राजस्थान भ्रमित कांग्रेस पर विश्वास नहीं कर सकती : मोदी

राजस्थान में अपने चुनावी अभियान को समाप्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि राज्य में मतदाता कांग्रेस पर विश्वास नहीं कर सकते जोकि एक 'भ्रमित' पार्टी है जिसका 'न तो कोई मजबूत नेतृत्व है और जिसके पास ना ही कोई नीति' है। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपनी चार पीढ़ियों के कार्यकाल में जनजातियों के बारे में नहीं सोचा, क्योंकि पार्टी 'परिवार से परे' कुछ नहीं देख सकती।

मोदी ने कहा, "एक मजबूत नेतृत्व को कम से कम एक छोटे नगरपालिका को चलाने की जरूरत होती है। कांग्रेस के पास न तो मजबूत नेतृत्व है और न ही नीयत है। क्या हम अपनी राजस्थान सरकार को ऐसी भ्रमित पार्टी को सौंप सकते हैं?"

उन्होंने कहा कि मजबूत नेतृत्व का मतलब होता है, 'जिसके पास अनुभव हो, जिसकी सोच स्पष्ट हो, जो संवेदनशील हो और लोगों के हित में मजबूत फैसले ले सके।'

मोदी ने कहा कि जनजातीय मामलों के लिए एक अलग से मंत्रालय का गठन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के कार्यकाल में किया गया।

उन्होंने कहा, "कांग्रेस में परिवार के बाहर कुछ है क्या? उनके लिए उनका परिवार ही सबकुछ है, मेरे लिए 125 करोड़ भारतीय मेरे परिवार हैं।"

--आईएएनएस