उप्र : मुकदमा दर्ज होने पर विहिप, सपा में उबाल
Monday, 22 July 2019 07:08

  • Print
  • Email

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा शहर में मीट की कथित अवैध दुकानों को हटाए जाने को लेकर शुक्रवार को हुए बवाल में पुलिस द्वारा विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और समुदाय विशेष (मुस्लिम) के लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने से दोनों पक्षों में उबाल आ गया है। विहिप जहां पुलिस पर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगा रही है, वहीं समाजवादी पार्टी (सपा) इसे पीड़ितों का उत्पीड़न बता रही है।

नगर पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) आलोक मिश्रा ने बताया, "शुक्रवार को विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कुछ कार्यकतार्ओं के बांदा शहर में मीट की दुकानें जबरन बन्द कराने का विरोध कर हाथीखाना मुहल्ले के कुछ मुस्लिम वर्ग के लोग सड़क पर उतर आये थे।"

उन्होंने बताया कि इस मामले में विहिप के दस कार्यकतार्ओं और मुस्लिम वर्ग के छह लोगों को नामजद करते हुए दोनों पक्षों के करीब चालीस अज्ञात लोगों के खिलाफ एक पुलिस अधिकारी की तहरीर पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल अभी किसी गिरफ्तारी नहीं हुई।

पुलिस की इस कार्रवाई पर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और समाजवादी पार्टी (सपा) ने अलग-अलग विरोध जताया है।

विहिप के जिलाध्यक्ष चंद्रमोहन बेदी ने कहा, "विहिप कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ जाकर मीट की अवैध दुकानें बंद करवाई थीं। अगर ऐसा करना गैर कानूनी है तो साथ चल रहे पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए। पुलिस मुस्लिम तुष्टीकरण करने में जुटी हुई है, जिसे हिंदूवादी संगठन बर्दाश्त नहीं करेंगे।"

वहीं, समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष शमीम बांदवी और सपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद विशंभर प्रसाद निषाद की अगुआई में सपा नेताओं के एक प्रतिनिधि मंडल ने शनिवार को डीआईजी बांदा से भेंट कर आरोप लगाया कि 'पुलिस की मौजूदगी में हिन्दू संगठनों के कथित कार्यकर्ताओं ने मुस्लिमों को आतंकित करने का कुत्सित प्रयास किया है, इससे कुछ देर के लिए शहर का अमनचैन खराब हुआ था। अब पुलिस पीड़ितों को भी मुल्जिम बनाकर उत्पीड़न कर रही है।

उन्होंने कहा कि 'सबसे पहले उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो, जिनकी मौजूदगी में विहिप कार्यकर्ताओं ने हाथीखाना बस्ती का माहौल खराब करने का काम किया है।'

सपा सांसद विशंभर प्रसाद निषाद ने कहा कि 'अगर किसी निर्दोष की गिरफ्तारी होती है तो सपा बड़ा आंदोलन करेगी।'

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss