नासिक: श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुए बम धमाके का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों को छोड़कर भारत अब वस्तुत: एक 'आतंकवाद मुक्त देश' है। श्रीलंका में हुए आतंकवादी हमले में 290 लोग मारे गए हैं। 

पिंपलगांव में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, "श्रीलंका के गिरिजाघरों में जब बेकसूर ईसाई शांतिपूर्वक प्रार्थना करने में व्यस्त थे, तब आतंकियों ने उन पर हमला किया, जिसमें बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं।"

उन्होंने कहा, "2014 के पहले भारत के हालात क्या थे? तब लगातार महाराष्ट्र, अयोध्या, जम्मू और कश्मीर में आतंकवादी हमले होते रहते थे। तत्कालीन कांग्रेस- राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सरकार ने सिर्फ शोक व्यक्त किया और पाकिस्तान का रोना रोया।"

14 फरवरी को पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक का संकेत देते हुए मोदी ने कहा, "लेकिन, 2014 में आपके चौकीदार की सरकार आने के बाद रणनीति में बदलाव किया गया और आतंकवादियों को उनकी मांद में घुसकर मारा गया जिसका परिणाम सबके सामने है।"

मोदी ने कहा, "देश से आतंकवादियों का वास्तव में सफाया हो चुका है, जम्मू एवं कश्मीर के कुछ इलाकों में वे अभी भी हैं लेकिन हमारे सुरक्षा बल उन आतंकवादियों लगातार मार रहे हैं। आतंकवादी डर गए हैं कि मोदी के रहते, वे सजा पाए बिना नहीं भाग सकते।"

यहां मोदी सोमवार की सुबह दो चुनाव रैलियों को संबोधित करने आए थे। उनकी पहली रैली नासिक और उसके बाद नांदुरबार जिला में थी। यहां 29 अप्रैल को चौथे चरण में चुनाव होने वाला है।

--आईएएनएस

 

 

कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि पूरे देश में लोग मोदी के निर्णायक, सक्षम, संवेदनशील और मजबूत नेतृत्व को देखते हुए उन्हें फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए पूरे उत्साह से मतदान कर रहे हैं। 

इसी दौरान शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर स्पष्ट नीति प्रस्तुत करने में असफल रहे विपक्ष पर भी निशाना साधा और कहा कि विपक्षी एक भी सक्षम नेता सामने नहीं ला पाए।

शाह ने मीडिया से कहा, "पहले दो चरण में पूरे देश में हुए मतदान की सूचना के अनुसार जनता ने पूरे उत्साह के साथ मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए मतदान किया है। चुनाव अभियान के दौरान जो मुद्दे उभर कर सामने आए हैं, इससे स्पष्ट है कि जनता उसी के हाथ में शासन का अधिकार देगी जो देश की सुरक्षा की रखवाली कर सकेगा।"

उन्होंने कहा, "मोदी नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने देश की सुरक्षा को लेकर स्पष्ट नीति की घोषणा की, पांच साल के दौरान आतंकवाद पर शून्य सहिष्णुता की नीति अपनाई जबकि सभी विपक्षी दल वोट बैंक राजनीति के लिए देश की सुरक्षा पर चुप हैं।"

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष ने कहा, "विपक्षी दलों के घोषणा पत्र का विश्लेषण करने पर राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर स्पष्ट रुख नजर नहीं आ रहा है, लेकिन भाजपा के घोषणा पत्र (संकल्प पत्र) में देश की सुरक्षा को लेकर साफ संदेश दिया गया है।"

वहीं नेतृत्व के मुद्दे पर शाह ने कहा कि बीते पांच सालों में लोगों ने मोदी के निर्णायक और सक्षम नेतृत्व का अनुभव लिया है।

उन्होंने कहा, "यह वह नेतृत्व है जो गरीबों को लेकर संवेदनशील है, देश के आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए और भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए कड़े निर्णय लेने से डरनेवाला नहीं है।"

विपक्ष में नेतृत्वहीनता में कमी को लेकर उन्होंने कहा, "वे राष्ट्र के सामने एक भी सक्षम नेता और स्पष्ट नीति नहीं रख सके।"

उन्होंने कहा जनता को अब निर्णय लेना है कि वह किसे चुनेंगे, मोदी सरकार द्वारा किए गए के 'ठोस कार्य' को या विपक्ष के 'खोखले वादों' को।

