जकार्ता: भारत के सात्विकसाइराज रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की पुरुष युगल जोड़ी ने यहां जारी इंडोनेशिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में मंगलवार को जगह बना ली। रेंकीरेड्डी-शेट्टी की जोड़ी ने पहले दौर के मुकाबले में मलेशिया के गोह जे फेई और नूर इजुद्यीन की जोड़ी को 21-19, 18-21, 21-19 से मात दी। भारतीय जोड़ी ने इस मुकाबले को एक घंटे में अपने नाम किया।

अगले दौर में भारतीय जोड़ी का सामना टॉप सीड मेजबान इंडोनेशिया के मार्कस फर्नाल्डी गिडोन और केविन संजया सुकामुल्जो से होगा।

इस बीच, महिला युगल के पहले दौर में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा।

मलेशिया की विवियन हू और याप चेंग वेंग की जोड़ी ने पोनप्पा और सिक्की की जोड़ी को एक घंटे 20 मिनट में 22-20, 20-22, 22-20 से मात दी।

मिश्रित युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को अभी अपना पहला मुकाबला खेलना है। यह जोड़ी नीदरलैंड्स के रोबिन ताबलेंग और सेलेना पीक की जोड़ के खिलाफ कोर्ट पर उतरेगी।

--आईएएनएस

Published in अन्य

नई दिल्ली: प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) फ्रेंचाइजी यूपी योद्धा ने चीन की कंपनी ट्रांसिसन होल्डिंग्स की सब-5के कटेगरी के मोबाइल ब्रांड-आईटेल को अपना आधिकारिक साझेदार बनाए जाने की मंगलवार को घोषणा की। इस करार के बाद यूपी योद्धा के खिलाड़ी अब मैचों के दौरान आईटेल की ब्रांडेड टीम जर्सी में नजर आएंगे।

यूपी योद्धा ने इस दौरान अपने डिफेंडर नितेश कुमार को सीजन सात के लिए टीम का कप्तान बनाए जाने की भी घोषणा की।

इस अवसर पर ट्रांसिसन इंडिया के सीईओ अरिजीत तालापात्रा ने कहा, "कबड्डी टीम यूपी योद्धा का आधिकारिक साझेदार बनने से हम बहुत खुश हैं। इसके साथ ही आईटेल ने भारत में अपने इतिहास में खेल मनोरजंन में भी प्रवेश कर लिया है।"

उन्होंने आगे कहा, "यूपी योद्धा के साथ इस साझेदारी के माध्यम से हम अपने ब्रांड के साथ लोगों का जुड़ाव भी बढ़ाना चाहते हैं। साथ ही हमारा मकसद है कि इस ब्रांड पर तेजी से लोगों का ध्यान जाएं और वे इससे परिचित हो ताकि हम अपने उपभोक्तताओं से जुड़ेंगे और नए बाजार खोलेंगे।"

आईटेल बिजनेस यूनिट के हेड मार्केटिंग गोल्डी पटनायक ने कहा, "आज के समय में कबड्डी एक स्वदेशी खेल बन गया है और यह सभी प्रकार के लोगों को रोमांचित करता है। इसी तरह आईटेल भी इसी तरह के लोगों का ब्रांड बन गया है ,जो कि सस्ते में टेक्नॉलोजी प्रदान करता है।"

उन्होंने कहा, "हम यूपी योद्धा के साथ अपनी साझेदारी को लेकर आश्वस्त हैं और हमें विश्वास है कि लीग की बढ़ती लोकप्रियता के साथ हमारे संबंध और मजबूत होंगे।"

इस अवसर पर जीएमआर के उपाध्यक्ष विनोद बिष्ठ ने कहा, "आईटेल के साथ साझेदारी कर बेहद उत्साहित हैं क्योंकि यह ब्रांड हमारे मूल्यों को दर्शाता है और सस्ते दर पर टेक्नॉलोजी उपलब्ध कराता है।"

उन्होंने कहा, "पिछले कुछ वर्षो में इस लीग को काफी लोकप्रियता मिली है और अब यह भारत की दूसरी सबसे लोकप्रिय लीग बन गई है। इससे आइटेल को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलेगी।"

20 जुलाई से शुरू हो रहे लीग के सातवें सीजन में यूपी योद्धा को अपना पहला मैच 24 जुलाई को हैदराबाद में बंगाल वॉरियर्स के साथ खेलना है।

