लोगों को गालियां देकर धमकाने वाले भाजपा विधायक पर मामला दर्ज
Thursday, 11 July 2019 21:29

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: विवादास्पद भाजपा विधायक प्रणव सिंह चैंपियन के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है। चैंपियन सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में बंदूक घुमाकर उत्तराखंड के लोगों को गाली देते हुए दिख रहे हैं, जिसके बाद उन पर कार्रवाई की गई।

उत्तराखंड में काफी हचलच मचाने वाले इस वीडियो ने नई दिल्ली में भाजपा नेतृत्व को नाराज कर दिया है। सूत्रों ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के पार्टी प्रमुख अजय भट्ट को निर्देश दिया है कि वे चैंपियन के खिलाफ कार्रवाई शुरू करें।

सूत्रों के अनुसार चैंपियन भाजपा से निष्कासित हो सकते हैं। फिलहाल पार्टी की ओर से उन्हें निलंबित किया गया है।

मुकदमा दर्ज कराने वाले शिकायतकर्ता देहरादून निवासी पत्रकार गजेंद्र रावत ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि चैंपियन ने लोगों की भावनाओं को आहत किया है।

उन्होंने कहा, "उत्तराखंड के लोगों के खिलाफ घिनौने तरीके से दी गई गालियों ने हमें झकझोर दिया है। एक विधायक होने के नाते, चैंपियन को अपनी जुबान पर नियंत्रण रखना चाहिए। उन्होंने उस समय शालीनता की सभी हदें पार कर दीं, जब उन्होंने अपनी इन हरकतों का वीडियो भी बनाया, जोकि बाद में वायरल हो गया।" रावत ने कहा कि भाजपा विधायक के खिलाफ देहरादून के नेहरू पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

दरअसल, चैंपियन इससे पहले भी अपनी गलत हरकतों के कारण सुर्खियों में रहे हैं। उन्हें अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने और लोगों के साथ दुर्व्यवहार करने के लिए जाना जाता है। यहां तक कि विधानसभा और सचिवालय में भी कर्मचारी उनसे डरते हैं, क्योंकि उन्होंने कई मौकों पर अधीनस्थों को डराया है।

पूर्व कैबिनेट मंत्री और उत्तराखंड में चौथी बार विधायक चुने गए चैंपियन उत्तराखंड में गुर्जर राजाओं के एक शाही परिवार से आते हैं। हालांकि बाद में उन्होंने अभद्र भाषा का उपयोग करने के लिए माफी मांगी।

चैंपियन ने मीडियाकर्मियों से कहा, "मुझे गलत भाषा का उपयोग करने के लिए खेद है लेकिन आपको समझना चाहिए कि जब व्यक्ति नशे में होता है तो ऐसी चीजें होती हैं।"

एक ट्वीट में चैंपियन ने कहा कि 'पार्टी मां की तरह है, और मां मुझे माफ कर देगी'।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss