उत्तर प्रदेश में एक महीने में पकड़े गए 25 हजार पियक्कड़, इस शहर के लोग शराब पीते हैं खुले में

उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने के मामले में पूरे प्रदेश में पिछले महीने 25 हजार से अधिक लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई. यह कार्रवाई पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह के निर्देश पर चलाए गए अभियान के तहत की गई. पुलिस महकमे ने यह जानकारी गुरुवार को दी.

अधिकारियों के मुताबिक, सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने के मामले में मेरठ पहले स्थान पर जबकि लखनऊ जोन दूसरे नंबर पर है. इसके मद्देनजर प्रदेशभर में 25,717 लोगों पर कार्रवाई की है, जिसमें से 13,452 सिर्फ मेरठ जोन के हैं. इसी तरह 50,181 लीटर शराब बरामद की गई है.

ज्ञात हो कि डीजीपी ने निदेष दिया था कि बाजार, विद्यालय, अस्पताल, प्रेक्षागृह, रेलवे स्टेशन, रेस्टोरेंट, सरकारी दतरों और बस स्टेशनों के आसपास शराब पीने वालों और अवैध तरीके से बिक्री करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. अधिकारियों ने बताया कि जून महीने में चलाए गए अभियान में खुलेआम शराब पीने वालों में मेरठ के बाद लखनऊ दूसरे स्थान पर है. यहां 3165 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. 

उन्होंने बताया कि इसी तरह कानपुर जोन में 2884, आगरा में 2646, गोरखपुर में 1639, वाराणसी जोन में 937, बरेली में 510 और इलाहाबाद में 484 लोगों पर पुलिस ने कार्रवाई की है. 

आईएएनएस