इस सीजन के लिए यूपी योद्धा की टीम :

रेडर्स : अंकुश, आजाद सिंह, गुलवीन सिंह, मोहम्मद मसूद करीम, मोनू गोयत, रिषांक देवदिगा, श्रीकांत जाधव, सुरेंद्र सिंह।

डिफेंडर्स : आशीष नागर, अमित नरवाल, अकरम शेख, नितेश कुमार (कप्तान)।

ऑलराउंडर्स : गुरदीप, मोहसीन मोगसुदजाफरी, नरेंद्र, सचिन कुमार।

--आईएएनएस

Published in अन्य

सुहल (जर्मनी): इलावेनिल वालारिवान ने सोमवार को जूनियर विश्व कप में हमवतन मेहुली घोष को 1.4 अंकों के अंतर से हरा स्वर्ण पदक अपने पास रखा है।

इलावेनिल ने फाइनल में 251.6 का स्कोर किया। क्वालीफिकेशन में शीर्ष पर रहने वाली मेहुली को दूसरे स्थान पर ही रोक दिया गया। फ्रांस की मारियाने मुलर के हिस्से कांस्य पदक आया।

इलावेनिल और मेहुली ने श्रेया अग्रवाल के साथ 625.4 के स्कोर के साथ टीम स्पर्धा का स्वर्ण भी हासिल किया। इन तीनों ने मिलकर 1883.3 का स्कोर किया जो जूनियर विश्व रिकार्ड भी है। इसी के साथ भारत ने इस टूर्नामेंट में पदक तालिका में पहला स्थान हासिल किया है। भारत के हिस्से छह स्वर्ण, छह रजत और दो कांस्य पदक आए हैं।

रूस और नार्वे को दो स्वर्ण पदक मिले हैं जबकि चीन, आस्ट्रिया, थाईलैंड और जर्मनी के हिस्से एक-एक स्वर्ण पदक आया।

जूनियर पुरुष ट्रैप स्पर्धा में भोवनेश मेहंदीरत्ता ने 116 का स्कोर किया लेकिन फाइनल में जाने से तीन अंक से चूक गए।

--आईएएनएस

 

 

 

Published in अन्य

नई दिल्ली: भारत की प्रमुख राष्ट्रीय तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉपोर्रेशन लिमिटेड (आईओसीएल) खेलों को बढ़ावा देने के लिए कुश्ती, निशानेबाजी और मुक्केबाजी सहित अन्य खेलों को भी अपने कोटे में शामिल करने पर विचार कर रहा है। इंडियन ऑयल ने सोमवार को यहां आयोजित 'स्पोर्ट्स कॉन्क्लेव 2019' में इसकी जानकारी दी। इस दौरान कंपनी ने अपने उन खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया, जिन्होंने करियर के शुरुआती दिनों में कंपनी से जुड़कर खेल जगत में अपनी पहचान कायम की।

इस अवसर पर राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद, टेबल टेनिस खिलाड़ी मानिका बत्रा और अचंता शरत कमल, क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा, पृथ्वी शॉ और टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना आदि भी मौजूद थे।

आईओसीएल के निदेशक (एचआर) रंजन के. महापात्रा ने कहा, "इंडियन ऑयल की योजना वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, निशानेबाजी, तीरंदाजी, कुश्ती, कबड्डी, फुटबॉल और मुक्केबाजी जैसे अन्य खेलों को भी अपने स्कॉलरशिप योजना में शामिल करने की है ताकि इन्हें खेलने वाले खिलाड़ियों की भी कंपनी में भर्ती किया जा सके।"

उन्होंने कहा कि कंपनी पैरालंपिक खिलाड़ियों को भी अपनी योजना में शामिल करने पर विचार कर रहा है।

-- आईएएनएस

Published in अन्य

सिल्वरस्टोन (इंग्लैंड): भारतीय रेसिंग सनसनी जेहान दारुवाला एफआईए एफ3 चैम्पियनशिप में पोडियम फिनिश करके इतिहास रच दिया है। वह इस चैम्पियनशिप में पोडियम फिनिश करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। जेहान ने रविवार को यहां के प्रसिद्ध सिल्वरस्टोन सर्किट पर आयोजित रेस में दूसरा स्थान हासिल किया। जेहान ने रेस में पहला स्थान हासिल किया था लेकिन स्प्रिंट रेस में डीएनएफ के कारण वह अधिक देर तक पहले स्थान पर नहीं रह सके और दूसरे स्थान पर जाने पर बाध्य हुए।

यह जेहान का इस सीजन का पांचवां पोडियम फिनिश है। इस पोडियम फिनिश के साथ वह रूस के रोबर्ट श्वार्टजमैन से दो अंक आगे निकल गए हैं।

जेहान ने क्वालीफाईंग में तीसरा स्थान हासिल किया था। इस्तोनिया के रेसर जूरी विप्स ने रेस के लिए पोल पोजीशन हासिल किया था। जेहान के प्रेमा रेसिंग टीम के साथी मार्कस आर्म्सट्रांग (न्यूजीैलैंड) ने दूसर स्थान हासिल किया था। बेहद प्रतिस्पर्धी ग्रिड पर 30 में से 17 चालक ऐसे थे, जिनके बीच क्वालीफाईं मे एक सेकेंड से भी कम समय का अंतर रहा था।

मुख्य रेस में जेहान ने बत्ती जलते ही काफी तेज शुरुआत की और कीवी रेसर आर्म्सट्रांग को पहले ही कार्नर पर पीछे छोड़ दिया। डेनमार्क के क्रिस्टीयन लुंडगार्ड भारतीय चालक के ठीक पीछे थे लेकिन वह जेहान से आगे नहीं निकल सके क्योंकि जेहान अपनी बढ़त बनाए रखनें में सफलता हासिल की। विप्स ने हालांकि जेहान से तेज गाड़ी चलाते हुए अपनी बढ़त को बनाए रखा।

जेहान ने विप्स को पीछे छोड़ने के लिए काफी मेहनत की लेकिन इस्तोनिया के चालक ने उसे बचाने के लिए दमखम झोंक दिया। जेहान जैसे ही मूव बनाने वाले थे, ट्रैक पर घटी एक दुर्घटना के कारण वर्चुअल सेफ्टी कार आ गई और इस कारण जेहान को विप्स का पीछा करना बंद करना पड़ा।

जैसे ही सेफ्टी कार ट्रैक से बाहर गई, जेहान ने एक बार फिर विप्स का पीछा शुरू किया। एक मोड़ पर जब जेहान ने विप्स को पीछे छोडने का प्रयास किया तो दोनों ने अपनी स्थिति बनाए रखने के लिए जोरदार ब्रेक लगाया। जेहान ट्रैक से बाहर चले गए और इसी बीच आर्म्सट्रांग तीसरे स्थान पर आ गए। अब जेहान को दो खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा करनी थी। उन्हें अपना खोया स्थान पाना था। जेहान ने आर्म्सट्रांग को पीछे छो़ड़ने में सफलता हासिल की और फिर विप्स पर अपना ध्यान केंद्रित किया, जो काफी आक्रामकता से अपने स्थान की रक्षा करते नजर आ रहे थे लेकिन इसी बीच जेहान की कार के टायर ओवरहीट होने लगे लेकिन जेहान ने हार नहीं मानी और विप्स को ओवरटेक करने में सफल रहे।

यह जेहान का दुर्भाग्य था कि ट्रैक पर एक और दुर्घटना हुई और सेफ्टी कार दोबारा ट्रैक पर आ गई। यह विप्स के लिए राहत देने वाला क्षण था और उन्हें इसी तरह के मौके की तलाश थी। इससे उन्हें अपनी कार के टायरों को ठंढा करने का मौका मिल गया। सेफ्टी कार चार लैप तक ट्रैक पर रही।

सेफ्टी कार के जाने के बाद विप्स ने अपने टायर टेम्पचेयर को नियंत्रित किया और फिर आगे निकलने में कामयाब रहे। जेहान एक बार फिर फंसते नजर आए लेकिन वह इस्तोनिया के चालक को पार नहीं कर सके और उससे 0.811 सेकेंड पीछे रहते हुए रेस फिनिश की। टॉप टेन में जेहान ने सबसे तेज लैप टाइम निकाला और इसे कारण उन्हें दो अतिरिक्त अंक मिले।

रेस के बाद जेहान ने कहा, "रेस अच्छी थी। मेरी रफ्तार अच्छी रही। मैंने जूरी को कई मौकों पर ओवरटेक करने की कोशिश की लेकिन उनका डिफेंस अच्छा था। वह अच्छी कार चला रहे थे और कोई गलती नहीं कर रहे थे। चैम्पियनशिप टेबल के टॉप पर पहुंचकर अच्छा लग रहा है।"

जेहान ने सात रेसों में से पांचवीं पोडियम फिनिश हासिल की है। फीचर रेस के बाद सबसे तेज लैप टाइम ने जेहान को चैम्पियनशिप स्टैंडिंग्स में टॉप पर जाने में मदद की।

जेहान की खुशी और लीड हालांकि अधिक देर नहीं टिक सकी और रिवर्स ग्रिड रेगुलेशंस के कारण उन्हें स्प्रिंट रेस में सातवें स्थान से शुरुआत करनी पड़ी। वह इस रेस में पांचवें स्थान पर रहे। तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान के लिए जोरदार प्रतिस्पर्धा हुई और क्रम में जेहान की कार पिक्वेट की कार से टकरा गया। इससे दोनों को अंतिम लैप में रेस से बाहर जाना पड़ा। लियोनाद्रो पुल्कीनी ने यह रेस जीती। जेहान रेस फिनिश नहीं कर सके और इस कारण उन्हें चैम्पियनशिप टेबल पर टॉप से दूसरे स्थान पर खिसकना पड़ा।

अब जेहान हंगरियन ग्रैंड प्रिक्स सप्ताहांत में 3 और चार अगस्त को फिर से ट्रैक पर दिखाई देंगे।

--आईएएनएस

Published in अन्य

नार्थ बेर्विक: भारत के उभरते हुए गोल्फ खिलाड़ी शुभांकर शर्मा ने यहां जारी स्कॉटिश ओपन के तीसरे दिन रविवार को खराब शुरुआत के बाद अच्छी वापसी करते हुए संयुक्त रूप से 50वां स्थान हासिल किया है। शुभांकर ने तीसरे दिन 67 का स्कोर किया।

आस्ट्रिया के बेर्नड वेइसर्बेगर ने अपने दूसरे दिन के प्रदर्शन को बरकरार रखते हुए दो शॉट की बढ़त के साथ दिन का अंत किया। तीसरे दिन वह 65 के स्कोर के साथ पहला स्थान हासिल करने में सफल रहे।

शुभांकर ने हालांकि शुरुआत अच्छी नहीं की थी। वह शुरुआती दो होल पर ही बोगी खेल बैठे थे। शुभांकर ने इससे वापसी की और चौथे, पांचवें, 10वें, 12वें, 13वें, 15वें और 16वें होल पर बर्डी लगाई।

आखिरी होल काफी मुश्किल था और यहां शुभांकर बोगी खेल गए। तीन दिन के बाद शुभांकर का कुल स्कोर 204 है।

वेइसर्बेगर से दो शॉट पीछे दक्षिण अफ्रीका के एरिक वान रूयेन रहे। वेइसर्बेगर का तीन दिन के बाद कुल स्कोर 193 है।

भारत में इस टूर्नामेंट का आधिकारिक प्रसारण डीस्पोर्ट पर हो रहा है।

--आईएएनएस

Published in अन्य

नेवार्क (अमेरिका): भारत के पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने अपने विजयी क्रम को जारी रखा है और शनिवार रात यहां खेले गए मुकाबले में अमेरिका के माइकल स्नाइडर को मात दी। आठ राउंड के इस मुकाबले में भी विजेंदर ने अपने प्रतिद्वंद्वी को चौथे राउंड में ही नॉक आउट कर दिया।

विजेंदर ने इस मुकाबले को मिलाकर अभी तक अपने आठ मैचों में नॉकआउट के जरिए जीत हासिल की है। इसी के साथ विजेंदर ने डब्ल्यूबीओ ओरिंटल और एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट चैम्पियन का खिताब अपने पास ही रखा है।

इस जीत के बाद विजेंदर ने अपने ट्विटर पर लिखा, "गान अर्पित, प्राण अर्पित, रक्त का कण-कण समर्पित। चाहता हूं देश की धरती, तुझे कुछ और भी दूं। भारत में मौजूद मेरा समर्थन करने वाले और यहां अमेरिका में मेरा साथ दे रहे सभी प्रशंसकों को मैं धन्यवाद देता हूं।"

