नशे की लत से मर रहे युवा, ड्रग्स के लिए जिस्म भी बेच दिया

पंजाब में नशे की लत युवाओं की जान पर भारी पड़ रही है। बता दें कि पिछले 2 दिनों में ही पंजाब में 4 युवाओं की नशे की ओवरडोज के चलते मौत की खबर सामने आयी है। न्यूज 18 की एक खबर के अनुसार, पहली घटना में अमृतसर के छेहारता के एक घर में 2 युवा मृत पाए गए। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दोनों की मौत चिट्टा (सिंथेटिक ड्रग्स, जिसमें हिरोईन और एलएसडी शामिल होते हैं) की ओवरडोज के कारण हुई थी। दूसरे मामले में रविवार को अमृतसर के वेरका में एक युवक रेल लाइन पर मृत पाया गया था। बताया जा रहा है कि युवक की मौत भी ड्रग्स की ओवरडोज के कारण ही हुई थी। इसी तरह एक तीसरे मामले में लुधियाना के रहने वाले 25 वर्षीय युवक की मौत भी ड्रग्स की ओवरडोज के कारण होने की बात सामने आ रही है।

परिवार ने लगाया बहु पर ड्रग्स देने का आरोपः लुधियाना में रहने वाले युवक के परिजनों का आरोप है कि उनकी बहू ने उनके बेटे को ड्रग्स दिया था। परिजनों का कहना है कि उनके बेटे की शादी साल 2013 में हुई थी। शादी के बाद उऩ्हें पता चला कि उनकी बहू एक प्रोफेशनल डांसर है, जब उन्होंने उसके डांस करने पर रोक लगायी तो उनकी बहू ने बेटे को ड्रग्स के इंजेक्शन देने शुरु कर दिए, ताकि वह डांस शो में जा सके। इस बात की जानकारी हमें हाल ही में हुई है। जब हमने इसका विरोध किया तो वह अपने 4 साल के बेटे के साथ घर छोड़कर चली गई। फिलहाल पुलिस ने मृतक के परिजनों की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

महिला ने बेचा जिस्मः ऐसे ही एक अन्य मामले में अपनी नशे की लत पूरा करने के लिए महिला द्वारा जिस्मफरोशी करने की खबर सामने आयी है। बताया जा रहा है कि 32 वर्षीय इस महिला के पति की कुछ साल पहले मौत हो चुकी है। जिसके बाद महिला और उसके 2 बच्चे आर्थिक संकट से घिर गए। धीरे-धीरे महिला ने खर्चे चलाने के लिए घर का सामान बेचना शुरु किया और उसके बाद अपना घर घंटे के हिसाब से ड्रग्स एडिक्ट लोगों को किराए पर देना शुरु कर दिया। इसी बीच महिला खुद भी ड्रग्स की चपेट में आ गई। हालात यहां तक खराब हो गए कि महिला को खर्चे चलाने और अपनी ड्रग्स की लत पूरा करने के लिए जिस्म फरोशी भी करनी पड़ी। एक एनजीओ सिटीजन सेवा सोसाइटी को महिला के हालात की जानकारी हुई, जिसके बाद एनजीओ ने महिला को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उसका इलाज चल रहा है। वहीं महिला के बच्चों को बाल आश्रम में भेज दिया गया है। पंजाब के युवाओं में नशे की बढ़ती लत से परेशान परिजनों ने सरकार से तुरंत प्रभाव से नशे के इस कारोबार पर रोक लगाने की मांग की है।