मीरजापुर: कांग्रेस महासचिव और पार्टी की पूर्वी उप्र प्रभारी प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को मिरजापुर से पार्टी उम्मीदवार ललितेश पति त्रिपाठी के पक्ष में रोडशो किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री को अभिनेता करार देते हुए जनता से आह्वान किया कि उन्हें अभिनेता नहीं, बल्कि नेता चुनना चाहिए।

प्रियंका ने कहा, "अब आप समझ लीजिए कि आपने दुनिया के सबसे बड़े अभिनेता को प्रधानमंत्री बना दिया है। इससे तो अच्छा आप अमिताभ बच्चन को प्रधानमंत्री बना देते। वैसे भी किसी को आपके लिए कुछ नहीं करना था।"

उन्होंने कहा, "भाजपा सरकार में पांच करोड़ रोजगार कम हुए हैं। पिछले पांच सालों में युवाओं को रोजगार नहीं मिला, हर किसी के खाते में 15 लाख रुपये भाजपा का चुनावी जुमला है। केंद्र में कांग्रेस की सरकार आएगी तो गरीबों का भविष्य चमकेगा। पिछले पांच सालों से किसान बेहाल हैं, किसानों को उपज का सही दाम नहीं मिल रहा और देश में 12 हजार किसानों ने खुदकशी की है।"

कांग्रेस महासचिव ने कहा, "भाजपा का मकसद सत्ता हासिल करना है। मोदी ने पिछले लोकसभा चुनाव के वक्त किए अपने वायदों को पूरा नहीं किया। कांग्रेस झूठे वादे नहीं करती, बल्कि किसानों, गरीबों और युवाओं के हक में काम करती है।"

प्रियंका ने कहा, "प्रधानमंत्री देश के किसानों, मजदूरों और नौजवानों को अपने पांच साल के विकास कायरें का हिसाब नहीं दे पा रहे हैं। देश में एक ऐसी सरकार है, जो हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं को लगातार कमजोर करती जा रही है। भाजपा के सभी दावे खोखले हैं।"

प्रियंका का रोड शो बेलतर, गिरधर का चौराहा, खजांची का चौराहा, साईं मंदिर होते हुए संकटमोचन मंदिर जाकर समाप्त हुआ। इस दौरान उन्होंने जगह-जगह रुककर लोगों से बातचीत भी की। प्रियंका का रोडशो जैसे ही वसीगंज चौराहे से गुजरा, भाजपा कार्यकर्ताओं ने मोदी-मोदी के नारे लगाए।

गांधी के रोडशो के दौरान सड़कें खचाखच भरी रहीं। प्रियंका के ऊपर लोगों ने फूल बरसाए। इस दौरान प्रियंका लोगों से हाथ मिलाते, उनका अभिनंदन करते आगे बढ़ती रहीं। धीरे-धीरे उनका काफिला डंकीनगंज होते हुए बाटा चौराहे पर पहुंचा, जहां धक्का-मुक्की के बीच जुलूस धीरे-धीरे आगे बढ़ता रहा। रोडशो के दौरान प्रियंका गांधी ने तीन बच्चों को अपने मंच पर बुलाया और उनसे दुलार किया।

प्रियंका जब गिरधर चौराहे पर पहुंचीं तो भाजपा समर्थकों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए। कांग्रेस समर्थकों ने जवाब में 'चौकीदार चोर है' के नारे लगाए। लेकिन प्रियंका ने मोदी-मोदी के नारे लगा रहे भाजपा समर्थकों को माले पहनाए। प्रियंका का रोडशो संकटमोचन मंदिर पहुंच कर खत्म हुआ।

--आईएएनएस

 

 

Published in देश

महराजगंज: कांग्रेस महासचिव व पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने यहां गुरुवार को भाजपा पर हमला बोला और कहा कि धर्म और जाति के नाम पर चुनाव आयोग को कमजोर किया जा रहा है।

प्रियंका यहां एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, "भाजपा कब तक लोगों को गुमराह करेगी। पश्चिम बंगाल में अराजकता फैलाकर महापुरुषों की मूर्तियां तोड़ी गईं। जनता डरी हुई है। अराजकता से शक्ति नहीं बढ़ती है। असल शक्ति जनता को मजबूत करने से होती है। धर्म, जाति के नाम पर चुनाव आयोग को कमजोर कर लोकतंत्र को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है।"