विजेंदर ने अभी तक इस मैच को मिलाकर कुल 11 पेशेवर मुकाबले खेले हैं। बीजिंग ओलम्पिक-2008 में कांस्य पदक जीतने वाले विजेंदर ने आठ मुकाबले नॉक आउट से जीते हैं जबिक तीन में उन्हें पूरा मुकाबला खेलना पड़ा है।

--आईएएनएस

Published in अन्य

फुल्र्टन (अमेरिका): राष्ट्रीय चैंपियन भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सौरभ वर्मा को यूएस ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में शनिवार को यहां हार का सामना करना पड़ा। वल्र्ड नंबर-56 थाईलैंड के तानोंगसाक सीनसोमबूनसुक ने वर्ल्ड रैंकिंग में 43 पायदान पर मौजूद वर्मा को सीधे गेमों में 21-9, 21-18 से पराजित किया। इन दोनों खिलाड़ियों के बीच यह अब तक का पहला मुकाबला था।

सीनसोमबूनसुक ने इस मैच को जीतने के लिए केवल 39 मिनट का समय लिया। वर्मा की हार के साथ ही इस टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है।

इससे पहले, क्वार्टर फाइनल में वर्मा ने हमवतन एचएस प्रणॉय को मात दी थी। वर्मा ने दूसरी सीड प्रणॉय को एक रोमांचक मुकाबले में 21-19, 23-21 से हराया था।

वर्मा ने 50 मिनट में यह मुकाबला अपने नाम किया था। उन्होंन 2017 के इंडिया ओपन में भी प्रणॉय को पराजित किया था।

--आईएएनएस

 

Published in अन्य

क्लांदो (चेक गणराज्य): भारत की शीर्ष महिला धावक हीमा दास ने दो सप्ताह के भीतर तीसरा स्वर्ण पदक जीता है। हीमा ने यहां क्लांदो मेमोरियल एथलेटिक्स प्रतियोगिता में महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

भारतीय धावक ने शनिवार को हुई इस रेस को 23.43 सेकेंड में पूरा किया और पहले पायदान पर रही।

इस बीच, नेशनल रिकॉर्ड होल्डर मोहम्मद अनस ने भी 400 मीटर में सोना जीता। उन्होंने अपनी रेस 45.21 सेकेंड में पूरी की।

हीमा ने दो जुलाई को साल की अपनी पहली प्रतिस्पर्धा 200 मीटर रेस में 23.65 सेकेंड का समय निकालर सोना जीता था। यह रेस पोलैंड में हुई पोजनान एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स के तहत हुई थी।

इसके बाद, उन्होंने जुलाई आठ को पोलैंड में हुए कुंटो एथलेटिक्स टूर्नामेंट में 200 मीटर की रेस में 23.97 सेकेंड के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

वर्ल्ड जूनियर चैम्पियन हीमा का सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत समय 23.10 सेकेंड है जो उन्होंने पिछले साल बनाया था।

--आईएएनएस

Published in अन्य

नई दिल्ली: भारत की राष्ट्रीय कबड्डी टीम के पूर्व कप्तान और प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) फ्रेंचाइजी पुनेरी पल्टन के कोच अनूप कुमार ने एक खिलाड़ी के तौर पर अपने फन से दुनिया को अभिभूत किया है लेकिन अब वह नई भूमिका में हैं और उनका मानना है कि कोच के रूप में खिलाड़ी जैसा प्रदर्शन देना उनके लिए एक बड़ी चुनौती है।

कबड्डी के मैट पर 15 साल तक ताल ठोकने वाले अनूप पीकेएल के सातवें सीजन में पुनेरी टीम को कोचिंग देते नजर आएंगे। वर्ष 2010 और 2014 के एशियाई खेलों में भारतीय कबड्डी टीम को स्वर्ण पदक जीताने वाले अनूप ने पिछले सीजन में कबड्डी को अलविदा कह दिया था। वह प्रो कबड्डी लीग में लम्बे समय तक यू मुम्बा टीम के कप्तान रहे थे और अपनी कप्तानी में यू मुम्बा ने एक बार खिताब जीता भी है।

