बाइक चोरी करने के लिए अनोखी 'मास्टर की' का इस्तेमाल करता था आरोपी

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के एक ऐसे सदस्य को गिरफ्तार किया है जो बाइकें चुराने के लिए अलग किस्म की 'मास्टर की' का इस्तेमाल करता था. यह मास्टर की पीतल की बनी थी और किसी भी बाइक के लॉक को महज कुछ सेकेंड में ही तोड़ देती थी. पुलिस को आरोपी के पास से दो 'मास्टर की' भी मिली हैं. दोनों ही चाभियां दिखने में पिस्तौल की तरह है. पुलिस के अनुसार छोटी चाभी ढाई इंच और बड़ी चाभी साढ़े तीन इंच की है. गिरफ्तार आरोपी की पहचान मोंटी के रूप में की गई है. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी मोंटी ने इन्हीं चाभियों की मदद से दिल्ली में कुल 42 वारदातों को अंजाम दिया है.

दक्षिणी दिल्ली जिले के डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि आरोपी ने दोनों चाभियां अलीगढ़ से बनवाई थी. चाभी को शुद्ध पीतल से बनवाया गया था. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि पीतल जोर देने के बाद मुड़ता कम है. बानिया ने बताया कि आरोपी मोंटी ने पिस्तौल की तरह दिखने वाली चाभी इसलिए बनवाई थी क्योंकि उसे ऐसे चाभी रखने का शौख था. उन्होंने बताया कि पिस्तौल की तरह दिखने वाली चाभी से कई बार किसी गाड़ी का लॉकर तोड़ने के समय चाभी पर ग्रिप अच्छी बनती है. 

गौरतलब है कि आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पहली बार पुलिसकर्मी भी ऐसी चाभी देखकर आश्चर्यचकित हो गए थे. उन्होंने भी पहले कभी बाइक चोरी करने के लिए ऐसी चाभियों का इस्तेमाल करते किसी को नहीं देखा था. आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह किसी भी बाइक का लॉक महज कुछ सेकेंड्स मे ही तोड़ देता था.

पुलिस ने आरोपी से थाने में ही कुछ बाइक का लॉक तोड़ने का डेमो भी कराया. वहां भी आरोपी ने महज कुछ सेकेंड में ही बाइक का लॉक तोड़ दिया.