बांदा: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती ने रविवार को अपने भाई आनन्द कुमार को पार्टी का उपाध्यक्ष और भतीजे आकाश आनन्द को राष्ट्रीय समन्वयक नियुक्त कर भले ही नई राजनीतिक इबारत लिखने की सोची है, मगर इससे बसपा को फायदा कम और नुकसान ज्यादा होने की उम्मीद है।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कुछ पुराने नेताओं का कहना है कि मायावती के छोटे भाई आनन्द कुमार और भतीजे आकाश आनन्द का बहुजन समाज के लिए अब तक हुए आंदोलनों से दूर-दूर का कोई वास्ता नहीं रहा। परिवार के सदस्यों को अचानक इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंप देने से दलितों के बीच मायावती की बची-खुची विश्वसनीयता भी दांव पर लग जाएगी। इन नेताओं का मानना है कि मायावती के इस कदम को बसपा से जुड़े नेता और स्वजातीय (जाटव) समर्थक भले ही 'मजबूरी' में स्वीकार कर लें, लेकिन पिछड़ा वर्ग और गैर जाटव दलित इसे कतई स्वीकार नहीं कर सकता। ऐसे में जहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उनके लिए बेहतर विकल्प होगी, वहीं दलितों की मुखर आवाज बनकर उभर रहे भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर की दलितों और अल्पसंख्यकों में पकड़ और मजबूत होगी, साथ ही उसका राजनीतिक कद भी बढ़ सकता है।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से तिंदवारी विधायक और फतेहपुर से सांसद रहे (अब बसपा से उपेक्षित) महेंद्र प्रसाद निषाद कहते हैं, "पार्टी संस्थापक दिवंगत कांशीराम के समय में कोई परिवारवाद नहीं था। उन्होंने बहुजन समाज के लिए अपना परिवार त्याग दिया था। उनके आंदोलनों में अल्पसंख्यक, गैर जाटव और पिछड़े वर्ग के लोगों को खूब तरजीह दी जाती रही है, लेकिन 'मायाकाल' में सभी को नेपथ्य में धकेल दिया गया।"

मायावती सरकार में राज्यमंत्री और नरैनी व बांदा सदर से विधायक रहे बाबूलाल कुशवाहा भी आजकल घर बैठे हैं। कुशवाहा कहते हैं, "साहब (कांशीराम) के समय में हम लोगों की जरूरत और पूछ दोनों थी। तब बसपा एक मिशन के रूप में काम करती थी। अब 'बहन जी' परिवारवाद की शिकार हैं। ऐसे में गैर जाटव और पिछड़े वर्ग के समर्थक बसपा से दूर होते जा रहे हैं। यही वजह है कि 2012 के विधानसभा चुनाव के बाद से बसपा का मत प्रतिशत घटा है और सीटें भी घटी हैं।"

उन्होंने कहा, "अब तक के बहुजन आंदोलनों में आनन्द कुमार और आकाश की कोई भूमिका नहीं थी। इसके पहले उन्हें कोई जानता तक नहीं था। लेकिन संघर्ष करने वाले अब घर बैठे हैं और वे राष्ट्रीय नेता बन गए हैं।"

एक सवाल के जवाब में कुशवाहा ने कहा कि "चन्द्रशेखर दलितों की मुखर आवाज बनकर उभर रहे हैं, उनकी पकड़ अल्पसंख्यकों और पिछड़ों पर भी है। वह भविष्य में बहुजन आंदोलन के अगुआ बन सकते हैं।"

बुंदेलखंड में कांशीराम के जमाने में चौधरी ध्रुवराम लोधी, शिवचरण प्रजापति, चैनसुख भारती, बाबू सिंह कुशवाहा, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, दद्दू प्रसाद, भगवती सागर जैसे नेता बसपा की नींव माने जाते थे। अब या तो इन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है या खुद पार्टी छोड़ कर चले गए हैं या फिर उपेक्षित होकर घर बैठ गए हैं। इनमें पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद भीम आर्मी में शामिल हो चुके हैं।

दद्दू प्रसाद कहते हैं, "बहन जी का हर कदम भाजपा के लिए फायदेमंद है। सपा-बसपा गठबंधन टूटने से भाजपा 'निर्भय' हुई है। 2022 के विधानसभा चुनाव में बसपा जमींदोज हो जाएगी और भीम आर्मी के चन्द्रशेखर आजाद दलितों के परिपक्व नेता बनकर उभरेंगे।"

