Print this page

उप्र के 7 शहरों में 'बॉक्स' वाले ही देख पाएंगे टीवी
Tuesday, 16 April 2013 10:35

उत्तर प्रदेश के सात शहरों में जिन उपभक्ताओं ने अभी तक सेट टॉप बॉक्स नहीं लगवाया है, वे सोमवार आधी रात के बाद से टेलीविजन पर कोई कार्यक्रम नहीं देख पाएंगे। रात के 12 बजते ही सभी चैनलों को डिजिटल मोड पर डाल दिया जाएगा। इस बीच उपभोक्ताओं को अभी भी विश्वास है कि सेट टॉप बॉक्स लगवाने की समय सीमा को फिर से बढ़ा दिया जाएगा, लेकिन संबंधित अधिकारी इस तरह की किसी भी संभावना से इंकार कर रहे हैं, इसलिए सोमवार को आधी रात के बाद टीवी सेट सिर्फ 'ब्लैक बॉक्स' बनकर ही रह जाएंगे।

प्रदेश के वाराणसी, लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद और गाजियाबाद सहित सात शहरों को पहले चरण के तहत डिजिटलाइजेशन के लिए चुना गया है। इन शहरों में सेट टॉप बॉक्स लगवाने की समय सीमा 31 मार्च तक निर्धारित की गई थी, लेकिन राज्य सरकार के अनुरोध के बाद इन शहरों में सेट टॉप बॉक्स लगवाने की समय सीमा को बढ़ाकर 15 अप्रैल कर दिया गया था।

अधिकरियों के मुताबिक, अभी भी लाखों लोगों ने अपने घरों में सेट टॉप बॉक्स नहीं लगवाया है। उन लोगों से कंपनियों और समाचार पत्रों के माध्यम से बॉक्स लगवाने के लिए लगातार अनुरोध किया जा रहा है।

मनोरंजन कर आयुक्त एच.के. शुक्ला ने कहा कि उपभोक्ता अवधि बढ़ने के इंतजार में हैं लेकिन सरकार द्वारा अवधि बढ़ाए जाने की संभावना काफी कम ही है, क्योंकि पहले ही 15 दिन का अतिरिक्त समय दिया जा चुका है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 30 मार्च को केंद्र सरकार को एक पत्र लिखकर समय सीमा को छह माह तक बढ़ाए जाने का अनुरोध किया था, लेकिन केंद्र की ओर से समय सीमा महज 15 दिन के लिए ही बढ़ाई गई थी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।