नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव किस सीट से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे इसका फैसला हो गया है. समाजवादी पार्टी ने जो नई लिस्ट जारी की है, उसके मुताबिक अखिलेश यादव आजमगढ़ से चुनाव लड़गें और वहीं आजम खान रामपुर से चुनाव लड़ेंगे. इससे पहले खबरें थीं कि समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अगला लोकसभा चुनाव अपनी पत्नी की सीट कन्नौज से लड़ सकते हैं. मगर अब समाजवादी पार्टी ने ऐसी खबरों पर से विराम लगा दिया है और अब यह तय हो गया है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव आजमगढ़ से ही चुनाव लड़ेंगे.

समाजवादी पार्टी ने लोकसभा  चुनाव में जीत का परचम लहराने के लिए अपने स्टार प्रचारकों की टीम का भी ऐलान कर दिया है. समाजवादी पार्टी ने अपने स्टार कैंपेनर्स की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में अखिलेश यादव, राम गोपाल यादव, आजम खान, डिंपल यादव और जया बच्चन समेता कईओं के नाम हैं. हैरान करने वाली बात है कि इस लिस्ट में मुलायम सिंह यादव का नाम नहीं है. स्टार प्रचारकों की लिस्ट में 40 नेताओं के नाम हैं.

 

लखनऊ/इटावा: होली के अवसर पर समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के परिवार के कई रंग देखने को मिले। होली समारोह के दौरान शिवपाल और अखिलेश अलग-अलग बने मंच पर अपने समर्थकों के बीच पहुंचे। मुलायम सिंह का आशीर्वाद लेकर निकले शिवपाल सिंह यादव ने देश व प्रदेश के लोगों को होली की बधाई देते हुए कहा, "मैंने कांग्रेस समेत गठबंधन के दलों से साथ चुनाव लड़ने के लिए मनाने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने मुझे शामिल नहीं किया। इसलिए मैंने पीस पार्टी और दूसरे छोटे दलों के साथ गठबंधन किया है।"

इस मौके पर उनके पुत्र आदित्य यादव भी मौजूद रहे। हालांकि मुलायम परिवार का कोई और सदस्य शिवपाल के होली कार्यक्रम में शामिल नहीं हुआ, जबकि अखिलेश यादव के साथ होली मनाने सांसद धर्मेद्र यादव, तेज प्रताप सिंह यादव सहित परिवार के अन्य सदस्य भी पहुंचे थे।

--आईएएनएस

लखनऊ/इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव रामगोपाल यादव ने गुरुवार को पुलवामा हमले को लेकर केंद्र सरकार पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने इसे 'साजिश' करार दिया दिया और कहा कि वह अभी खोलकर नहीं कहना चाहते, क्योंकि उसका फायदा नहीं है। सरकार की नीयत ठीक नहीं है। जब सरकार बदलेगी, तब जांच होगी कि यह कैसे होने दिया गया। जांच में बड़े-बड़े लोग फंसेंगे। रामगोपाल ने इटावा में आयोजित कार्यक्रम में कहा, "सरकार से अर्धसैनिक बल दुखी है। वोट के लिए 45 जवान मार दिए गए। जम्मू-श्रीनगर के बीच रास्ते में वाहनों की चेकिंग नहीं हुई। क्यों नहीं हुई? इतनी भारी मात्रा में आरडीएक्स क्यों जाने दिया गया? जवानों को साधारण बस में भेज दिया गया, ये गहरी साजिश थी।"

वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सैफई में कार्यकर्ताओं के साथ होली मनाने पहुंचे। अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन में फिरोजाबाद की सीट जीतने के लिए कड़ी मेहनत करने पर जोर दिया। इस मौके पर सांसद धर्मेद्र यादव, सांसद तेज प्रताप यादव सहित सैकड़ों नेता सैफई में मौजूद रहे।

--आईएएनएस

Published in देश

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबन्धन में शामिल राष्ट्रीय लोकदल(रालोद) ने मंगलवार को अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी। रालोद अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह मुजफ्फरनगर से चुनाव लड़ेंगे। पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी बागपत से तथा कुंवर नरेंद्र सिंह मथुरा से उम्मीदवार होंगे। गौरतलब है कि सपा 37 और बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। जबकि तीन सीटें रालोद के हिस्से में आई हैं। रायबरेली और अमेठी सीट पर गठबंधन अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगा।

