नामी बोर्डिंग स्कूल में 4 छात्राओं से रेप? बोलीं- रैंगिंग के नाम पर सीनियर्स ने किया बलात्कार

मसूरी के नामी बोर्डिंग स्कूल में सनसनीखेज घटना सामने आई है। यहां रैगिंग के बहाने सीनियर छात्रों पर चार छात्राओं के साथ बलात्कार का आरोप लगा है। घटना सामने आने के बाद हड़कंप मचा है। उत्तराखंड के बाल संरक्षण आयोग ने पुलिस और राज्य शिक्षा विभग को घटना को गंभीरता से लेते हुए सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।लड़कियों ने शिकायत में कहा है कि रैगिंग के बहाने सीनियर्स ने उनका यौन उत्पीड़न किया। आयोग ने संबंधित विभागों से 15 दिन के भीतर जांच कर रिपोर्ट मुहैया कराने को कहा है।

घटना छह मई को सामने आई, जब हाल में दाखिला लेने वाली चार लड़कियां स्कूल से चली गईं और उन्होंने इसके पीछे सीनियर छात्रों पर यौन शोषण का आरोप लगाया।अभिभावकों की ओर से की गई शिकायत में कहा गया है कि लड़कियों के नहाने के लिए बाथरूम में कोई दरवाजा नहीं है, सिर्फ परदा लगा है। यही नहीं सीनियर छात्रों ने कई बार रैगिंग के नाम छेड़खानी और रेप करते हैं।एक लड़की के स्थानीय अभिभावक ने आयोग से की शिकायत में कहा कि यौन उत्पीड़न के कारण एक लड़की आत्महत्या का विचार भी कर रही थी, उसने सुसाइड लेटर भी लिख रखा था।

शिकायतकर्ता ने कहा-लड़की ने अपनी डायरी में उन सभी घटनाओं का जिक्र किया, जो उसके साथ स्कूल में हुईं।हमारे पास शिकायत के संबंध में स्कूल प्रशासन से हुई बातचीत का ब्यौरा और रिकॉर्डिंग्स भी हैं, जरूरत पड़ने पर जांच अधिकारियों को इसे उपलब्ध कराया जाएगा।शिकायतकर्ता ने कहा कि ऐसी घटनाओं को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, इस मामले में तत्काल कार्रवाई की जरूरत है।उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अवर सचिव कामिनी गुप्ता ने कहा-मामले को हाइलाइट करना जरूरी है,क्योकि स्कूल बहुत ही प्रतिष्ठित है, जहां एनआरआइ परिवारों के बच्चे पढ़ते हैं।यह जरूरी है कि संबंधित विभागों की ओर से कमेटी गठित कर जांच की जाए, क्योंकि आरोप गंभीर हैं।

 

POPULAR ON IBN7.IN