ट्विटर ने स्वीकारा, निजता का हनन कर भेजे जाते हैं लक्षित विज्ञापन
Wednesday, 09 October 2019 17:27

  • Print
  • Email

सैन फ्रांसिस्को: प्रौद्योगिकी कंपनी ट्विटर ने स्वीकार किया है कि उसके प्लेटफॉर्म पर टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन (2एफए) जैसी बेहतर सिक्योरिटी के लिए अपने ईमेल और फोन नंबर देने वाले यूजर्स को लक्षित विज्ञापन भेजे जाते हैं। माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने मंगलवार रात कहा, "निजी जानकारी का उपयोग अनजाने में विज्ञापन उद्देश्यों, विशेषकर हमारे टेलर्ड ऑडिएंसेस और पार्टनर ऑडिएंसेस विज्ञापन तंत्र में उपयोग होता रहा है।"

ट्विटर को यह नहीं पता कि उसके कितने यूजर्स इससे प्रभावित हुए हैं। साल 2019 की दूसरी तिमाही तक ट्विटर के औसतन 13.9 करोड़ मोनेटाइजेबल डेली एक्टिव यूजर्स (एमडीएयूज) हैं।

कंपनी ने कहा, "इसके लिए हम बहुत माफी मांगते हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाएंगे कि दोबारा ऐसी गलती न हो।"

ऑथेंटीकेशन प्रोसेस के दौरान टूएफए विज्ञापन सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत हैं जो हैकर्स को आपके अकाउंट्स को हैक करने से रोकता है।

कंपनी ने हालांकि दावा किया कि उसने अपने यूजर्स की निजी जानकारी को अपने साझेदारों या किसी अन्य थर्ड-पार्टी के साथ साझा नहीं किया है।

पिछले साल माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ने अपने 33.6 करोड़ यूजर्स से उनके अकाउंट का पासवर्ड बदलने के लिए कहा था।

हैकरों ने इसी साल अगस्त में ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी का अकाउंट हैक कर लिया था और कई आपत्तिजनक ट्वीट्स कर दिए थे।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss