कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनुव्रत मंडल एक छोटी सर्जरी के लिए रविवार को यहां के एसएसकेएम सरकारी अस्पताल में भर्ती हुए हैं। अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी। चिकित्सकों के अनुसार, तृणमूल कांग्रेस के बीरभूम जिला अध्यक्ष मंडल को विशेष निगरानी में रखा गया है, क्योंकि वह उच्च स्तर के मधुमेह और उच्च रक्तचाप से भी पड़ित हैं।

मंडल की देखरेख कर रहे चिकित्सक ने कहा, "मंडल को एसएसकेएम में शुक्रवार (5 जुलाई) को उच्च स्तर के मधुमेह की स्थिति में भर्ती किया गया। आज उनके फिस्चुला का ऑपरेशन किया गया। हमने पहले दो दिन के लिए उन्हें विशेष निगरानी में रखा है, क्योंकि वह हाई ब्लड शुगर और हाई ब्लड प्रेशर से भी पड़ित हैं।"

उन्होंने कहा कि ऑपरेशन सफल रहा। अगर उनकी हालत स्थिर रही तो अगले 48 घंटों में उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल जाने की संभावना है।

मंडल का पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी के साथ हार्दिक संबंध रहा है। वह पार्टी कार्यकर्ताओं से 'पुलिस पर बम फेंको' कहने सहित कई विवादास्पद बयानों के कारण सुर्खियों में रहे हैं।

राज्य में हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान बीरभूम में मतदान के दिन उन पर कड़ी नजर रखी गई थी, क्योंकि उन्होंने मतदान अधिकारियों को कथित तौर पर धमका कर उनकी पार्टी के हित में काम करने के लिए कहा था।

लोकसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद से हालांकि वह जनता की नजर से ओझल रहे। तृणमूल हालांकि कांग्रेस बीरभूम में दो लोकसभा सीटें जीतने में कामयाब रही। लेकिन भाजपा कई विधानसभा क्षेत्रों में आगे रही।

--आईएएनएस

Published in कोलकाता

सहारनपुर: तृणमूल कांग्रेस(टीएमसी) की सांसद व बंगाली फिल्मों की अभिनेत्री नुसरत जहां इन दिनों मौलानाओं के निशाने पर हैं। सिंदूर लगाने और मंगलसूत्र पहनने को लेकर उलेमाओं के निशाने पर आईं नुसरत जहां अब भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा में भाग लेने पर एक बार फिर चर्चाओं में हैं। इस्कॉन द्वारा कोलकाता में जगन्नाथ रथयात्रा में विशेष आमंत्रण पर नुसरत ने अपने पति के साथ रथयात्रा में भाग लिया। इस पर फतवा ऑनलाइन के प्रभारी मुफ्ती अरशद फारूकी ने कहा कि मुसलमान किसी दूसरे धर्म की निशानी या गतिविधियों में भाग नहीं ले सकता है।

मजलिस इत्तेहाद-ए-मिल्लत के प्रदेशाध्यक्ष मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा, "नुसरत जहां अगर यह इकरार करें कि उन्होंने मुस्लिम धर्म छोड़ दिया है, तो फिर वह कुछ भी करने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन अगर वह मुसलमान हैं तो मुस्लिम धर्म के अनुसार जिंदगी गुजारें और इस्लाम मजहब के हिसाब से इबादत करें। यदि वह किसी दूसरी तरह से इबादत करती है, तो वह गुनहगार हैं।"

जमीयत दावतुल मुसलिमीन के संरक्षक मौलाना कारी इसहाक गोरा ने कहा कि शरीयत के अनुसार, इस्लाम में रहते हुए मुसलमान केवल अल्लाह की इबादत कर सकता है।

इससे पहले भी देवबंद के धर्मगुरुओं ने तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां के खिलाफ साड़ी, सिंदूर और मंगलसूत्र पहनकर संसद में शपथ लेने पर फतवा जारी किया गया था। देवबंद के धर्मगुरुओं का कहना था कि मुस्लिम लड़कियों को सिर्फ मुस्लिम लड़कों से ही निकाह करना चाहिए।

मुस्लिम धर्मगुरु असद वसमी ने कहा था, "जांच के बाद पता चला कि नुसरत ने जैन धर्म के युवक से शादी की है। इस्लाम कहता है कि मुस्लिम की शादी मुस्लिम से होनी चाहिए।"

गौरतलब है कि नुसरत ने 19 जून को कारोबारी निखिल जैन से तुर्की में शादी की थी। वह पश्चिम बंगाल के बशीरहाट से सांसद हैं। वह 3़5 लाख वोटों से जीती थीं।

--आईएएनएस

Published in कोलकाता

नई दिल्ली: तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद महुआ मोइत्रा ने गुरुवार को एक हिंदी समाचार चैनल और उसके एंकर के खिलाफ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया। उन्होंने पिछले सप्ताह संसद में दिए गए भाषण को गलत तरीके से पेश करने के कारण यह प्रस्ताव रखा। मोइत्रा ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कहा, "सर नियम 225 के तहत मैंने जी टीवी और उसके संपादक सुधीर चौधरी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस दिया है।" उन्होंने पहले प्रश्नकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाने की कोशिश की मगर स्पीकर ओम बिड़ला ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी।

पिछले हफ्ते भी मोइत्रा ने अपने भाषण में फासीवाद की ओर इशारा करते हुए मोदी सरकार को खूब कोसा। मोइत्रा ने कहा कि उन्होंने अमेरिका में द्वितीय विश्व युद्ध के प्रलय स्मारक में इन 'फासीवाद के संकेतों' के बारे में पढ़ा था। इस भाषण की सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हुई। मगर इसके बाद मोइत्रा पर साहित्यिक चोरी के आरोप भी लगे।

हालांकि अमेरिकी टिप्पणीकार मार्टिन लॉन्गमैन ने बुधवार को यह स्पष्ट कर दिया कि मोइत्रा पर लगाए गए आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। इसके बाद टीएमसी सांसद ने मीडिया को फटकार लगाई।

मोइत्रा ने ट्वीट किया, "इसका कारण यह है कि झूठ जनता को बेचैन करने के कारण बेचा जाता है। क्योंकि अपराधियों को उन शक्तियों द्वारा अशुद्धता की अनुमति दी जाती है।"

इसी के साथ मोइत्रा ने अपने ट्विटर हैंडल पर जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी को टैग करते हुए लॉन्गमैन के स्पष्टीकरण को साझा किया, जिन्होंने दावा किया था कि उनके भाषण के शब्दों में साहित्यिक चोरी हुई है।

--आईएएनएस

कोलकाता: बंगाली अभिनेत्री व सांसद नुसरत जहां, गुरुवार को इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ कृष्ण कांसियसनेस (इस्कॉन) की रथ यात्रा में अपने पति निखिल जैन के साथ शामिल हुईं। हर साल की तरह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कार्यक्रम का उद्धाटन किया। इस साल कार्यक्रम में नुसरत को भी आमंत्रित किया गया था।

पारंपरिक साड़ी, मंगलसूत्र, और चूड़ी पहने नवविवाहित तृणमूल सांसद ने बनर्जी और अन्य गणमान्य लोगों के साथ रथ यात्रा के सभी रस्मों में भाग लिया।

आज शाम को यहां के एक पांच सितारा होटल में नुसरत अपनी शादी का रिसेप्शन देने वाली हैं। उन्होंने कहा, "मैं सौभाग्यशाली हूं, जो इस्कॉन द्वारा मुझे आमंत्रित किया गया और मैं इस कार्यक्रम का हिस्सा बन कर गौरवांवित महसूस कर रही हूं। पश्चिम बंगाल सभी धार्मिक आयोजन साथ मिलकर बिना किसी सांप्रदायिक मतभेद के मनाता है। "

इस साल राज्य की राजधानी में इस्कॉन 48वां रथ यात्रा मना रहा है।

--आईएएनएस

 

 

 

Published in कोलकाता

कोलकाता: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार को चिटफंड घोटाला मामले के संबंध में बंगाली कलाकार शुभप्रसन्ना और व्यापारी शिवाजी पांजा को तलब किया। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। शुभप्रसन्ना को करोड़ों रुपये के शारदा चिटफंड घोटाला मामले में 4 जुलाई को तलब किया गया है, जबकि पांजा को रोज वैली जांच के संबंध में 9 जुलाई को बुलाया गया है।

दोनों को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व उनकी पार्टी का करीबी माना जाता है।

उन्हें एजेंसी के कोलकाता कार्यालय-सीजीओ कांप्लेक्स में अधिकारियों के समक्ष पेश होने को कहा गया।

पांजा एक व्यापारी है, जिनकी फिल्म प्रोडक्शन में भी हिस्सेदारी है। पांजा से 20 जून को सीबीआई द्वारा पोंजी घोटाला मालिकों द्वारा पेंटिग्स की खरीद के बारे में पूछताछ की गई थी।

केंद्रीय एजेंसी ने शुभप्रसन्ना से साल 2014 में शारदा चिटफंड के मालिक सुदीप्त सेन के हाथों एक असंचालित टीवी चैनल बेचने के बावत पूछताछ की थी।

--आईएएनएस

Published in कोलकाता

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पश्चिम मिदनापुर जिले में सोमवार सुबह तृणमूल कांग्रेस के एक नेता के घर के पास उनका शव मिला। पुलिस ने यह जानकारी देते हुए कहा कि नारायणगढ़ में ब्लॉक के तृणमूल नेता गणेश भुइंया का शव सड़क किनारे झाड़ियों से बरामद किया गया। उनके शरीर पर चोट के निशान थे।

तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे ' भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थित असामाजिक तत्वों का' हाथ है।

जिले के एक तृणमूल नेता ने कहा, "भाजपा बंगाल में हिंसा और खून की राजनीति कायम करना चाहती है। वे क्षेत्रों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए हत्याओं, लूट, बर्बरता और आगजनी का सहारा ले रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस अभी भी हर संभव तरीके से लोकतांत्र की रक्षा करने की कोशिश कर रही है।"

उन्होंने कहा, "बंगाल में सिर्फ 18 लोकसभा सीटें जीतने के बाद वे जिस तरह से लोगों को आतंकित करने की कोशिश कर रहे हैं, वह उनका असली रंग दिखाता है। हम उनकी इस राजनीति का कड़ा विरोध करते हैं।"

हालांकि, भाजपा नेताओं ने इन आरोपों का खंडन किया और दावा किया कि तृणमूल नेतृत्व के भीतर ही किसी ने भुइंया की हत्या करवाई है।

यह घटना हुगली जिले के वांडर रेलवे स्टेशन में एक तृणमूल नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या करने के दो दिन बाद हुई है।

--आईएएनएस

 

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के विधायक उदयन गुहा ने आरोप लगाया कि रविवार को पश्चिम बंगाल के कूच बिहार जिले में जब वह पार्टी के एक कार्यक्रम में जा रहे थे, तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने फिजूल सवाल पूछकर उन्हें परेशान किया और उनकी कार में तोड़फोड़ की। उन्होंने कहा, "मैंने जनसंयोग यात्रा (जनसंपर्क कार्यक्रम) की योजना बनाई है। इसी सिलसिले में मैं सीतलकुची जा रहा था। कुछ भाजपा समर्थकों ने मेरा रास्ता रोक लिया और 'गो बैक' के नारे लगाने लगे। जब मैं उनसे भिड़ गया तब वे मुझसे ऊलजुलूल सवाल करने लगे और उन्होंने मेरी कार में तोड़फोड़ की।"

पुलिस ने कहा कि जांच चल रही है। दोषियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

गुहा ने आरोप लगाया कि भाजपा तृणमूल के कार्यक्रम में बाधाएं डाल रही है, ताकि वे लोग अपनी गुंडागर्दी जारी रख सकें।

उन्होंने कहा, "मेरी कार और मुझ पर हमले का उनका मकसद था मुझे लोगों के बीच पहुंचने से रोकना। वे लगातार गुंडागर्दी कर रहे हैं। लेकिन कोई हमें रोक नहीं सकता।"

गुहा ने यह भी कहा, "अगर हमारी पार्टी के कार्यकर्ता मुझ पर हमले का जवाब देने पर उतर जाएं तो क्या वे खुद को संभाल पाएंगे? हमें नहीं पता।"

तृणमूल विधायक के आरोपों का जवाब देते हुए राज्य भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने कहा, "गुहा पहले से ही परेशान हैं और तथ्य यह है कि वह अपनी पार्टी के जबरन वसूली और आम आदमी को सताने के नतीजों का सामना कर रहे हैं।"

--आईएएनएस

 

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में रेलवे स्टेशन पर शनिवार सुबह तृणमूल नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने यह जानकारी दी।

तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता और जिले के तृणमूल ग्राम पंचायत की प्रधान के पति दिलीप राम की गोली मारकर उस वक्त हत्या कर दी गई, जब वह सुबह 10 बजे के करीब हुगली के बंडेल जंक्शन रेलवे स्टेशन पर स्थानीय ट्रेन का इंतजार कर रहे थे।

अपने नेता की हत्या के खिलाफ सत्तारूढ़ पार्टी ने जिले के चिंसुराह शहर में रविवार को 24 घंटे के बंद का आह्वान किया है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, मृतक एक रेलवे कर्मचारी था, जो उत्तर 24 परगना जिले के नैहटी में तैनात था और हर दिन ट्रेन से कार्यालय जाता था।