20 जुलाई से शुरू हो रहे पीकेएल सीजन-7 की तैयारी में जुटे अनूप ने आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में कहा, "एक कोच के रूप में मेरे लिए यह एक बहुत बड़ी चुनौती है। यह खिलाड़ियों की चुनौती से काफी अलग है क्योंकि यहां जिम्मेदारियां काफी बढ़ जाती हैं। लेकिन मुझे कोच की जिम्मेदारी को निभाने का आनंद भी आ रहा है।"

अपनी कप्तानी में 2016 में भारत को कबड्डी विश्व कप जिताने वाले अनूप को 2012 में अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

बतौर कोच अपने लक्ष्य को लेकर अनूप ने कहा, "पिछले 15 वर्षो से मैं जहां भी खेला हूं, मेरा एक ही लक्ष्य रहा है कि मैं अपनी टीम को विजेता बनाऊं। मैं पहली बार बतौर कोच किसी टीम के साथ जुड़ा हूं तो मैं चाहूंगा कि पुनेरी पल्टन इस सीजन में ट्रॉफी उठाए।"

पुनेरी पल्टन की टीम पिछले सीजन में 22 मैचों में आठ जीत और 12 हार के साथ जोन-ए में चौथे नंबर पर रही थी। इस टीम ने अब तक एक बार भी पीकेएल खिताब नहीं जीता है।

यह पूछे जाने पर कि इस सीजन में पुनेरी पल्टन में क्या सुधार करना चाहेंगे, उन्होंने कहा, "हर सीजन में खिलाड़ी बदल जाते हैं। पिछले सीजन की तुलना में इस बार टीम में लगभग सभी नए खिलाड़ी हैं, जो पहले दूसरी टीम का हिस्सा रह चुके हैं। हां, कुछ ही ऐसे खिलाड़ी हैं, जो पिछले सीजन में भी टीम का हिस्सा थे। ऐसे में हर चीज नए सिरे से शुरू करनी होती है।"

कोच ने कहा, "मेरे लिए यह एक नया सीजन है और टीम भी नई है, इसलिए यह नहीं सोच सकते कि पिछले सीजन में टीम ने क्या किया और इस सीजन में उसमें सुधार करने की जरूरत है। इस सीजन में मुझे जो टीम मिली है और जो खिलाड़ी मेरे साथ हैं, मुझे उन्हीं खिलाड़ियों के साथ आगे बढ़ना होगा।"

इस सीजन में टीम की रणनीतियों को लेकर अनूप ने कहा, "हमने सीजन के लिए जरूर रणनीति बना ली है, लेकिन विपक्षी टीम के साथ होने वाले मैच को लेकर तो हम मैच से दो-तीन पहले ही रणनीति बनाएंगे।"

उन्होंने साथ ही कहा, "हमारा पहला मैच हरियाणा स्टीलर्स के साथ है और उस टीम के कोच राकेश कुमार मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं। हम दोनों 10-12 साल एक साथ खेल चुके हैं। हमें पता है कि उनकी टीम काफी अच्छी है। उनका डिफेंस काफी मजबूत है। इसलिए हमने उनकी मजबूती और कमजोरी को ध्यान में रखकर ही अपनी तैयारी की है।"

कोच ने टीम की तैयारियों के बारे में पूछे जाने पर कहा, "टीम की तैयारी काफी अच्छी चल रही है। टीम के सभी खिलाड़ियों ने हाल में पुणे में अभ्यास शिविर में हिस्सा लिया है। टीम के रेडर और डिफेंस दोनों अपनी तरफ से पूरी तैयारियों में लगे हुए हैं। टीम की अब तक की जितनी भी तैयारी हुई हैं मैं उससे काफी संतुष्ट हूं।"

38 वर्षीय अनूप ने साथ ही कहा, "तैयारियों के लिहाज से देखा जाए तो हमारे लिए सबसे अच्छी बात यह है कि टीम के सभी खिलाड़ी पूरी तरह से फिट हैं। फिट रहने के लिए आपको नियमित अभ्यास करना जरूरी है। खेलों में कई बार ऐसा होता है कि अभ्यास के दौरान कई खिलाड़ी चोटिल हो जाते हैं, लेकिन हमारे सभी खिलाड़ी पूरी तरह से फिट हैं और यह हमारे लिए काफी सकारात्मक बात है।"

--आईएएनएस

Published in अन्य