--आईएएनएस

बलरामपुर: उत्तर प्रदेश में बलरामपुर जिले की देहात कोतवाली क्षेत्र के बेलहा गांव में शराब के नशे में छोटे भाई ने ईंट से कुचल कर कथित रूप से अपने बड़े भाई की हत्या कर दी और वह फरार हो गया। पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने मंगलवार को बताया, "बेलहा गांव में सोमवार रात शादी समारोह के दौरान बाबादीन शराब के नशे में उपद्रव करने लगा। उसके बड़े भाई राजकिशोर (42) ने उसे रोकने की कोशिश की, तो वह नाराज हो गया और ईंट उठाकर अपने भाई के ऊपर ताबड़तोड़ कई बार प्रहार किया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई।"

उन्होंने बताया, "इस संबन्ध में बाबादीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और फरार बाबादीन की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।"

--आईएएनएस

 

बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश): बुलंदशहर जिले में सोमवार रात एक आदमी ने दो महिलाओं को कार से कुचला दिया, जिससे वह घायल हो गईं। इसी व्यक्ति ने पहले कथित तौर पर परिवार की एक महिला से छेड़छाड़ करने की कोशिश की थी। एक सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि कार बहुत तेज गति से आती है और फिर महिलाओं के ऊपर से गुजर जाती है। महिलाओं की मदद के लिए राहगीरों को आते देख कार वहां से तेजी से निकल जाती है।

शुरुआत में दुर्घटना का मामला दर्ज करने वाली पुलिस ने कहा कि वे आरोपियों पर लगे छेड़छाड़ के आरोपों की भी जांच कर रही है।

एक निवासी द्वारा रिकॉर्ड किए गए वीडियो में एक 22 वर्षीय महिला ने आरोप लगाया कि पड़ोसी गांव के रहने वाले आरोपी ने उसके साथ दुर्व्यवाहर किया था।

महिला ने यह भी आरोप लगाया कि आदमी ने उनके ऊपर कार चलाने से कुछ मिनट पहले ही उसे धमकी दी थी।

सहायक पुलिस अधीक्षक अतुल श्रीवास्तव ने कहा, "हमें शुरू में बताया गया था कि यह एक ट्रक दुर्घटना थी और हमने मामला दर्ज किया। लेकिन, अब परिवार ने एक लिखित शिकायत दी है कि छेड़छाड़ के प्रयास में असफल रहने के बाद घटना को अंजाम दिया गया। हमने उसे प्राथमिकी में शामिल किया है और आरोपी को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रहे हैं।"

--आईएएनएस

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के तिंदवारी थाना क्षेत्र के धौंसड़ गांव में मंगलवार को तालाब में डूब रही एक बच्ची को बचाने गए दो बच्चे भी डूब गए और उनकी मौत हो गई। अपर पुलिस अधीक्षक लाल भरत कुमार पाल ने बताया, "मंगलवार सुबह करीब नौ बजे तालाब में नहाते वक्त एक आठ साल की बच्ची डूबने लगी। वहीं नहा रहे दो बच्चे अतुल (10) और समीर (12) उसे बचाने के लिए गहरे पानी में चले गए। दोनों ने डूब रही बच्ची को तो बचा लिया, लेकिन खुद दोनों डूब गए।"

उन्होंने बताया, "दोनों बच्चों के परिजन उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तिंदवारी ले गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया है। इस संबंध में एक मामला दर्ज कर दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेज कर जांच आरंभ कर दी गई है।"

--आईएएनएस

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को लोकभवन में हुई कैबिनेट की बैठक में कुल छह प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। प्रदेश सरकार के मंत्री व सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे के लिए 12, 000 करोड़ रुपये की जरूरत है। इसके लिए बैंकों के माध्यम से वित्तपोषण का प्रस्ताव पारित हुआ। इससे संबंधित दस्तावेज को कैबिनेट की मंजूरी प्रदान की गई है।

इसके अलावा उन्होंने बताया कि सिविल प्रक्रिया अधिनियम-1908 के तहत धारा-102 और धारा-115 के आपसी सुलह और मध्यस्थता से निपटाए जाने वाले विवाद अब उच्च न्यायालय की जगह जनपद अदालतों में सुने जा सकेंगे। इनकी जमानत राशि भी क्रमश: 25 हजार से बढ़ाकर 50 हजार रुपये और पांच लाख से बढ़ा कर 25 लाख रुपये कर दी गई है। इससे विवादों का जल्द निपटारा होगा। जिला जज के अलावा एडीजे भी मामले सुन सकेंगे।