पुलिस ने कहा कि घटना के बाद राम को तत्काल स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे नाजुक हालत के चलते कोलकाता के लिए रेफर कर दिया गया, लेकिन रास्ते में उसने दम तोड़ दिया।

चंद्रनगर के पुलिस आयुक्त अखिलेश कुमार चतुर्वेदी ने कहा, "राम को आज (शनिवार) सुबह बंडेल स्टेशन पर गोली मार दी गई और बाद में अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। हम घटना की जांच कर रहे हैं। पुलिस आयुक्त कार्यालय के संज्ञान में रखते हुए बंदेल जीआरपी के तहत मामला दर्ज किया गया है। "

उन्होंने कहा, "अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। हम बदमाशों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।"

घटना को लेकर तृणमूल और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक दूसरे पर आरोप लगा रही है।

स्थानीय तृणमूल नेतृत्व ने पुलिस पर मामले को लेकर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि अगर पुलिस ने समय रहते कदम उठाए होते तो घटना को रोका जा सकता था।

मृतक की पत्नी ने दावा किया कि 23 मई को 2019 के संसदीय चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद से उनके पति को स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं से कई बार धमकी मिली थी।

--आईएएनएस

Published in कोलकाता

कोलकाता: तृणमूल के आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के हिंसा प्रभावित क्षेत्र भाटपाड़ा का दौरा किया। राजनीतिक संघर्ष के दौरान पुलिस की कथित गोलीबारी में दो लोगों की मौत होने के एक हफ्ते बाद तृणमूल प्रतिनिधिमंडल ने यहां का दौरा किया। तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राज्य के खाद्य मंत्री ज्योतिप्रियो मलिक, शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम, अग्नि मंत्री सुजीत बोस, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री ब्रात्य बसु और पार्टी के विधायक पार्थ भौमिक व निर्मल घोष ने शुक्रवार की दोपहर भाटपाड़ा पहुंचकर स्थानीय लोगों से बात की।

हकीम ने कहा, "यहां लोगों के लिए हालात अच्छे नहीं हैं। कई इलाकों में निरंतर बम विस्फोट हुए हैं। हम स्थिति का जायजा ले रहे हैं। हम पुलिस कमिश्नर से बात करेंगे।"

बसु ने कहा, "हम चाहते हैं कि इलाके में शांति बहाल हो। निर्दोष लोगों पर बम फेंकने और इलाके में अशांति फैलाने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने पिछले सप्ताह यहां का दौरा किया था और मृतकों के परिवार से भी मुलाकात की थी।

बुद्धिजीवियों के एक दल ने गुरुवार को कांकिनाड़ा-भाटपाड़ा इलाके में रैली भी की और लोगों से शांति बहाल करने का आग्रह किया।

बैरकपुर संसदीय क्षेत्र में आने वाले भाटपाड़ा और उसके निकटवर्ती कांकिनाड़ा, जगद्दल, नैहाटी में 23 को आम चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद से वहां माहौल गर्म है।

हाल ही में 20 जून को हुई घटना में उस वक्त दो लोग मारे गए और कम से कम चार घायल हो गए जब पुलिस ने गोली चला दी।

--आईएएनएस

नई दिल्ली: अभिनेत्री से राजनेता बनीं नव निर्वाचित तृणमूल कांग्रेस सांसद नुसरत जहां रूही व मिमी चक्रवर्ती ने मंगलवार को 17वीं लोकसभा के सदस्य के तौर पर बांग्ला में शपथ ली। दोनों पहले शपथ नहीं ले सकी थीं। नुसरत जहां ने हाल ही में व्यापारी निखिल जैन से तुर्की में शादी रचाई और मिमी इस शादी समारोह में गई थीं।

नुसरत संसद में सफेद व बैंगनी रंग की साड़ी में आई थीं। उनके हाथों में मेहंदी लगी थी। मिमी भी पारंपरिक भारतीय पोशाक में थीं।

शपथ लेने के बाद नुसरत जहां ने कहा कि उनकी प्राथमिकता में कई चीजें हैं और वह संसद में अपने मतदाताओं के मुद्दों को उठाएंगी।

नुसरत जहां पश्चिम बंगाल के बशीरहाट से व मिमी चक्रवर्ती जादवपुर से निर्वाचित हुई हैं। दोनों ने बांग्ला में शपथ ली और शपथ के बाद 'वंदे मातरम', 'जय हिंद' व 'जय बांग्ला' का नारा लगाया।

--आईएएनएस

Published in देश