बिप्लब देब आज लेंगे त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ

अगरतला में असम राइफल्स मैदान में बिप्लब देब आज त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे. इसी के साथ पूर्वोत्तर राज्य में भाजपा की पहली सरकार का आगाज होगा. 48 वर्षीय देब ने छह मार्च को राज्यपाल तथागत राय से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. इसके बाद राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए उन्हें आमंत्रित किया. भाजपा- इंडीजीनियस पीपल्स पार्टी ऑफ त्रिपुरा( आईपीएफटी) गठबंधन ने पिछले हफ्ते आए चुनाव परिणामों में जीत दर्ज की और 25 बरस के माकपा नीत वाम शासन को उखाड़ फेंका. भाजपा ने 35 सीटें जीतीं, जबकि आईपीएफटी के आठ सदस्य विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए. राज्य में 60 सदस्यीय विधानसभा है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने छह मार्च को ऐलान किया था कि जिशनू देबबर्माराज्य के उपमुख्यमंत्री होंगे. देबबर्मा की सीट पर चुनाव स्थगित हो गया था। वह चारिलम( अनुसूचित जनजाति) सीट सेचुनाव लड़ रहे थे और इस सीट पर माकपा प्रत्याशी की मौत की वजह से चुनाव नहीं हुआ. इस सीट पर अब 12 मार्च को चुनाव होगा. 
10 बड़ी बातें
  1. त्रिपुरा में आज  शपथ ग्रहण समारोह में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, पूर्वोत्तर क्षेत्र में भाजपा शासित तीन राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद रहेंगे. 
  2. भाजपा शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और भाजपा के संसदीय बोर्ड के सदस्यों को शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने के लिए आमंत्रित किया गया है. 
  3. आईपीएफटी के अध्यक्ष एनसी देबबर्मा ने बताया कि पार्टी को नए मंत्रिमंडल में दो सीटें मिलेंगी. इस बाबत फैसला भाजपा नेता और पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन( एनईडीए) के प्रमुख हेमंत बिस्वा शर्मा के साथ बैठक में लिया गया. 
  4. त्रिपुरा  के मुख्यमंत्री पद के लिए नामित बिप्लब कुमार देब ने वादा किया कि वह राज्य में रह रहे मणिपुरी लोगों की सभी समस्याओं के समाधान पर पूरा ध्यान देंगे. मणिपुर के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा, "मणिपुर के साथ त्रिपुरा के विशेष सौहार्दपूर्ण संबंध रहे हैं.'
  5. उन्होंने कहा, "मणिपुर की तीन रानियों ने त्रिपुरा के राजकुमारों के साथ विवाह किया था. सरकार को राज्य में रह रहे मणिपुरी लोगों की जरूरत पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है."
  6. वहीं देश के सबसे गरीब मुख्यमंत्री के रूप में पहचाने जाने वाले त्रिपुरा के निवर्तमान सीएम माणिक सरकार अब सरकारी आवास छोड़कर अब सीपीएम के राज्य कार्यालय में रहेंगे. 
  7. बीजेपी के वरिष्ठ नेता राम माधव ने त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री मानिक सरकार की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि आज के नेताओं को मानिक सरकार से कुछ सीखना चाहिए.
  8. माधव ने सरकार के व्यवहार की भी तारीफ की. गौरतलब है कि राम माधव ने यह बात सीपीआईएम के दफ्तर में कही. वह वहां मानिक सरकार को शुक्रवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में आने के लिए आमंत्रित करने आए थे.
  9. बात करें त्रिपुर के नए मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब की तो  25 नवंबर 1969 को त्रिपुरा के गोमती जिले के राजधर नगर गांव में मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे के पिता हराधन देब जनसंघ के स्थानीय नेता थे.
  10. 2014 में बनारस में लोकसभा चुनाव की पीएम मोदी की कैंपेनिंग को मैनेज करने का श्रेय भी बिप्लब देब के नाम जाता है. इसके बाद ही बिप्लब देब त्रिपुरा भेजे गए थे.


POPULAR ON IBN7.IN