों की 'अग्निपरीक्षा' भी अब पूरी हो रही है। पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार यानी आज दिन में अभिजीत मुहूर्त में श्रीराम जन्मभूमि में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन करने के साथ ही आधार शिला भी रखेंगे। अयोध्या की धरती 76 युद्ध और करीब चार लाख श्रद्धालुओं के बलिदान की साक्षी रही है। आज यह नगरी भक्ति और उल्लास के नए रंग में डूबी है। हर छत लहरा रही भगवा पताका, पीतवर्ण दीवारें और देहरी-देहरी झिलमिलाते दीपक रामलला की अगवानी को आतुर हैं। बस, अब प्रतीक्षा उस क्षण की है, जब बुधवार की दोपहर को अभिजित मुहूर्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन करेंगे। पांच सदी तक चले राम मंदिर निर्माण के आंदोलन की धरती भले ही अयोध्या रही, लेकिन मर्यादा पुरुषोत्तम की धरा ने धैर्य कभी नहीं छोड़ा। रामभक्तों के बलिदानी संघर्ष पर भरोसे की वह नींव टिकी हुई थी कि हां, एक न एक दिन रामलला का भव्य मंदिर बनेगा और रामलला उसमें विराजेंगे। ...और वह दिन आ गया।

श्रीराम जन्मभूमि परिसर में भूमि पूजन पंडाल और रंगोली सज कर तैयार है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या के लिए रवाना हो गए हैं। सीएम योगी अयोध्या में पीएम मोदी का स्वागत करेंगे। पहले सीएम योगी लखनऊ से पीएम मोदी के साथ अयोध्या जाने वाले थे, लेकिन कार्यक्रम में कुछ बदलाव किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पारंपरिक हिंदू वेशभूषा धोती-कुर्ता में हैं। हिंदू धर्म में पूजा के समय धोती-कुर्ता का विशेष महत्व है। श्रीराम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए पीएम मोदी ने इसे विशेष रूप से धारण किया है।

श्रीराम जन्मभूमि में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन करने के पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली से रवाना हो गए हैं। करीब वह 10 बजकर 35 मिनट पर लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर उतरेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली से विशेष विमान से रवाना होने के बाद लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर लैंड करेंगे। इसके बाद हेलिकॉप्टर से अयोध्या पहुंचेंगे। नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री होंगे जो कि अयोध्या के हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे। इतना ही नहीं वह रामलला प्रांगण में भगवान श्रीराम का दर्शन करने वाले भी पहले प्रधानमंत्री होंगे। अयोध्या को उनके आगमन और इस गौरवशाली पल का साक्षी बनने का बेसब्री से इंतजार है। 

राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फावड़े और कन्नी का इस्तेमाल करेंगे। पीएम मोदी गर्भ गृह के स्थान पर फावड़े से नीव खोदेगें और कन्नी से ईंट (शिला) पर सीमेंट लगाएंगे।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.