--आईएएनएस

Published in देश

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पृथ्वी दिवस के मौके पर सतत विकास पर ध्यान देने के साथ धरती के कल्याण के लिए काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

उन्होंने ट्वीट किया, "आज पृथ्वी दिवस पर, हम धरती माता को श्रद्धापूर्वक नमन करते हैं। वर्षों से, यह महान ग्रह अभूतपूर्व विविधता का घर रहा है। आज हम अपने ग्रह के कल्याण के लिए, सतत विकास पर ध्यान केंद्रित करने और जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।"

दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए 1970 से पृथ्वी दिवस मनाया जा रहा है।

--आईएएनएस

Published in देश

अमेठी: लोकसभा चुनाव 2019 में दस अप्रैल को अमेठी से अपना नामांकन करने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर रहेंगे। राहुल गांधी अमेठी में आज तीन चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर है। इसी दौरान राहुल का काफिला सड़क मार्ग से बाराबंकी-हैदरगढ़ के रास्ते निकला। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बाराबंकी में मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने यहां पर चौकीदार चोर है के नारे लगवाए।

सुप्रीम कोर्ट में चौकीदार चोर है के बयान को लेकर खेद जताने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज अमेठी जाते समय बाराबंकी में चौकीदार चोर है के नारे लगवाए। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी ने सिर्फ 15 लोगों का 5 लाख 55 हजार करोड़ रुपये माफ किया। राफेल विमान खरीद में चोरी की। हवाई जहाज फ्रांस में बनवाया, लेकिन गरीबों के लिए उनके पास पैसा नहीं है। नोटबंदी कर किसान और मजदुरों को लाइन में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद हम दो बजट लाएंगे। जिसमें एक नेशन और दूसरा किसान के लिए होगा। कांग्रेस की सरकार बनी तो कर्जदार किसान कर्ज न चुका पाने पर जेल नहीं जाएंगे। हम आपकी जेब में पैसा डालने वाले हैं। हिंदुस्तान के 20 फीसद लोगों के खातों में सीधे 7200 हजार रुपये डालना चाहते हैं। हम पांच करोड़ महिलाओं के खाते में 6 हजार रूपये प्रतिमाह और सालाना 72 हजार देंगे। 22 लाख सरकारी नौकरी के पद खाली हैं। उन्हें एक साल में भरेंगे। इस दौरान राहुल गांधी ने चौकीदार चोर के नारे लगवाए।

चित्तौड़गढ़ (राजस्थान): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को लोगों से कहा कि भारतीय जनता पार्टी को वोट देने से आतंकवाद का खात्मा होगा।

प्रधानमंत्री ने यह बात श्रीलंका में पवित्र पर्व ईस्टर के अवसर पर हुई आतंकी घटना की निंदा करते हुए कही।

मोदी यहां एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जब पूरी दुनिया ईसा मसीह और उनके शांति के संदेश को याद कर रहे थे तब आतंकियों ने बच्चों और महिलाओं समेत अनेक निर्दोष लोगों की हत्या कर दी।

मोदी ने कहा, "हम इन हमलों की कड़ी निंदा करते हैं और आवश्यकता की इस घड़ी में श्रीलंका को अपनी ओर से पूरी मदद देने को तैयार हैं।"

उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या वे मानते हैं कि आतंकवाद को पूरी तरह समाप्त किया जाना चाहिए। जिस पर लोगों ने 'हां' में जवाब दिया। मोदी ने पूछा कि क्या उनको लगता है कि मोदी के अलावा कोई और है जो आतंकवाद का मुकाबला कर सकता है।

मोदी ने यह भी पूछा कि क्या लोग मजबूत सरकार चाहते हैं या मजबूर सरकार। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या वे चाहते हैं कि भारत पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे या शांत बैठा रहे।

उन्होंने यह भी पूछा कि क्या वे ऐसी सरकार चाहते हैं जो देश को मजबूत बना सके या ऐसी सरकार जो कमजोर करे।

प्रधानमंत्री ने नए मतदाताओं से कहा कि वह नए भारत का निर्माण करने के लिए भाजपा के चुनाव चिन्ह 'कमल' का बटन दबाएं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का मकसद गरीबी, निरक्षरता, कालाधन, भ्रष्टाचार और बीमारी का उन्मूलन करना है और इस ओर अभियान चलाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने पीएम उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, जनधन योजना, मुद्रा योजना और शौचालय निर्माण योजना समेत प्रमुख योजनाओं की फेहरिश्त पेश की।

मोदी ने कहा, "हमने अनेक महत्वाकांक्षी योजनाएं शुरू की हैं और यह सुनिश्चित किया है कि उनका लाभ अंतिम लक्ष्य तक पहुंचे, न कि पिछली सरकार की तरह, जिसे परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा करना नहीं आता था।"

कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि अगर वह ईमानदार होती तो बहुत कुछ कर सकती थी, लेकिन उसने जो कुछ भी किया वह सिर्फ अपने बोट बैंक के लिए किया और लोगों से झूठ बोलकर उनको धोखा दिया।

उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या किसानों का कर्ज 10 दिनों में माफ हो गया जैसा कि कांग्रेस सरकार ने वादा किया था। इस पर लोगां ने 'ना' में सिर हिलाकर जवाब दिया।

मोदी ने कहा, "यह झूठ है जो पूरे राजस्थान में फैलाई जा रही है।"

उन्होंने कहा, "पिछले सात दशक से वे लोगों से झूठ ही बोल रहे हैं। उनको तीन ही बातों का श्रेय जाता है- वे नामदार परिवार, भ्रष्टाचार और झूठे वादों की भरमार के लिए जाने जाते हैं।"

मोदी ने वादा किया कि उनकी अगली सरकार अगर बनी तो वे जल शक्ति मंत्रालय का गठन करेंगे जो यहां पानी की कमी वाले इलाके में पानी की सुचारु आपूर्ति के लिए काम करेगा।

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसने भारत के लोगों का पानी पाकिस्तान के साथ साझा किया।

--आईएएनएस

Published in देश

जबलपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जबलपुर में होने वाली आमसभा की अनुमति को देकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से उच्च न्यायालय जबलपुर में दायर की गई याचिका पर छुट्टी के दिन रविवार को विशेष सुनवाई हुई। न्यायालय ने मामले की सुनवाई के बाद राज्य सरकार को प्रधानमंत्री की सभा की सभी औपचारिकताएं पूरी करने के आदेश दिए हैं।

न्यायमूर्ति आर.एस. झा तथा न्यायमूर्ति नंदिता दुबे की विशेष पीठ ने अपने आदेश में कहा है, "गैरीसन ग्राउण्ड में 26 अप्रैल को प्रधानमंत्री की आमसभा के लिए सभी औपचारिकताएं राज्य सरकार की तरफ से पूरी की जाएं।"

इसके साथ ही पीठ ने सभी पक्षकारों को निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री की आमसभा के आयोजन में अपनी भूमिका के संबंध में एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट पेश करें।

याचिकाकर्ता भाजपा की तरफ से पूर्व महाधिवक्ता आर. एन. सिंह, अधिवक्ता वेद प्रकाश तिवारी, विनय पांडे ने पैरवी की, जबकि राज्य सरकार की तरफ से अतिरिक्त महधिवक्ता शशांक शेखर तथा चुनाव आयोग की तरफ से अधिवक्ता सिद्धार्थ सेठ उपस्थित हुए।

भाजपा ने 26 अप्रैल को शहीद स्मारक में प्रधानमंत्री मोदी की सभा के लिए जिला प्रशासन से अनुमति मांगी थी, मगर सुरक्षा कारणों से अनुमति नहीं दी गई। उसके बाद भाजपा ने गैरीसन मैदान में सभा की अनुमति के लिए आवेदन किया। यह मैदान सैन्य क्षेत्र में है, लिहाजा सेना से एनओसी मांगी गई है। इस मामले को लेकर भाजपा ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की।

भाजपा नगर अध्यक्ष जी. एस. ठाकुर की तरफ से दायर याचिका में बताया गया, "शहीद स्मारक में 26 अप्रैल को प्रधानमंत्री की आमसभा के आयोजन की अनुमति के लिए नोडल आधिकारी को 17 अप्रैल को आवेदन दिया था। प्रारंभिक सहमति के बाद स्थल की बुकिंग के लिए राशि जमा कर दी थी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने 19 अप्रैल को उनके आवेदन को निरस्त करते हुए प्रधानमंत्री की सभा के लिए गैरीसन मैदान या वेटनरी ग्राउण्ड में से एक का चयन करने के लिए कहा। जिला प्रशासन की आमसभा के लिए निर्धारित स्थल की सूची में शहीद स्मारक का नाम था।"

ठाकुर के अनुसार, "याचिका की सुनवाई के दौरान जिला निर्वाचन अधिकार छबि भारद्वाज व पुलिस अधीक्षक निमिश अग्रवाल की तरफ से बताया गया कि सुरक्षा के कई कारणों से आमसभा की अनुमति प्रदान नहीं की गई। प्रधानमंत्री की सुरक्षा की अनदेखी नहीं कर सकते। गैरीसन ग्राउण्ड में प्रधानमंत्री की आमसभा के आयोजन के लिए भाजपा की तरफ से आवेदन मिला है। गैरीसन ग्राउण्ड में आमसभा के लिए सेना की एनओसी की आवश्यकता है। जिसके लिए आवश्यक कार्यवाही की गई है और संभावत: सोमवार तक स्वीकृति मिल जाएगी।"

--आईएएनएस

Published in देश

बाड़मेर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत अब पाकिस्तान के परमाणु खतरे से डरने वाला नहीं है, क्योंकि आज भारत जल, थल, वायु तीनों मध्यमों में परमाणु हमले करने की क्षमता के साथ विश्व शक्तियों में शामिल है।

मोदी ने यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, "राजग सरकार ने आतंकवादियों के दिल और दिमाग में भय पैदा कर दिया है। हम आतंकवादियों को उनके घरों में घुसकर मारते हैं। अब भारत पाकिस्तानी धमकियों से डरने वाला नहीं है।"

उन्होंने कहा, "एक समय था जब पाकिस्तान हर दूसरे दिन भारत को धमकी देता रहता था और कहता था 'हमारे पास परमाणु बटन है, हमारे पास परमाणु बटन है', जिसे हमारे मीडया ने रिपोर्ट किया था।"

मोदी ने उपस्थित जन समूह से पूछा, "फिर हमें क्या करना है? क्या यह (भारतीय परमाणु शस्त्रागार) दिवाली के लिए हैं?"

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों पर हमले करते हुए उन्होंने कहा, "हमने पाकिस्तान को दुनिया भर में भीख मांगने पर मजबूर किया। यह आपको लगता है कि मैंने सही किया, लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगियों को सही नहीं लगता।"

उन्होंने कहा, "वे सोचते हैं कि आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा चर्चा का विषय नहीं है। वे सोचते हैं कि मोदी भारतीय सम्मान और शौर्य के बारे में बातें न करें। आखिर क्यों? क्या मैं यहां किसी भजन मंडली में हिस्सा लेने के लिए हूं?"

--आईएएनएस

Published in देश

पाटन (उत्तरी गुजरात): प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को कहा कि देश ने अपना मन बना लिया है और भाजपा एक बार फिर सत्ता में वापसी करेगी। उन्होंने आगे कहा कि लेकिन 2014 की तरह यदि गुजरात ने भाजपा को फिर सभी 26 सीटों पर नहीं जिताया तो जीत का वैसा आनंद नहीं रहेगा। 

उन्होंने कहा कि यह गुजरात की जिम्मेदारी है कि वह अपने बेटे को जिताए। यहां से एक सीट का नुकसान भी मीडिया और विरोधियों को सवाल खड़ा करने का मौका देगा।

वर्ष 2014 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात की सभी 26 की 26 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी।

अपने गृहराज्य के पाटन क्षेत्र में रविवार की शाम चुनाव प्रचार खत्म होने से पहले क्षेत्र की आखिरी जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि विरोधी लोग देश में जीत की बात कम करेंगे और इस बात पर ज्यादा चर्चा करेंगे कि गुजरात में क्या गलत हो गया।

मोदी ने मिट्टी से अपना नाता बताते हुए लोगों पूछा, "क्या यह आप की जिम्मेदारी नहीं है कि आप अपने बेटे की रक्षा करें? क्या आप ये जिम्मेदारी नहीं लेंगे?"

उन्होंने आगे कहा, "जब आपका मेरे ऊपर अधिकार है तो क्या मेरा आपके ऊपर अधिकारी नहीं है?" जनसभा में मौजूद लोगों ने इसका 'हां' में जवाब दिया।

मोदी ने लोगों से कहा, "आप भाजपा के किसी भी प्रत्याशी को वोट डालिए, वह सीधा मुझे आएगा।"

इस दौरान मेहसाणा, पाटन, बनासकांठा लोकसभा सीट और ऊंझा विधानसभा उपचुनाव के भाजपा प्रत्याशी मंच पर मौजूद थे।

मोदी ने कहा, "मुझसे पार्टी ने कहा था कि गुजरात को छोड़कर मैं देश में बाकी जगह प्रचार करूं, लेकिन मैं यहां आया ताकि आप लोगों से मिल सकूं।"

प्रधानमंत्री अपने जन्मस्थान वड़नगर से एक घंटे की दूरी पर स्थित उत्तरी गुजरात के पाटन में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने इस जगह से जुड़े अपने पूर्व के अनुभवों को साझा किया।

मोदी ने यहां तक कि एक फोटोग्राफर का नाम भी लिया, जिसके स्टूडियो में उन्होंने अपनी पहली औपचारिक तस्वीर खिंचवाई थी।

--आईएएनएस

 

 

Published in गुजरात

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विंक्रमसिंघे से बात की और द्वीपीय देश में हुए आत्मघाती हमलों को 'सोच-समझकर किया गया और पूर्व-नियोजित जघन्य कृत्य' बताया। 

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, मोदी ने श्रीलंका के नेताओं से फोन पर बात की और अपने व सभी देशवासियों की ओर से कोलंबो और देश के अन्य स्थानों पर हुए आतंकवादी हमलों से मची अशांति पर दिली संवेदनाएं जाहिर कीं।

मोदी ने होटलों और चर्चो पर हुए हमलों की कड़ी निंदा करते हुए उन्हें 'सोच-समझकर किया गया और पूर्व-नियोजित जघन्य कृत्य' बताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि 'ये हमले हमारे क्षेत्र में और समूचे विश्व में आतंकवाद द्वारा पूरी मानवता के लिए पेश गंभीर चुनौती की एक और गंभीर ताकीद है।'

बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने आतंकवाद जैसी चुनौतियों के खिलाफ सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए श्रीलंका को हर संभव मदद और सहायता देने की पेशकश की।

मोदी ने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की और उनके इलाज के लिए जरूरी किसी भी प्रकार की सहायता की पेशकश की।

--आईएएनएस

 

 

Published in देश

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री पद के लिए सीधी टक्कर में आंध्र प्रदेश, पंजाब, केरल और तमिलनाडु के अधिकांश मतदाता राहुल गांधी को वोट देंगे, लेकिन देश के बाकी हिस्सों में नरेंद्र मोदी पसंदीदा विकल्प बने हुए हैं। सीवोटर-आईएएनएस पोल ट्रैकर में यह खुलासा हुआ है।

19 अप्रैल को किए गए एक सर्वेक्षण में, मतदाताओं से पूछा गया था कि अगर उन्हें सीधे भारत के प्रधानमंत्री का चुनाव करने का मौका दिया जाए तो वे राहुल और मोदी में से किसे चुनेंगे। राष्ट्रीय स्तर पर मोदी राहुल से 26.10 प्रतिशत के साथ आगे पाए गए।

लेकिन राज्य स्तर पर अलग-अलग आंकड़े दर्शाते हैं कि केरल में 64.96 प्रतिशत मतदाता राहुल को प्रधानमंत्री बनता देखना चाहते हैं जबकि सिर्फ 23.97 प्रतिशत ने मोदी का समर्थन किया।

राष्ट्रीय स्तर की पसंद से अलग राय रखने वाले अन्य राज्यों में तमिलनाडु शामिल है जहां सर्वे में शामिल 60.91 प्रतिशत लोगों ने राहुल को पसंद किया और केवल 26.93 प्रतिशत ने मोदी को अपनी पसंद बनाया। पंजाब में 37.04 प्रतिशत ने राहुल को और 36.05 प्रतिशत ने मोदी को अपनी पसंद बताया।

चारों ही राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का शासन नहीं है।

जहां राष्ट्रीय स्तर पर 11,192 लोगों से सवाल पूछा गया, वहीं राज्य स्तर पर आंध्र प्रदेश में 451 लोगों से, केरल में 701 लोगों से, तमिलनाडु में 533 लोगों से और पंजाब में 502 लोगों से सवाल पूछा गया।

मोदी आंध्र प्रदेश में राहुल से 11.00 प्रतिशत से, केरल में 40.99 प्रतिशत से, तमिलनाडु में 33.93 प्रतिशत से और पंजाब में 0.99 प्रतिशत से पीछे हैं। सबसे ज्यादा हरियाणा में राहुल से ज्यादा मोदी (61.50 प्रतिशत) के पक्ष में लहर है।

हरियाणा में कांग्रेस अध्यक्ष को भी कम से कम पसंद किया जाता है क्योंकि केवल 14.92 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने उनका पक्ष लिया।

--आईएएनएस

Published in देश

Don't Miss