विकास का मतलब कंक्रीट का जंगल खड़ा करना नहीं : योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को उप्र की पूर्ववर्ती सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विकास का मतलब सिर्फ कंक्रीट का जंगल खड़ा करना नहीं होता। वन्य प्राणी सप्ताह के अवसर पर शनिवार को लखनऊ जू में आयोजित एक कार्यक्रम में योगी ने कहा, "भारत के अंदर अवतारों की परंपरा को देखें तो समझ में आता है कि पर्यावरण और मनुष्य के बीच समन्वय जरूरी है। जिस क्षेत्र में प्राणी उद्यान है, वहां छात्रों को जरूर लाया जाना चाहिए, ताकि बच्चे जीव-जंतुओं को करीब से देखें, समझें। मनुष्य को केवल अपनी सुख-सुविधा के लिए जंगल और जीव-जंतुओं को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राणी उद्यान के अलबम को सार्वजनिक स्थानों और सरकारी कार्यालयों व स्टेशनों में लगाएं, जिसे देखकर लोग यहां आएंगे।

कार्यक्रम के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा, "कोई भी जीव-जंतु मनुष्य को नुकसान नहीं पहुंचाता, जब तक उसे खुद खतरा न लगे। इस तरह के आयोजनों के जरिए हम वन्य प्राणियों के और नजदीक आएंगे।"

वन विभाग को निर्देश देते हुए योगी ने कहा कि आपके पास अपार संभावनाएं हैं। इसका फायदा उठाते हुए प्रदेश का नाम देश और दुनिया में मजबूत करें।