शिवराज के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हो : कांग्रेस

मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा रविवार को शुरू किए गए 'समृद्ध मप्र अभियान' पर कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत की है। इस शिकायत में इस अभियान को राज्य सरकार द्वारा 24 दिन पूर्व शुरू किया गया अभियान बताते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की मांग की है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भाजपा पर मप्र सरकार द्वारा 24 दिन पूर्व चलाए गए 'समृद्ध मप्र अभियान' को अपना बताकर शुरू करने का आरोप लगाया है। सिंह ने निर्वाचन आयोग से मांग की है कि वे तत्काल इस अभियान पर न केवल रोक लगाएं, बल्कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा सरकार के साथ धोखाधड़ी कर सरकारी योजनाओं को षड्यंत्रपूर्वक भाजपा के नाम करने पर प्रकरण दर्ज करें।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सबसे गंभीर यह है कि जिस सरकार ने इस अभियान के लिए करोड़ों रुपये विज्ञापन में खर्च किए, उसी सरकार के मुखिया ने अमानत में खयानत करके यह अभियान भाजपा की तरफ से शुरू किया। इस पर उनके खिलाफ आपराधिक मामला भी दर्ज किया जाना चाहिए और उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को लिखे पत्र में नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि मप्र सरकार ने छह अक्टूबर 2018 को आचार संहिता लगने के पूर्व 27, 28, 30 सितंबर और एक से पांच अक्टूबर तक लगातार विज्ञापन जारी किए हैं। यह विज्ञापन यूचर एम़ पी़ टास्क फोर्स द्वारा "आइडिया में हो दम तो पूरा करेंगे हम" शीर्षक से जारी हुआ है। यह विज्ञापन जन संपर्क संचालनालय द्वारा जारी किया गया है। विज्ञापन की भाषा डिजाइन लगभग वही है। 

उन्होंने कहा कि सरकारी विज्ञापन और भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी किए गए विज्ञापन में सिर्फ एक ही फर्क है कि सरकारी विज्ञापन में जो फोन नंबर दिया गया है वह 8000 305 305 है और भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी विज्ञापन में यह नंबर बदलकर 730 44 730 44 कर दिया गया है।

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN