श्री श्री रविशंकर को एक और झटका, नृत्‍य गोपाल दास बोले- मुलाकात हुई पर अयोध्‍या मसले पर नहीं हुई बात

लखनऊ: अयोध्‍या में श्री श्री रविशंकर ने गुरुवार को राम जन्‍मभूमि न्‍यास के अध्‍यक्ष नृत्‍य गोपाल दास से मुलाकात की. इस दौरान दोनों के बीच करीब करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई. इस मीटिंग के बाद दास ने कहा कि श्री श्री हमारे प्रेम में मिलने मिलने के लिए आए थे और अयोध्‍या मसले पर कोई बात नहीं हुई. इससे पहले विश्‍व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने श्री श्री की समझौता वार्ता में शामिल होने से इनकार किया. 

श्री श्री रविशंकर की कोशिशों को एक और झटका लगा है. गुरुवार दोपहर मणि रामदास जी की छावनी में श्री श्री रविशंकर और नृत्‍य गोपाल दास के बीच मीटिंग का इंतजाम किया गया. नृत्‍यगोपाल दास के साथ उनके उत्‍तराधिकारी कमल नयैन दास, निरमोही अखांडे सरपंच महंत राम दास समेत करीब दो दर्जन साधू संत मौजूद थे. आधे घंटे चली मीटिंग के बाद श्री श्री रविशंकर ने मीडिया से कहा, वो इस मसले का सौहार्दपूर्ण हल चाहते हैं. मुकदमा चलने से एक पक्ष जीतेगा और दूसरा पक्ष हारेगा, लेकिन सुलाह होने से सभी की जीत होगी और देश की जीत होगा. 

उन्‍होंने कहा कि ये काम बहुत कठिन है. मुझे थोड़ा समय दीजिए तीन महीने या छह महीने में जरूर कोई हल निकलेगा. श्री श्री रविशंकर के मीटिंग से जाने के बाद नृत्‍य गोपाल दास ने साफ इनकार किया कि अयोध्‍या मसले पर कोई बात हुई है. उन्‍होंने कहा कि वह हमसे मिलने के लिए आए थे. 

आपको बता दें कि गुरुवार को इससे पहले विश्‍व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने श्री श्री की समझौता वार्ता में शामिल होने से इनकार कर दिया. वीएचपी के प्रवक्‍ता शरद शर्मा ने कहा है कि वह श्री श्री की समझौता वार्ता में शामिल नहीं होंगे.