शर्मा ने बताया कि सरकारी प्रिंटिंग का काम पहले बाहरी एजेंसी को दिया जाता था। 2002 में इसे बंद कर दिया गया था। अब फिर से ई-टेंडर के जरिए निजी क्षेत्र को भी प्रिंटिंग का काम दिया जा सकेगा।

इस काम में हालांकि सरकारी प्रेस को वरीयता दी जाएगी। इसके लिए 50 लाख, 1 करोड़ और 2 करोड़ की तीन श्रेणी फर्म की होगी। ईएसआई, जीएसटी और ईपीएफ रजिस्ट्रेशन जरूरी होगा।

मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के सीधे खाते में पैसा पहुंचेगा।

प्रयागराज के उच्च न्यायालय परिसर में रोड, कांफ्रेंस हाल, वीआइपी सूइट 4399 लाख रुपये से बनेगा। साथ ही उच्च न्यायालय परिसर में वकील के चेम्बर और मल्टीलेवल पार्किं ग का भी अनुमोदन किया गया है, जिस पर 530 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं।

--आईएएनएस

 

सहारनपुर: एक चौकाने वाली घटना के तहत उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आवारा कुत्तों ने तीन महीने के एक मासूम बच्चे को मार डाला। यह घटना बेहट क्षेत्र के दयालपुर गांव में हुई। आवारा कुत्ते आंगन में सो रहे बच्चे को उठाकर ले गए।

मंगलवार सुबह, मासूम का विकृत शव खेतों में मिला। शव का सर गायब था।

पिछले साल अप्रैल में सीतापुर जिला में आवारा कुत्तों ने लगभग एक दर्जन बच्चों को मार डाला था। इसके बाद लोगों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजना और यहां तक कि घर से बाहर भेजना भी बंद कर दिया था।

ग्रामीण इन क्षेत्रों में आवारा कुत्तों की बढ़ती संख्या का समाधान निकालने की मांग कर रहे हैं।

आवारा कुत्तों पर लगाम लगाने के लिए मथुरा से एक विशेष टीम बुलाई गई है।

--आईएएनएस

बांदा/लखनऊ: उत्तर प्रदेश के भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग की निदेशक डॉ. रोशन जैकब ने बालू का अवैध खनन किये जाने के मामले में बांदा जिले के 14 बालू पट्टाधारकों को 'कारण बताओ' नोटिस जारी किया है। इसके पूर्व अवैध खनन की संलिप्तता पर खनिज अधिकारी को हटाया जा चुका है। डॉ. रोशन ने मंगलवार को फोन पर आईएएनएस को बताया, "निदेशालय स्तर से गठित सर्वेक्षण टीम ने पिछले दिनों बांदा जिले में विभिन्न खनन पट्टा क्षेत्रों की जांच की थी, जिसमें पाया गया कि 14 पट्टाधारकों ने बालू का खनन मात्रा से अधिक किया है। जबकि जारी ईएमएम-11 (रवन्ना पर्ची) रिकार्ड में खनन कम दशार्या गया है।"

उन्होंने बताया कि इन पट्टाधारकों को नोटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब मांगा गया है, जवाब न मिलने की दशा में कार्रवाई की जाएगी।

इसके सप्ताह भर पहले निदेशक ने खुद बांदा जिले की कई बालू खदानों का आकस्मिक निरीक्षण कर अवैध खनन पकड़ा था और संलिप्तता पाए जाने पर यहां के खनिज अधिकारी शैलेन्द्र सिंह को हटा कर निलंबन की संस्तुति की थी और चार पट्टाधारकों के खिलाफ अवैध खनन की प्राथमिकी दर्ज करवाई थी।

