'उप्र में कोरोना की रोकथाम में आशा वर्करों का अहम योगदान'
Saturday, 23 May 2020 10:11

  • Print
  • Email

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) ने मुख्यमंत्री के हवाले से कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम में आशा वर्कर व निगरानी समितियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। शुक्रवार को लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि अब तक लाखों की संख्या में प्रवासी कामगारों व श्रमिकों की यूपी में वापसी हुई है। जांच के बाद कुछ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। उनका नि:शुल्क उपचार कराया जा रहा है। उपचार के बाद बहुत से लोग स्वस्थ्य होकर घर चले गए हैं। हालांकि कई प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को होम क्वारंटीन में भी रखा गया है। उनकी निगरानी मोहल्ला व ग्राम समिति कर रही हैं। साथ ही इनमें कोरोना के लक्षणों की जांच भी आशा वर्कर कर रहे हैं। इनका कोरोना रोकने में महत्वपूर्ण योगदान है।

उन्होंने बताया कि 46 हजार 103 ग्राम पंचायतों में 16 लाख 8 हजार 184 व्यक्ति राजस्व विभाग के क्वारंटीन सेंटरों में जांच के बाद ग्रामीण क्षेत्र में गए हैं, जबकि शहरी क्षेत्र के 6 हजार 202 मोहल्ला वार्ड में 2 लाख 24 हजार 639 लोग गए हैं। इस तरह 18 लाख से अधिक लोग क्वारंटीन सेंटरों में जांच के बाद घर भेज दिए गए हैं।

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि हर क्वारंटीन सेंटर पर इंफ्रारेड थर्मामीटर उपलब्ध करा दिया जाए, ताकि प्राथमिक स्तर पर जांच को मजबूती दी जा सके। साथ ही समय पर उपचार मुहैया कराने और संक्रमण के रोकथाम में भी आसानी होगी।

योगी ने प्रदेश के सभी दुकानदारों से अपील की है कि हर दुकानदार मास्क व सैनिटाइज का प्रयोग अवश्य करें। अगर कोई भी ग्राहक बिना मास्क के सामान लेने आता है तो उसे सामान ना दें।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में हर किसी को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। अब तक 5 हजार लोगों को मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना किया गया है।

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। अब तक गुजरात से 5 लाख 36 हजार लोग आए हैं। महाराष्ट्र से 192 ट्रेनों के माध्यम से 2 लाख 46 हजार, पंजाब से 1 लाख 80 हजार और दिल्ली से 47 ट्रेनों के माध्यम से 69 हजार लोगों को यूपी में लाया गया है।

उन्होंने बताया कि 100 ट्रेनों को प्रतिदिन यूपी के लिए चलाया जा रहा है। अब तक प्रदेश में 930 ट्रेन आ गई हैं। इन ट्रेनों से 12 लाख 33 हजार लोग आए हैं और 1200 ट्रेनों को प्रदेश में आने अनुमति दी गई है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss