50 करोड़ दो, 72 घंटे में मरवा दूंगा मोदी को; जाम छलकाते BSF से बर्खास्त तेज बहादुर का Video Viral
Tuesday, 07 May 2019 11:35

  • Print
  • Email

वाराणसी: पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनौती देने की तैयारी में लगे बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर का नया कारनामा समाने आया है। कुछ तकनीकी कारणों से मोदी के सामने समाजवादी पार्टी प्रत्याशी बनने से रह गए BSF से बर्खास्त तेज बहादुर यादव का इन दिनों दो वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

एक वायरल वीडियो में बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर यादव अपने साथियों के साथ शराब पीते नजर आ रहा है। दूसरे वायरल वीडियो में तेज बहादुर यादव व उसके साथी 50 करोड़ रुपये मिलने पर पीएम नरेंद्र मोदी को 72 घंटे के अंदर मारने की बात कह रहे हैं।

वीडियो के वायरल होते ही समाजवादी पार्टी तेज बहादुर के बचाव में उतर आई तो दूसरी तरफ बर्खास्त फौजी तेज बहादुर ने शराब पीने की बात तो स्वीकार की लेकिन पचास करोड़ में पीएम मोदी को जान से मारने के मामले को साजिश करार दिया। 

तेज बहादुर ने बताया कि वीडियो दिल्ली पुलिस के सिपाही पंकज शर्मा ने वायरल किया है और वीडियो भी उन्हीं के घर का है, अब ये इतनी नीचता पर उतर आए हैं, किसी का सहयोग करो वही पीठ में छुरा भोंक रहे हैं। दूसरे मनोहर लाल हैं, जिनके बुरे समय में मैंने मदद की, आज ये हमें ब्लैकमेल करना चाह रहे हैं। तेज बहादुर ने कहा कि जितने वीडियो बनाना है बना लो हमें किसी का डर नहीं है, क्योंकि हम अपनी जगह सही हैं। 

तेज बहादुर ने पहले तो कहा कि दो साल पुराना वीडियो है जो उसके ही दगाबाज मित्रों ने चुपके से शूट किया था फिर दावा किया कि यह भाजपा की आइटी सेल की करतूत है। वीडियो में एडिटिंग की गई है। इसकी शिकायत दर्ज कराने के साथ ही जांच कराएंगे कि ऐसा किसने किया है। तेज बहादुर ने कहा कि निजी पलों से जुड़ा दो साल पुराने वीडियो को प्रचारित करना विरोधियों की हताशा दर्शा रहा है।

चुनाव का दौर है, अभी विरोधियों की ओर से और भी वीडियो वायरल किए जा सकते हैं। सपा गठबंधन की ओर से तेजबहादुर ने पार्टी सिंबल पर नामांकन किया था। तेज बहादुर को बीएसएफ से बर्खास्तगी क्लॉज को लेकर नोटिस दी गई और बाद में पर्चा खारिज हो गया था। इसके बाद से वे सपा की ओर से पार्टी प्रत्याशी शालिनी यादव का प्रचार कर रहे हैं।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.