--आईएएनएस

लखनऊ: लखनऊ पुलिस बीते दिनों की याद दिलाने जा रही है। अभी तक आपने देर रात चौकीदार को लाठी-डंडे के साथ 'जागते रहो' बोलते हुए देखा और सुना होगा, लेकिन उत्तर प्रदेश में अब सड़क पर चौकीदार नहीं बल्कि पुलिस लोगों को 'जागते रहो' कहती नजर आएगी। अब लखनऊ की '100 डायल' की गाड़ियों में रात में 'जागते रहो' का सायरन बजेगा। अभी पुलिस फिलाहल ट्रायल कर रही है। सफल होने पर इसे लागू करने का रणनीति बनेगी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "ट्रायल के रूप में हजरतगंज सर्किल की सभी गाड़ियों पर 'जागते रहो' के सायरन लग गए हैं। लखनऊ पुलिस ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे शुरू किया है और 'जागते रहो' सायरन से पूरे क्षेत्र में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। यूपी पुलिस का मानना है कि नए सायरन की पहल से अपराध पर कुछ लगाम जरूर लगेगी।"

हजरतगंज में रहने वाले एक व्यवसायी रमेश नैथानी ने कहा, "कि यह एक अच्छी मुहिम है। सायरन से भ्रम पैदा होता है। क्योंकि लोगों ने अब मोटर साइकिलों में भी इस तरह के हूटर लगा लिये हैं। इस तरह से कुछ अलग करने से लोग चौकन्ने रहेगें।"

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ़पी़ सिंह ने कहा, "हमने अपराध के ग्राफ को बहुत हद तक नियंत्रित किया है। हम लोगों के मन में पुलिस बल की अच्छी छवि बनाने की कोशिश कर रहे हैं और नई पहल कर रहे हैं। यह उनमें से एक है।"

--आईएएनएस

Published in लखनऊ

हरदोई/षाहजहांपुर/जलौन: उत्तर प्रदेश में सोमवार को भारी बारिश के दौरान तीन जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से छह लोगों की मौत हो गई।

हरदोई जिले में मूसलाधार बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। मौसम की मार से मवेशियों को भी जान गंवानी पड़ी। सिर्फ जालौन में ही 40 बकरियां मारी गईं।

पुलिस के अनुसार, "बेहटागोकुल थाना क्षेत्र के यासीनपुर गांव में आकाशीय बिजली गिरने से हरिद्वारी और एक महिला की मौत हो गई। ये लोग एक विवाह समारोह में आए थे और बारिश से बचने के लिए एक पेड़ के नीचे खड़े हो गए। अचानक आकाशीय बिजली गिरी और दोनों की मौत हो गई।"

शाहजहांपुर में मिर्जापुर थानाक्षेत्र के सिकटिया गांव में तेज आंधी के बाद बगिया में पेड़ से गिरे आम बीनने गए एक किशोर एवं एक किशोरी की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई।

थाना प्रभारी सुधाकर पांडे के अनुसार, सनी एवं खुशबू दोपहर आई तेज आंधी में आम के पेड़ से गिरे आम उठाने गए थे। इसी बीच पानी गिरने लगा तो वे पेड़ के नीचे खड़े हो गए। अचानक आकाशीय बिजली गिरने से दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

जालौन में एट थानाक्षेत्र के बिलायां गांव में आकाशीय बिजली गिरने से आसाराम की मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद ने बताया कि कोच कोतवाली क्षेत्र के सतोह गांव में आकाशीय बिजली गिरने से सूरज की मौत हो गई।

--आईएएनएस

लखनऊ: अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा है कि उत्तर प्रदेश के इस शहर में एक चार वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म की झकझोर देने वाली खबर सामने आई है। रिपोटरें के मुताबिक, घटना शुक्रवार रात जाकिर नगर इलाके में हुई। आरोपी 10 रुपये का नोट दिखाकर बच्ची को बहला फुसला कर एकांत स्थान पर ले गया और फिर उसने उसके साथ दुष्कर्म किया।

बाद में लड़की को उसके परिवार के सदस्यों ने गंभीर हालत में पाया। उसे दीन दयाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपी की पहचान हो गई है और वह फरार है लेकिन जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है।

इससे पहले दो जून को ढाई साल की एक बच्ची का शव क्षत-विक्षत हालत में कचरे के ढेर से बरामद हुआ था। उसकी गर्दन के आसपास चोट के निशान थे और उसकी आंखें निकाल ली गई थीं।

बाद में पता चला कि आरोपियों ने बच्ची की हत्या इसलिए कर दी थी क्योंकि उसके पिता ने 10,000 रुपये उधार लिए थे और पैसे वापस नहीं कर पाया था। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन इस घटना के कारण देशभर में आक्रोश देखने को मिला।

--आईएएनएस