यूपी में लॉकडाउन के दिन रक्षाबंधन को लेकर खुलेंगी मिठाई व राखी की दुकानें, बहनों को मुफ्त बस यात्रा
Sunday, 02 August 2020 08:30

  • Print
  • Email

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में रक्षाबंधन पर्व को लेकर रविवार को मिठाई और राखी की दुकानें खुली रहेंगी। कोरोना महामारी के चलते प्रत्येक शनिवार और रविवार को बाजारों के बंदी का आदेश है, लेकिन रक्षाबंधन पर्व को देखते हुए रविवार को मिठाई और राखी की दुकानों को खोलने का आदेश दिया गया है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की सभी श्रेणी की बसों में महिलाओं को निशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन से पहले मिठाई और राखी की दुकानों को खोलने के निर्देश देने के साथ कहा है कि इस दौरान कोनिड-19 के प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि पुलिस सघन पेट्रोलिंग करे और प्रोटोकॉल का पालन कराए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन के मौके पर महिलाओं को बड़ा उपहार दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि भाई-बहन के इस त्योहार के दृष्टिगत रविवार को मिठाई व रखी की दुकानें खुली रहेंगी। राज्य सरकार के प्रवक्ता के अनुसार पिछले तीन वर्षों की तरह इस बार भी रक्षा बंधन के पर्व पर इस बार भी उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की सभी श्रेणी की बसों में महिलाओं को निशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके तहत दो अगस्त की मध्य रात्रि 12 बजे से तीन अगस्त की मध्य रात्रि 12 बजे तक निगम की सभी श्रेणी की बसों में महिलाओं से यात्रा का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन के मौके पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सघन चेकिंग के भी निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही रक्षाबंधन के मौके पर कोरोना संक्रमण को लेकर जारी दिशा-निर्देश का भी पूरी कड़ाई से अनुपालन कराने का निर्देश भी दिया है। सीएम योगी ने कहा है कि इस मौके पर कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम न किया जाए। ध्यान रहे, कोरोना पर नियंत्रण के लिए शासन ने हर शनिवार व रविवार को साप्ताहिक बंधी तय कर रखी है। सोमवार को रक्षाबंधन का त्योहार है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बार रविवार को मिठाई व राखी की दुकानें खुली रहने का निर्देश दिया है।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.