--आईएएनएस

 

लखनऊ: कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने रविवार को यहां कहा कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और रालोद गठबंधन के लिए सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी। राज बब्बर ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कांग्रेस मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद, बागपत, मुजफ्फरनगर के साथ ही मायावती व अखिलेश यादव के खिलाफ अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी।

उन्होंने कहा, "कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपना दल (कृष्णा पटेल) के साथ गठबंधन के तहत उनके लिए भी दो सीटें छोड़ दी हैं। ये सीटें गोंडा व पीलीभीत हैं।"

राज बब्बर ने कहा, "जन अधिकार पार्टी से हमारा सात सीटों के लिए समझौता हुआ है, जिसमें पांच सीटों पर वे अपने चुनाव चिन्ह पर लड़ेंगे और दो सीटें हमारे चुनाव चिन्ह पर लड़ेंगे।"

उन्होंने बताया कि पांच सीटों में झांसी, चंदौली, एटा, बस्ती और एक कोई सीट पूर्वांचल या पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हो सकती है। जबकि गाजीपुर कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर तथा इसी तरह दूसरी सीट बाद में तय की जाएगी।

शिवपाल यादव से गठबंधन के सवाल पर राज बब्बर ने कहा, "अभी गठबंधन चल रहे हैं और बातें हो रही हैं। जहां भाजपा को फायदा होता है, वहां हमें चार बार सोचना है कि ऐसी कोई सीट उनके लिए मजबूत नहीं करेंगे, किसी भी तरह से भाजपा को मदद नहीं पहुंचाएंगे।"

--आईएएनएस

 

लखनऊ: समाजवादी पार्टी(सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को यहां दावा किया कि भाजपा पूरे देश मे महज 74 सीटों पर सिमट जाएगी। उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन को सबसे बेहतर बताया, लेकिन मायावती को प्रधानमंत्री बनाने के सवाल पर सीधा जवाब नहीं दिया। अखिलेश ने कहा कि उन्होंने तय कर रखा है कि क्या करना है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यहां एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। उन्होंने आजमगढ़ से चुनाव लड़ने का संकेत भी दिया। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ की जनता कहेगी तो वह वहां से लड़ेंगे।

अखिलेश ने कहा, "प्रदेश की जनता चाहती है कि वर्तमान सरकार यहां से जाए। देश का प्रधानमंत्री नया बने और उत्तर प्रदेश से बने यह सबसे अच्छा होगा।"

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा, "हमारा तो एक-दो दलों का गठबंधन है। भाजपा बताए कि देशभर में उनका कितनी पार्टियों के साथ गठबंधन है। अगर हमारा महामिलावट का गठबंधन है तो उनका कौन-सा है? इसके लिए डिक्शनरी देखनी पड़ेगी? भाजपा सत्ता पाने के लिए हर झूठ बोलने के लिए तैयार है। लेकिन इस बार वह पूरे देश में 74 सीटों पर सिमट जाएगी।"

मुलायम सिंह यादव द्वारा नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री की शुभकामना पर अखिलेश ने कहा, "संसद में नेता जी ने जो कहा वह शिष्टाचार के लिए था। फ्लोर ऑफ द हाउस पर ऐसी बातें होती हैं।"

अखिलेश ने कहा, "प्रियंका के आने से भाजपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा। उनका आना अच्छी बात है। दो सीटों के साथ कांग्रेस हमारे साथ है। साइकिल पर कई लोग बैठ सकते हैं। यह हमारी साइकिल है।"

सपा नेता ने कहा, "देश का किसान तकलीफ में है, वह इंतजार में है कि कब वोट डालने का मौका मिले। सीबीआई के मामले में कांग्रेस और भाजपा का गठबंधन कोई नहीं समझ सकता है। मैं तो कहता हूं सीबीआई के मामले में जो भाजपा है, वही कांग्रेस है।"

डिंपल यादव के चुनाव लड़ने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि चुनाव लड़ने का फैसला डिंपल का था।

अपर्णा यादव को लोकसभा टिकट नहीं देने पर उन्होंने कहा कि टिकट के लिए जगह नहीं बची है।

--आईएएनएस

Published in लखनऊ

लखनऊ: लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के प्रयाग से सांसद श्यामाचरण गुप्ता समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल हो गए, और पार्टी ने शनिवार को उन्हें बांदा से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सुनील साजन ने आईएएनएस से कहा कि उनकी पार्टी ने श्यामाचरण गुप्ता को बांदा से टिकट दिया है।

