दहेज मामले में ओडिशा के पूर्व मंत्री व पत्नी को जमानत

दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित करने के मामले में गिरफ्तार ओडिशा के पूर्व कानून मंत्री रघुनाथ मोहंती तथा उनकी पत्नी प्रीतिलता को मंगलवार को जमानत मिल गई। तीन दिन पहले ही उन्हें गिरफ्तार किया गया था। पूर्व मंत्री व उनकी पत्नी के वकील गौरी कुमार बारिक ने आईएएनएस से कहा कि बालासोर में सब-डिवीजनल ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट ने इस शर्त पर उनके मुवक्किलों को जमानत दी कि वे अदालत की अनुमति के बगैर राज्य से बाहर नहीं जाएंगे।

मोहंती और उनकी पत्नी को 30 मार्च को कोलकाता से गिरफ्तार किया गया था। इसी मामले में उनके 28 वर्षीय बेटे राजा श्री मोहंती को 17 मार्च को ही गिरफ्तार किया गया था।

रघुनाथ मोहंती (64) बालासोर जिले के बस्ता विधानसभा क्षेत्र से पांच बार विधायक रह चुके हैं। बहू की ओर से दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कराए जाने के बाद उन्होंने 15 मार्च को राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था।

बालासोर के पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत में बरसा स्वोनी चौधरी ने कहा कि जून 2012 में शादी के बाद से ही पति राजा श्री ने उन्हें शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

बरसा ने यह भी आरोप लगाया कि उनके श्वसुर रघुनाथ, सास प्रीतिलता, ननद रूपाश्री तथा परिवार के अन्य सदस्य भी इसमें शामिल रहे।

उनका दावा है कि ससुराल पक्ष की मांग पर उनके माता-पिता ने शादी के वक्त 10 लाख रुपये दिए थे, लेकिन उनके पति व ससुराल वाले इससे खुश नहीं थे। वे उनके अभिभावकों पर 25 लाख रुपये तथा उन्हें मल्टी-युटिलिटी कार देने का दबाव बना रहे थे।

बारीक ने कहा कि राजा श्री की जमानत याचिका पर सुनवाई बुधवार को होगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।