उन्होंने कहा, "देश में एक ऐसी सरकार है, जो हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं को लगातार कमजोर करती जा रही है। 56 इंच का सीना ताने रहने वाले प्रधानमंत्री देश के किसानों, मजदूरों और नौजवानों को अपने पांच साल के विकास कार्यो का हिसाब नहीं दे पा रहे हैं।"

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि यह पुलवामा के शहीद पंकज त्रिपाठी की धरती है। यहां भाजपा की झूठ, फरेब और नफरत की राजनीति नहीं चलेगी। भाजपा की योजनाएं, भाजपा के दावे सभी खोखले हैं। किसानों को उनके फसल का दाम नहीं मिला, नौजवानों को हर साल दो करोड़ नौकरी का वादा करने वालों ने पांच साल में पांच करोड़ लोगों की नौकरी छीन ली।

उन्होंने कहा, "नोटबंदी और जीएसटी के चलते देश के हजारों छोटे उद्योग-धंधे बंद हो गए, पांच लाख लोगों की रोजी-रोटी छिन गई। ये लोग किस मुंह से खुद को राष्ट्रवादी कहते हैं, इनका खोखला राष्ट्रवाद जनता ने देख लिया है।"

प्रियंका ने कहा कि कांग्रेस देश में एक ऐसी सरकार बनाना चाहती है जो सबके साथ न्याय करे, जिसका आधार सच्चाई और न्याय हो।

--आईएएनएस

 

 

वाराणसी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार शाम को अपने रोडशो के दौरान भीड़ में एक व्यक्ति को गिरते हुए देखा, जिसके बाद वह तुरंत अपने ट्रक से उतरीं और उस व्यक्ति को पानी दिया। व्यक्ति ने अपने सीने में दर्द की शिकायत की थी। 

उन्होंने अपने सुरक्षाकर्मियों से एक कार की व्यवस्था करने और उसे समीप के अस्पताल पहुंचाने के लिए कहा। बाद में प्रियंका ने अपना रोडशो जारी रखा।

कुछ दिन पहले, प्रियंका ने ट्यूमर से पीड़ित एक बच्ची को इलाज के लिए दिल्ली स्थित एम्स भेजने में मदद की थी।

--आईएएनएस

वाराणसी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को वाराणसी के लंका स्थित मालवीय प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पार्टी रोडशो शुरू किया। इस दौरान उनके साथ वाराणसी से कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मौजूद रहे।

रोडशो शामिल होने के लिए कांग्रेसियों का भारी जन समूह उमड़ा। प्रियंका ने सड़क पर खड़ी जनता का हाथ हिलाकर अभिवादन किया, और डिवाइडर पर खड़े लोगों से हाथ मिलाया।

रोडशो में पांच साल का जनता का दर्द बताती झांकियां भी शामिल रहीं। रोडशो में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में युवा गाजे-बाजे के साथ पहुंचे।

प्रियंका के रोडशो के दौरान सभी उनकी एक झलक पाने के लिए आतुर दिखे। जैसे ही उनका काफिला रविदास गेट पहुंचा, वहां खड़े लोगों ने प्रियंका के समर्थन में जमकर नारे लगाए।

अस्सी चौराहे पर कांग्रेस समर्थकों ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। समर्थकों ने नारे लगाए- "गली-गली में शोर है, चौकीदार चोर है"।

-- आईएएनएस

सलेमपुर: कांग्रेस महासचिव व पूर्वी उप्र की प्रभारी प्रियंका गांधी ने बुधवार को यहां कहा कि मोदी की सरकार मजबूत नहीं, बल्कि मगरूर सरकार है।

प्रियंका ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि इनका अहंकार हर रोज इनके भाषणों में दिखता है। जिस तरह से ये बातें करते हैं। इससे पता चलता है कि केंद्र की मोदी सरकार मजबूत नहीं, मगरूर है।

उन्होंने देवरिया में बदहाल स्वास्थ्य सेवा की चर्चा करते हुए कहा कि "जिला अस्पताल दलालों के जरिए चलाया जाता है। दवाएं बाहर से आती हैं। यह हाल है मजबूत सरकार की।"

