5जी के प्रसार के लिए सरकार को उपभोक्ता की तरह काम करने की जरूरत : रिपोर्ट

बात जब भारत में 5जी अपनाने की आती है, तो इसके लिए सरकार की तरफ से एक उपभोक्ता के रूप में बड़ी भूमिका निभाने की जरूरत है, ताकि इसे सफल बनाया जा सकें। रिसर्च फर्म टेकएआरसी की रिपोर्ट में सोमवार को कहा गया है कि भारत में 5जी को शुरू करने के लिए सरकार को सक्रिय होकर एक ग्राहक के रूप में इसकी मांग पैदा करनी चाहिए। 

टेकएआरसी के संस्थापक और प्रमुख विश्लेषक फैसल कावूसा ने कहा, "5जी सेवाओं की मांग पैदा करने में सरकार की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस प्रौद्योगिकी को व्यवहार्य बनाने के लिए सरकार समेत विभिन्न संगठनों को इसका इस्तेमाल करना होगा।"

उन्होंने कहा, "सरकार की भूमिका प्रौद्योगिकी को सक्षम बनाने के लिए मांग पैदा करने में उतनी ही महत्वपूर्ण है, जितनी आम उपभोक्ताओं की।"

रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रामीण क्षेत्रों में 5जी का इस्तेमाल करने की जरूरत है, और 5जी ही ग्रामीण भारत को डिजिटल बना सकता है।

'मेक इन इंडिया' को स्मार्टफोन से बढ़कर अन्य डिवाइसों पर भी ध्यान देना चाहिए, क्योंकि 5जी के लिए डिवाइसों में स्मार्टफोन के अलावा भी कई डिवाइसें होंगी।

रिपोर्ट में कहा गया है, "सरकार को 5जी की बोली नहीं लगानी चाहिए। क्योंकि साल 2020 से पहले इस प्रौद्योगिकी का पारिस्थितिकी तंत्र ही तैयार नहीं हो पाएगा। उसके बाद ही इसके स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां आयोजित करनी चाहिए।"

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN