तेहरान: ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा कि उनका देश अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ तब तक बातचीत नहीं करेगा जब तक कि अमेरिका विवादित परमाणु समझौते के तहत ईरान की प्रतिबद्धताओं का सम्मान करते हुए 'उसके प्रति सम्मान नहीं दर्शाता।'

जरीफ ने मंगलवार को सीएनएन के साथ एक विशेष साक्षात्कार में चेतावनी दी कि क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को बढ़ाकर अमेरिका 'बहुत, बहुत खतरनाक खेल' खेल रहा था।

जरीफ की यह टिप्पणी रविवार को ट्रंप के उन ट्वीट्स के बाद सामने आई है जिसमें उन्होंने ईरान से अमेरिका को 'कभी भी धमकी नहीं देने' के लिए कहा था और चेतावनी दी थी कि अगर वह लड़ाई चाहता है, तो यह इस्लामिक राष्ट्र का 'आधिकारिक अंत' होगा।

मंत्री ने कहा, "ईरान कभी भी जबरदस्ती नहीं करता है। आप किसी भी ईरानी को धमकी नहीं दे सकते हैं और उनसे जुड़ने की उम्मीद नहीं कर सकते। ऐसा करने का तरीका सम्मान के जरिए है, धमकी से नहीं।"

जरीफ ने कहा कि इसका परिणाम दर्दनाक होगा लेकिन ईरान को इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है।

उन्होंने ईरान के विरुद्ध अमेरिका द्वारा छेड़े गए 'आर्थिक युद्ध' को फौरन खत्म करने का आह्वान करते हुए कहा कि प्रतिबंध 'नागरिकों को उनकी आजीविका के साधन से वंचित' कर रहे।

जरीफ ने कहा, "हम बस इतना ही करना चाहते हैं कि हमारा तेल बिक जाए।"

उन्होंने कहा कि अमेरिका लोगों को धमकाकर हमारा तेल खरीदने से रोक रहा है।

जरीफ ने खाड़ी में अमेरिका द्वारा युद्धपोतों को भेजने की भी आलोचना की।

--आईएएनएस

 



Published in दुनिया

जकार्ता: राष्ट्रपति जोको विदोदो के दोबारा निर्वाचित होने के खिलाफ इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में विरोध प्रदर्शन के दौरान बुधवार को कम से कम छह लोगों की मौत हो गई और 200 अन्य घायल हो गए।

मृतकों की संख्या की पुष्टि जकार्ता के गवर्नर अनीस बसवेडन ने की, जबकि पुलिस सूत्रों ने एफे न्यूज को बताया कि कम से कम 60 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

मंगलवार रात शुरू हुए और बुधवार सुबह से जारी विरोध प्रदर्शनों में, इलेक्शंस सुपरवाइजरी एजेंसी और चुनाव आयोग के मुख्यालय के बाहर एकत्र प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने जब आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल कर खदेड़ने की कोशिश की तो उन लोगों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

पराजित राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्राबोवो सुबियांतो के समर्थकों द्वारा आयोजित एक शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के अंत में हिंसा भड़क उठी, जिन्होंने कहा है कि वह चुनावी धांधली का हवाला देते हुए संवैधानिक न्यायालय में चुनाव परिणामों को चुनौती देंगे।

करीब 32,000 अधिकारी दोनों चुनाव निकायों के मुख्यालय की रखवाली कर रहे हैं।

राष्ट्रीय पुलिस के प्रवक्ता डेडी प्रसेत्यो ने कहा कि जकार्ता की यात्रा करने वाले लगभग 1,300 लोग विरोध प्रदर्शन जारी रखने के इरादे से मस्जिदों में रह रहे थे।

अधिकारियों ने संभावित आतंकी हमलों की भी चेतावनी दी है और उन दर्जनों कट्टरपंथियों को गिरफ्तार किया है, जो प्रदर्शनों के दौरान कथित तौर पर हमलों की योजना बना रहे थे।

चुनाव आयोग के मंगलवार को 17 अप्रैल के आम चुनाव में जोको की पूरी तरह से जीत की पुष्टि के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने प्राबोवो के 44.5 प्रतिशत के मुकाबले 55.5 प्रतिशत मत हासिल किए हैं।