कांग्रेस महासचिव ने पार्टी उम्मीदवार के पक्ष में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, "जब मैं वाराणसी पहुंची तो हमें लगा कि यहां बहुत विकास हुआ होगा। मैंने अपने पिता के क्षेत्र अमेठी को देखा था। मैं उस समय 10 साल की थी। मैंने पांच साल अमेठी में जो बदलाव देखे, उस तरह का विकास आज तक नहीं देखा। उस समय मेरे पिता देश के प्रधानमंत्री थे। देश में भी कांग्रेस की सरकार थी और प्रदेश में भी। उस तरह का विकास वाराणसी में क्यों नहीं हुआ? जबकि दोनों जगह इन्हीं की सरकार है।"

प्रियंका ने कहा, "मैंने लोगों से पूछा कि प्रधानमंत्री क्षेत्र में आते हैं या नहीं। पता चला आते तो हैं, लेकिन सिर्फ बड़ी-बड़ी मीटिंग के लिए आते हैं। आज तक एक भी गरीब व किसी किसान के परिवार में नहीं गए।"

प्रियंका बोलीं, "हम अमेठी के गांवों में जाते हैं तो वहां पता चलता है कि हमारे पिता भी उस गांव में आए थे। हमारी बातों में गहराई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उनकी विचारधारा जनता को आदर नहीं दे पा रही है। वह समझते हैं कि उनकी मजबूती उनकी सत्ता है। वह भूल गए हैं कि यह सत्ता देने वाला कौन है।"

प्रियंका ने आगे कहा, "पांच साल में जिस प्रधानमंत्री को जनता से मिलने तक की फुर्सत नहीं मिली, वह जनता का क्या भला करेगा। आपने उनको चीन में देखा होगा, जापान में देखा होगा या फिर पाकिस्तान में बिरयानी खाते देखा होगा। कभी भी आपने यह नहीं देखा होगा कि प्रधानमंत्री किसी गरीब के घर गए होंगे, जो मुसीबत में है। वह आज सत्ता के मोह व माया में हैं। जनता से संबंध टूट चुका है। यदि आपने 56 इंच का सीना ताना है तो आज किसान की यह स्थिति क्यों है?"

प्रियंका ने कहा, "गोरखपुर में आक्सीजन की कमी से कई बच्चों की मौत हो गई। यदि आपकी सरकार इतनी मजबूत है तो कम से कम इन बच्चों को तो बचा सकती थी।"

कांग्रेस महासचिव ने कहा, "जब तब आप इनके झूठे प्रचार से गुमराह होते रहेंगे, तब तक बदलाव नहीं आएगा। लोकतंत्र को मजबूत करने का समय अभी है। आप वोट डालने जाएं तो हमारी बातों का ध्यान रखिएगा। आपके साथ न्याय होगा।"

प्रियंका गांधी की सभा से पहले अचानक आंधी-पानी आने से अफरा-तफरी मच गई। आंधी-पानी के कारण प्रियंका का मंच ढह गया और सभा के लिए लगाई गईं कुर्सियां तहस-नहस हो गईं। इस कारण सभा दो घण्टे विलंब से शुरू हुई।

-- आईएएनएस

 

 

रायबरेली: रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह पर कथित हमले के एक दिन बाद बुधवार को कांग्रेस महासचिव व पूर्वी उप्र की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने विधायक से यहां मुलाकात की, और उन्होंने कहा कि सत्ताधारी गुंडे लोकतंत्र को चोटिल कर रहे हैं।

प्रियंका ने यहां पार्टी मुख्यालय में विधायक अदिति सिंह से मुलाकात की, और उनसे घटना के बारे में विस्तार से बातचीत की। विधायक अदिति सिंह ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह ने उनपर जानलेवा हमला कराया।

प्रियंका ने यहां पत्रकारों से कहा, "सत्ताधारी गुंडों ने जो कुछ किया, उससे लोकतंत्र को चोट पहुंची है। हमने तीन दिन पहले ही प्रशासन से कहा था कि जिला पंचायत के अविश्वास प्रस्ताव में सबकुछ पारदर्शी हो, लेकिन अफसरों ने नाइंसाफी की। हम उन्हें छोड़ने वाले नहीं हैं। रायबरेली में गुंडों के लिए कोई जगह नहीं है।"

उन्होंने कहा, "हम इस मामले में चुनाव अयोग से अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे। जरूरत पड़ी तो कानून के अन्य रास्ते भी हैं।"

