आजम खां के विधायक बेटे अब्दुला फिर हिरासत में
Friday, 02 August 2019 07:24

  • Print
  • Email

रामपुर: समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खां के बेटे और सपा विधायक अब्दुल्ला आजम को पुलिस ने गुरुवार को फिर हिरासत में ले लिया। उन पर धारा 144 का उल्लंघन कर जुलूस निकालने का आरोप लगाया गया है। 

जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि रामपुर में धारा 144 लागू है। विधायक अब्दुल्ला ने उसका उल्लंघन किया है। अब्दुल्ला 150 से 200 लोगों को साथ लेकर जा रहे थे। जबकि पुलिस ने उनको समझाया था कि यहां धारा 144 लागू है। उनके न रुकने पर पुलिस ने कार्रवाई की। अब्दुल्ला को फिलहाल अस्थायी जेल में रखा गया है।

अब्दुल्ला को इससे पहले, बुधवार को गिरफ्तार किया गया था। यहां के जौहर यूनिवर्सिटी में तलाशी अभियान चला रही पुलिस ने शांति भंग करने के आरोप में अब्दुल्ला को छह घंटे पुलिस लाइन में रखने के बाद शाम को निजी मुचलके पर छोड़ दिया था।

अब्दुल्ला आजम को गुरुवार को फिर हिरासत में लिए जाने के बाद उन्हें समर्थकों के साथ पुलिस लाइन में रखा गया। इसके बाद उनके तमाम समर्थकों को खेमपुर भेजा गया। पहले उन्हें अस्थायी जेल में भेजने की योजना बनी थी, जो बदल गई। गिरफ्तारी देने वाले समर्थकों ने अब्दुल्ला के समर्थन में और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

सांसद आजम खां पर हुई प्रशासनिक कार्रवाई के विरोध में रामपुर जा रहे पूर्व मंत्री और विधायक महबूब अली को भी गिरफ्तार कर लिया गया। महबूब अली अमरोहा से रामपुर जा रहे थे। इस दौरान विधायक महबूब के साथ पुलिस की धक्का-मुक्की भी हुई।

इससे पहले सपा के पूर्व सांसद धर्मेद्र यादव को मुरादाबाद में टोल प्लाजा के पास समर्थकों के साथ गिरफ्तार किया गया। साथ ही सपा विधायक पिंकी यादव और पूर्व विधायक समरपाल यादव को भी टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया।

दरअसल, आजम खां के खिलाफ रामपुर के जिला व पुलिस प्रशासन की कार्रवाई का विरोध करने के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नेताओं और कार्यकर्ताओं को रामपुर कूच करने का निर्देश दिया था। उन्होंने बदायूं, संभल, मुरादाबाद, अमरोहा, पीलीभीत, बरेली व बिजनौर के सपा कार्यकर्ताओं को रामपुर पहुंचने का निर्देश दिया।

सपा के शक्ति प्रदर्शन को लेकर रामपुर पुलिस अलर्ट रही। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात रहे।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss