यूपीः लोगों को गरमा-गरम चाय पिलाते-पिलाते अचानक खरबपति बन गया यह चायवाला

हर इंसान का सपना होता है कि उसके बैंक अकाउंट में अरबों रुपये जमा हों। इन रुपयों के बूते वह दुनिया के हर ऐशो—आराम का आनंद ले सके। ये खुशी यूपी के हरदोई जिले के एक निम्न मध्यमवर्गीय चाय वाले को भी मिली। देखते ही देखते वह खरबपति बन चुका था। लेकिन ये खुशी बहुत ज्यादा देर तक नहीं रही। सिर्फ आधे घंटे बाद ही उसके खाते से बैलेंस निकाल लिया गया। असल में ये बैंक की गलती के कारण हुआ था। बैंक के कर्मचारियों ने डाटा ​फीडिंग में गलती की थी। जिसकी वजह से चाय वाला भी अमीर होने की खुशी को पूरे आधे घंटे तक महसूस करता रहा।

दरअसल, यूपी के हरदोई जिले के प्राइवेट रोडवेज बस अड्डे पर पिंटू की चाय की दुकान है। पिंटू शहर के अशरफ टोला में रहते हैं। पिंटू ने मंगलवार (22 मई) को इलाहाबाद बैंक में अपने खाते से रुपया निकाला था। जिसका मैसेज उनके मोबाइल पर आया। मैसेज देखते ही पिंटू की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उनके खाते का बैलेंस 148 खरब, 85 अरब और 53 करोड़ हो चुका था। पिंटू ने इस मैसेज को कई ​लोगों को दिखाया। पिंटू ने सोचा था कि अगर ये पैसे उसके खाते में बने रहे तो वह इनसे एक अच्छा घर खरीदेगा। उसने एक बेहतरीन रेस्टोरेंट बनाने की भी प्लानिंग शुरू कर दी थी। लेकिन सपनों ने पिंटू का साथ महज आधे घंटे में छोड़ दिया।

लेकिन बैंक कर्मचारियों को जल्दी ही अपनी गलती का अहसास हो गया। जब खजाने में रुपये की गड़बड़ी दिखी तो बैंक कर्मियों ने खोजबीन शुरू कर दी। उन्होंने करीब 30 मिनट बाद ही पिंटू के खाते में डाली गई सारी धनराशि वापस ले ली। इसके बाद जो मैसेज उसके पास आया, उसमें खाते में सिर्फ 1789 रुपये ही बाकी रह गए। पिंटू की सारी खुशियां और सारे अरमान सेकेंड भर में काफूर हो गए थे। इस मामले और गफलत पर इलाहाबाद बैंक के जिला प्रबंधक बीएन शुक्ला ने बताया कि कई बार डाटा फीडिंग के दौरान ऐसी गलतियां कर्मचारियों से होती हैं। गलती का एहसास होते ही उसे सुधार लिया गया। ग्राहकों का पैसा पूरी तरह सुरक्षित है।

POPULAR ON IBN7.IN