हालांकि गुप्ता ने भाजपा से इस्तीफा दिया, नहीं दिया, इसे लेकर सोशल मीडिया पर परस्पर विरोधी बातें आती रहीं।

इस बारे में जब गुप्ता से पूछा गया तो उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया। उन्होंने आईएएनएस से कहा, "मुझे सपा ने टिकट दिया है। जब कहीं से टिकट मिलता है तो कैसे मिलता है। बिना इस्तीफे के नहीं मिलता।"

श्यामाचरण इसके पहले 2004 में सपा के टिकट पर बांदा-चित्रकूट से सांसद रह चुके हैं। वह 2009 में फूलपुर लोकसभा सीट से भी सपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे, लेकिन बसपा प्रत्याशी से हार गए थे। वह 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर प्रयाग से चुनाव लड़े और उन्होंने जीत दर्ज काराई।

गुप्ता भाजपा सरकार के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं। कुछ दिनों पहले इनके बेटे विदुप ने कहा था कि अगर भाजपा उनके पिता का टिकट काटती है तो वह बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे।

--आईएएनएस

लखनऊ: समाजवादी पार्टी(सपा) ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह को हटाने की मांग शनिवार को चुनाव आयोग से की है। इस सिलसिले में सपा के एक प्रतिनधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी वेंकटेश्वर लू से मुलाकात की। सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बताया कि राज्य में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए डीजीपी ओमप्रकाश सिंह को हटाया जाना जरूरी है।

इससे पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पुलिस महानिदेशक को हटाने की मांग की थी। बसपा अध्यक्ष मायावती ने उनका समर्थन किया था।

प्रतिनिधिमंडल में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी शामिल थे।

--आईएएनएस

 

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान होने के साथ ही नेताओं की बयानबाजी का दौर तेज होता जा रहा है। इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती पर तंज कसते हुए कहा, "इस बार भी अगर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मायावती पर हमला करें, तो मैं उन्हें बचाऊंगी।" उमा ने कहा कि समाजवादी पार्टी के लोग उन पर हमला जरूर करेंगे, चाहे चुनाव के पहले करें या फिर चुनाव के बाद।

उन्होंने कहा, "जब गेस्ट हाउस में मायावती जी पर हमला हुआ था, तब ब्रह्मदत्त द्विवेदी जी थे। अब वह नहीं हैं, तो मैं हूं। जैसे ही उनको संकट आए तो मेरा मोबाइल नंबर रखें और तुरंत मुझे फोन करें। उन पर संकट आना जरूर है।"

उमा भारती ने मायावती को वर्ष 1995 की वह घटना याद दिलाई है, जब समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और विधायकों ने लखनऊ के स्टेट गेस्ट हाउस पर हमला बोल दिया था। बसपा विधायकों के साथ मारपीट की गई थी और मायावती ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया था। उनका दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई थी।

--आईएएनएस

 

लखनऊ: समाजवादी पार्टी(सपा) ने शुक्रवार को लोकसभा चुनाव के लिए अपने चार उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। इसमें गोंडा संसदीय सीट से विनोद कुमार, बाराबंकी से रामसागर रावत, कैराना से तबस्सुम हसन और संभल से शफीकुर रहमान बर्क के नाम शामिल हैं। इसके साथ ही सपा ने उत्तर प्रदेश में हिस्से आईं 37 सीटों में से कुल 15 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। पहले ऐसी चर्चा थी सपा संभल से अपर्णा यादव को टिकट दे सकती है। लेकिन सपा की ओर जारी सूची में उनका नाम नहीं है। मुलायम सिंह यादव संभल सीट से अपर्णा यादव के लिए टिकट चाहते थे। संभल से मुलायम दो बार और रामगोपाल यादव एक बार सांसद रह चुके हैं।

सपा ने राष्ट्रीय लोकदल की कैराना सीट से सांसद तबस्सुम हसन को गठबंधन का प्रत्याशी घोषित किया है। तबस्सुम हसन ने रालोद के टिकट पर कैराना से उपचुनाव लड़ा था और दिवंगत भाजपा सांसद हुकुम सिंह के बेटी मृगांका सिंह को पराजित किया था।

--आईएएनएस

 

Published in देश