--आईएएनएस

 

 

Published in दुनिया

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की इस साल की विकास दर के अपने अनुमान को मंगलवार को घटाकर 2.7 प्रतिशत कर दिया, और 2020 के लिए अपने अनुमान को 2.9 प्रतिशत कर दिया।

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, अपने पहले के आर्थिक दृष्टिकोण को संशोधित करते हुए अंतर्राष्ट्रीय संस्था ने जनवरी में प्रकाशित अपने आंकड़े को घटा दिया है। संस्था ने जनवरी में कहा था कि 2019 और 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर तीन प्रतिशत रह सकती है।

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि सबसे ज्यादा विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं को आंतरिक और बाहरी तथ्यों के दुर्लभ योग -व्यापारिक तनाव और राजनीतिक अस्थिरता- के कारण उसे अपने अनुमान में संशोधन करना पड़ा है।

संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, इस प्रकार से, 2018 में तीन प्रतिशत वृद्धि के बाद, वैश्विक आर्थिक वृद्धि इस साल कुछ कम 2.7 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है।

--आईएएनएस

 

 

Published in दुनिया

बीजिंग: चीन ने अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव पर मंगलवार को चिंता जताई और दोनों देशों से संयम से काम लेने का आग्रह किया।

चीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रहा था कि अगर ईरान ने अमेरिका पर हमला किया तो उसका नामोनिशान मिट जाएगा।

रविवार को बगदाद के महत्वपूर्ण ग्रीन जोन में एक रॉकेट आकर गिरा था, जहां सरकार के कई कार्यालय और अमेरिका समेत कई देशों के दूतावास हैं। यह साफ नहीं हुआ है कि रॉकेट कहां से दागा गया था।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा, "हमने हाल के दिनों में खाड़ी क्षेत्र में पैदा हुए तनाव का संज्ञान लिया है। चीन ने अमेरिका से बात की है। हमारे स्टेट काउंसलर वांग यी ने अमेरिका के रक्षा मंत्री माइक पोम्पियो से फोन पर बात की है।"

यह पूछे जाने पर कि क्या चीन तनाव से चिंतित है, कांग ने कहा, "बिलकुल है, इलाके में तनाव से किसी देश का कोई फायदा नहीं होगा और न ही इससे वैश्विक अर्थव्यवस्था का कोई भला होगा। इसीलिए हम संबद्ध पक्षों से संपर्क कर संयम और समस्या का समाधान मिलकर करने का आग्रह कर रहे हैं।"

ईरान और अमेरिका के बीच तनाव उस समय बढ़ गया, जब अमेरिका ने ईरान के साथ हुए परमाणु करार से खुद को अलग कर लिया और ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया।

चीन, ईरान से कच्चे तेल के आयात के मामले में शीर्ष पर है और उसने अमेरिकी प्रतिबंधों का विरोध किया है। चीन के ईरान से गहरे व्यावसायिक संबंध हैं लेकिन इसके साथ ही उसके ईरान के विरोधी सऊदी अरब से भी काफी अच्छे संबंध हैं।

--आईएएनएस

Published in दुनिया

तेहरान: ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मौजूदा हालात में अमेरिका से वार्ता की संभावना से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि आज के हालात वार्ता के लिए किसी भी तरह से अनुकूल नहीं हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की मंगलवार की रपट के अनुसार, रूहानी ने विवादित मुद्दों का हल कूटनीति से निकालने का समर्थन तो किया, लेकिन कहा कि वह इस समय अमेरिका से किसी तरह की वार्ता के खिलाफ हैं।

उन्होंने अमेरिका द्वारा लगाए गए आर्थिक प्रतिबंधों की चुनौती का सामना करने के लिए ईरानी नागरिकों से एकजुट होने की अपील की।

बीते हफ्ते, ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने भी अमेरिका से किसी तरह की वार्ता से इनकार किया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से मई 2018 में अपने देश को अलग कर लिया था और उस पर फिर से प्रतिबंध लगा दिए थे।

वाशिंगटन ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर अंकुश व बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए नया परमाणु करार चाहता है।

--आईएएनएस

Published in दुनिया

वाशिंगटन: अमेरिकी ई-कंपनी वेफेयर हिंदू देवताओं की तस्वीर वाले स्नान=आसन बेचने के चलते विवादों में घिर गई है। ऐसी सामग्री बेचने के लिए इससे पहले अमेजन की निंदा चुकी है।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, इन आसनों का इस्तेमाल बाथरूम में किया जा रहा है। इससे पहले अमेजन ने भी इसी प्रकार की वस्तुएं बचने की शुरुआत की थी जिसका व्यापक विरोध हुआ था।

अमेरिकी बाजार ने शनिवार को बताया कि बोस्टन स्थित वेफेयर घरेलू सामान बेचती है। वह न केवल भगवान गणेश की मूर्तियां, बल्कि भगवान शिव की तस्वीर को स्नान-आसनों में प्रिंट कराकर बेच रही है।

'योग एशियन भगवान शिव तीन आंखों वाला स्नान-आसन' और 'एशियन भगवान हाथी के चहरे वाला स्नान-आसन' इन नामों से आसनों को 38 डॉलर और उससे ज्यादा की कीमत पर कंपनी की वेबसाइट पर बेचा जा रहा है।

इससे पहले भी हिंदू देवताओं की तस्वीर वाले आसन बेचने के चलते ई-कंपनी वेफेयर की शिकायत की जा चुकी है।

--आईएएनएस

Published in दुनिया

सिंगापुर: एक भारतीय व्यक्ति पर सिंगापुर में क्रानजी युद्ध स्मारक के पास एक विश्वविद्यालय की छात्रा से दुष्कर्म का आरोप लगा है।

चीनी डेली लियान वानबाओ के अनुसार, 21 वर्षीय चिन्नइया कार्तिक ने कथित तौर पर 3-4 मई देर रात 1.30 बजे टर्फ क्लब एवेन्यू में 23 वर्षीय छात्रा के साथ जबरदस्ती की।

छात्रा ने कहा कि उसने खुद को बचाने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रही। सिंगापुर टर्फ क्लब और क्रानजी युद्ध स्मारक के बीच एक जंगल वाले इलाके में कार्तिक छात्रा को खींच कर ले गया और वहां उसने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया।

यह बात अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है कि घटना के समय छात्रा जॉगिंग कर रही थी या घर जा रही थी, या फिर यह हमला पूर्व निर्धारित था।

घटना के दो दिन बार पुलिस ने कार्तिक को उसी की डोरमेटरी के पास से गिरफ्तार किया।

कार्तिक की पहचान उस इलाके में रिकॉर्ड किए गए फुटेज के जरिए की गई।

वह रिमांड पर है और पुलिस घटना की जांच कर रही है।

कार्तिक को अगर गंभीर यौन अपराध का दोषी पाया जाता है, तो उसे आठ से 20 साल की जेल और कम से कम 12 बेंत की मार का सामना करना पड़ सकता है।

मामले की सुनवाई 3 जून को हाईकोर्ट में हो सकती है।

--आईएएनएस

 

 

Published in दुनिया

काबुल: अफगानिस्तान के हेलमंड प्रांत में शनिवार को हुए हवाई हमलों में आतंकवादी संगठन-तालिबान के 15 सदस्य मारे गए।

सरकार ने रविवार को इसकी जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने प्रेसिडेंशियल इंफॉर्मेशन कोऑर्डिनेशन सेंटर के हवाले से बताया है कि सांगिन, नाद अली मुसा किला जिलों में हुए हवाई हमलों में 15 तालिबान आतंकवादी मारे गए।

सरकारी बयान में यह नहीं बताया गया है कि यह हमला अफगान एअर फोर्स ने किया था या फिर इसके पीछे नाटो के नेतृत्व वाली संयुक्त सेना का हाथ है।

हेलमंड प्रांत अफीम की खेती के लिए कुख्यात है और इस पूरे इलाके पर तालिबान का कब्जा है।

अपने लोगों के मारे जाने की इस खबर पर तालिबान ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

--आईएएनएस

Published in दुनिया

बीजिंग: चीन की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2018 के अंत तक ऑक्यूपेशनल डिसीज (पेशे के कारण होने वाली बीमारी) के लगभग 9,70,000 मामले पाए गए, जिनमें 90 प्रतिशत मामले न्यूमोकोनियोसिस (मुख्यत: खांसी और सांस लेने में परेशानी के लक्षण) के थे।

यह आंकड़े चीन के सरकारी सूचना परिषद कार्यालय ने दिए हैं।

एक अध्ययन के अनुसार, 90 करोड़ी चीनी कर्मियों में से 2.5 करोड़ कर्मियों में प्रतिवर्ष कार्यस्थल पर बीमारियों में जकड़ जाते हैं, जिनमें सबसे ज्यादा लोग न्यूमोकोनियोसिस से पीड़ित होते हैं।

यह लंबे समय तक रहने वाली और जानलेवा बीमारी है, जिसमें धूल और छोटे कड़ों के अंदर जाने से फेफड़े प्रभावित होते हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के उपनिदेशक ली बिन के हवाले से कहा कि पैनल संबंधित विभागों के साथ साझेदारी कर न्यूमोकोनियोसिस की रोकथाम और इलाज का प्रयास करेगा।

ली ने इसके मरीजों को बीमारी के कारण आर्थिक विपन्नता से बचाने के लिए मेडिकल बीमा, मेडिकल सहयोग और जीविका में सहयोग करने के प्रयासों पर भी जोर दिया।

उन्होंने कहा कि आयोग कानून, सरकारी पर्यवेक्षण और पेशेवर स्वास्थ्य प्रशिक्षण में सुधार लाकर श्रम स्वास्थ्य को सुरक्षित करने के लिए भी प्रयास करेगा।

ली ने कहा कि कुल 10 प्रकार की 132 बीमारियों को चीन में ऑक्यूपेशनल बीमारियों की श्रेणी में रखा गया है। उन्होंने कहा कि अन्य पेशेवर खतरों में जहर, शो और रेडिएशन पर भी नियंत्रण होना चाहिए।

--आईएएनएस

 

 

Published in दुनिया

वाशिंगटन: अमेरिका स्टील और एल्युमिनियम पर से आयात शुल्क हटाने को लेकर कनाडा के साथ एक समझौते पर पहुंच गया है।

अमेरिका के इस कदम से उत्तर अमेरिकी व्यापार समझौते को मंजूरी मिल सकती है।

बीबीसी के मुताबिक, अमेरिका और कनाडा ने एक संयुक्त बयान में ऐलान किया है कि स्टील पर 25 प्रतिशत और एल्युमिनियम पर 10 प्रतिशत आयात शुल्क 48 घंटों में समाप्त हो जाएगा।

ऐसी उम्मीद की जा रही है कि अमेरिका और मेक्सिको भी जल्द ही ऐसी ही घोषणा कर सकते हैं।

अमेरिका ने पिछले साल 'राष्ट्रीय सुरक्षा' के आधार पर टैरिफ लगाया था।

समझौते के तहत इन तीनों देशों के लिए विदेशों से स्टील और एल्युमिनियम खरीदने की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है।

अमेरिका और कनाडा हालांकि आयात की निगरानी करेंगे और अगर यह पाया गया कि कोई देश बहुत अधिक खरीदारी कर रहा है तो अन्य कोई देश एक परामर्श का अनुरोध कर सकता है और फिर से आयात शुल्क लगाया जा सकता है।

आयात शुल्क हटाने का मुख्य कारण अमेरिका-कनाडा-मेक्सिको के बीच समझौते (यूएसएमसीए) को मंजूरी प्रदान करने के संदर्भ में देखा जा रहा है। समझौते पर 2018 में हस्ताक्षर हुए थे। इस समझौते ने उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौते की जगह ली थी।

अमेरिका और मेक्सिको भी स्टील और एल्युमिनियम पर लगे आयात शुल्क को हटाने पर सहमत हो जाते हैं तो अमेरिका-मेक्सिको और कनाडा अपनी सरकारों से यूएसएमसीए को मंजूरी देने के लिए कह सकते हैं।

कनाडा ने भी घोषणा की है कि वह भी अमेरिका से आयात होने वाले स्टील और एल्युमिनियम पर लगा शुल्क हटा लेगा। अमेरिका के आयात शुल्क लगाने के कदम के बाद कनाडा ने जवाबी कार्रवाई की थी।

--आईएएनएस

 

 

Published in दुनिया