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि "डरने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, और अब यह लड़ाई आपकी नहीं, हमारी है।"

प्रियंका ने कहा कि जिस तरह जिला पंचायत सदस्यों को वाहनों से खींच-खींचकर मारा-पीटा गया, आखिर यह कैसा लोकतंत्र है।

उन्होंने एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह पर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस का कोई भी कार्यकर्ता अगर दिनेश से संबंध रखेगा तो उसे तत्काल पार्टी से बाहर कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव से पहले मंगलवार को जमकर बवाल हुआ था। मारपीट, फायरिंग और अपहरण की घटनाएं हुईं। इस दौरान अविश्वास प्रस्ताव की अगुआई करने वाले जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी गंभीर रूप से घायल हो गए।

उसके बाद रायबरेली-लखनऊ राजमार्ग पर मंगलवार को कथित तौर पर अदिति सिंह पर हमला किया गया, जिसमें उनकी कार पलट गई और उन्हें चोटें आईं।

बाद में जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी ने एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह सहित छह लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने अराजकता को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है, जबकि एमएलसी दिनेश सिंह ने आरोपों को सिरे से नकार दिया है।

--आईएएनएस

वाराणसी: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी आज वाराणसी के लंका स्थित मालवीय प्रतिमा पर माल्यार्पण कर गोदौलिया तक रोड शो करेंगी। इस दौरान वह काशी विश्वनाथ और काल भैरव का दर्शन भी करेंगी।

प्रदेश प्रवक्ता मुकेश चौहान के अनुसार, "प्रियंका गांधी का आज बनारस के कांग्रेस प्रत्याशी अजय के पक्ष में रोड शो है। इस दौरान वह काशी विश्वनाथ और कालभैरव मंदिर में दर्शन पूजन करेंगी।"

चौहान ने बताया कि रोड शो को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह नजर आ रहा है। रोड शो के दौरान शहनाई और डमरू के साथ शंखनाद की भी व्यवस्था की गई है। साथ ही पूरे रोड शो के दौरान पुष्पवर्षा की भी व्यवस्था की गई है। कांग्रेसी कार्यकर्ता प्रियंका गांधी के रोड शो को ऐतिहासिक बनाने में जी-जान से जुटे हुए हैं। रोड शो से पहले वह मालवीय प्रतिमा स्थल पर एकत्र लोगों को संबोधित करेंगी।

पार्टी कार्यालय से जारी कार्यक्रम के मुताबिक, आज प्रियंका गांधी दिल्ली से दोपहर 12.15 बजे वाराणसी के लिए उड़ान भरेंगी। दोपहर 1.30 बजे वह बाबतपुर हवाईअड्डे पर उतरेंगी। यहां से वह हेलीकॉप्टर से सलेमपुर जाएंगी। सलेमपुर से कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष व वाराणसी के पूर्व सांसद डॉ. राजेश मिश्र चुनावी मैदान में हैं। वहां जनसभा को संबोधित करने के बाद प्रियंका अपराह्न् साढ़े तीन बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगी। शाम 4.35 बजे वह बीएचयू गेट के लिए निकलेंगी। मालवीय प्रतिमा से शाम पांच बजे उनका रोड शो शुरू होगा जो विश्वनाथ मंदिर तक जाएगा।

शाम सात बजे वह विश्वनाथ मंदिर पहुंचेंगी। वहां पूजन अर्चन के बाद साढ़े सात बजे काल भैरव मंदिर पहुंचेंगी और दर्शन पूजन के बाद शाम 7.45 बजे वह बाबतपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगी।

कांग्रेस के मीडिया प्रभारी प्रो़ सतीश कुमार राय ने बताया कि प्रियंका गांधी के लिए बाबतपुर एयरपोर्ट पर अपराह्न 3.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक का समय रिजर्व रखा गया है। इस दौरान वह प्रमुख कार्यकर्ताओं से बातचीत करेंगी।

--आईएएनएस

 

 

अमृतसर: कांग्रेस के स्टार प्रचारक और पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ मंच साझा किया। इससे कुछ ही घंटे पहले उनकी पत्नी पूर्व विधायक नवजोत कौर ने कहा था कि सिद्धू अपने गृह राज्य में प्रचार नहीं करेंगे।

