रायबरेली : प्रियंका गांधी ने कांग्रेस विधायक अदिति सिंह से मुलाकात की
Wednesday, 15 May 2019 18:28

  • Print
  • Email

रायबरेली: रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह पर कथित हमले के एक दिन बाद बुधवार को कांग्रेस महासचिव व पूर्वी उप्र की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने विधायक से यहां मुलाकात की, और उन्होंने कहा कि सत्ताधारी गुंडे लोकतंत्र को चोटिल कर रहे हैं।

प्रियंका ने यहां पार्टी मुख्यालय में विधायक अदिति सिंह से मुलाकात की, और उनसे घटना के बारे में विस्तार से बातचीत की। विधायक अदिति सिंह ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह ने उनपर जानलेवा हमला कराया।

प्रियंका ने यहां पत्रकारों से कहा, "सत्ताधारी गुंडों ने जो कुछ किया, उससे लोकतंत्र को चोट पहुंची है। हमने तीन दिन पहले ही प्रशासन से कहा था कि जिला पंचायत के अविश्वास प्रस्ताव में सबकुछ पारदर्शी हो, लेकिन अफसरों ने नाइंसाफी की। हम उन्हें छोड़ने वाले नहीं हैं। रायबरेली में गुंडों के लिए कोई जगह नहीं है।"

उन्होंने कहा, "हम इस मामले में चुनाव अयोग से अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे। जरूरत पड़ी तो कानून के अन्य रास्ते भी हैं।"

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि "डरने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, और अब यह लड़ाई आपकी नहीं, हमारी है।"

प्रियंका ने कहा कि जिस तरह जिला पंचायत सदस्यों को वाहनों से खींच-खींचकर मारा-पीटा गया, आखिर यह कैसा लोकतंत्र है।

उन्होंने एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह पर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस का कोई भी कार्यकर्ता अगर दिनेश से संबंध रखेगा तो उसे तत्काल पार्टी से बाहर कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव से पहले मंगलवार को जमकर बवाल हुआ था। मारपीट, फायरिंग और अपहरण की घटनाएं हुईं। इस दौरान अविश्वास प्रस्ताव की अगुआई करने वाले जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी गंभीर रूप से घायल हो गए।

उसके बाद रायबरेली-लखनऊ राजमार्ग पर मंगलवार को कथित तौर पर अदिति सिंह पर हमला किया गया, जिसमें उनकी कार पलट गई और उन्हें चोटें आईं।

बाद में जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी ने एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह सहित छह लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने अराजकता को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है, जबकि एमएलसी दिनेश सिंह ने आरोपों को सिरे से नकार दिया है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.