पूर्व विधायक नवजोत कौर ने कहा था कि सिद्धू अपने गृह राज्य में पार्टी के लिए प्रचार नहीं करेंगे, क्योंकि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने उन्हें प्रचार करने से मना किया है।

सिद्धू ने बाद में बठिंडा में एक चुनावी सभा में प्रियंका गांधी और अमरिंदर सिंह की मौजूदगी में कहा कि वह 17 मई को बादलों को एक 'नॉकआउट पंच' देने के लिए पंजाब लौटेंगे।

खबरें आ रही थीं कि सिद्धू की सेहत प्रचार करने की इजाजत नहीं दे रही है, लेकिन उनकी पत्नी ने सिद्धू को पंजाब में प्रचार करने की अनुमति नहीं देने के लिए पार्टी की पंजाब प्रभारी आशा कुमारी को भी जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने अमृतसर में पत्रकारों से कहा, "कैप्टन साब छोटे कैप्टन हैं और राहुल गांधी सबसे बड़े कैप्टन हैं और उन्होंने उन्हें (सिद्धू) अन्य राज्यों में जिम्मेदारी दी है और नवजोत (सिद्धू) वहां चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं।"

नवजोत कौर ने कहा, "जब कैप्टन साब और आशा कुमारी ने सभी (13) सीटों पर पार्टी की जीत सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ली है, तो फिर पंजाब में चुनाव प्रचार के लिए नवजोत (सिद्धू) की क्या जरूरत है?"

क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू पटना साहिब से पार्टी उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा के समर्थन में एक रैली को संबोधित करने मंगलवार को बिहार रवाना हो गए।

अमृतसर पूर्व से भाजपा की पूर्व विधायक नवजौत कौर ने मुख्यमंत्री पर उन्हें चंडीगढ़ या अमृतसर से टिकट देने से इनकार करने का भी आरोप लगाया।

भीड़ को आकर्षित करने में माहिर सिद्धू सोमवार को पंजाब में राहुल की दो रैलियों से हालांकि नदारद रहे।

मंगलवार को उन्होंने बठिंडा में प्रियंका गांधी की रैली में एक संक्षिप्त भाषण दिया। उन्होंने इस दौरान कहा, "यहां 17 मई को सिद्धू आएगा, 'भाग बादल भाग'।"

सिद्धू के कार्यालय ने सोमवार को कहा कि लगातार बोलते रहने के कारण उनका गला खराब हो गया है।

पंजाब की 13 लोकसभा सीटों के लिए 19 मई को मतदान होना है।

--आईएएनएस

Published in पंजाब

पठानकोट: 1984 के सिख दंगे के सैकड़ों पीड़ितों ने मंगलवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के दौरे के खिलाफ यहां प्रदर्शन किया। प्रियंका यहां पार्टी उम्मीदवार सुनील जाखड़ के पक्ष में प्रचार करने आई थीं।

प्रदर्शनकारियों ने प्रियंका के दौरे का विरोध करने के लिए कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा की 'हुआ तो हुआ' टिप्पणी पर सवाल खड़े किए, जिसे पित्रोदा ने 1984 की हिंसा के संदर्भ में कहा था।

प्रियंका गांधी के साथ जाखड़, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पार्टी की पंजाब प्रभारी आशा कुमारी और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू मौजूद थे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक दिन पहले खन्ना कस्बे में एक रैली में कहा था कि उन्होंने पित्रोदा से कहा है कि वह अपनी टिप्पणी के लिए देश से माफी मांगें। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि जो लोग दंगे के दोषी हैं, उन्हें दंडित किया जाना चाहिए।

--आईएएनएस

Published in पंजाब

शिमला: कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का हिमाचल दौरा मंगलवार को आखिर समय पर खराब मौसम के कारण रद्द करना पड़ा।

पार्टी के एक नेता ने आईएएनएस को बताया कि वह सुंदरनगर में मंडी से कांग्रेस उम्मीदवार आश्रय शर्मा के समर्थन में रैली करने के लिए यहां आने वाली थीं।

आश्रय शर्मा पूर्व दूरसंचार मंत्री सुखराम शर्मा के पोते हैं। उनका मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अभी के सांसद राम स्वरूप शर्मा से है।

हिमाचल की सभी चार सीटों पर 19 मई को मतदान होना है।

--आईएएनएस

Published in देश