नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि राजधानी में कानून-व्यवस्था में सुधार के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार को साथ मिलकर काम करना चाहिए। केजरीवाल का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब एक दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में गंभीर अपराधों के मामले में तेजी आ रही है।

मीडिया से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा कि राजनीति को किनारे रखकर सभी एजेंसियों, दोनों सरकारों और दिल्ली के लोगों को चाहिए कि वे साथ में काम करें।

उन्होंने कहा, "हमें चाहिए कि शहर में कानून-व्यवस्था में सुधार लाने के लिए हम साथ में काम करें। हम अपनी तरफ से केंद्र सरकार के साथ काम करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।"

उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली में बड़े पैमाने पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू किया है।

केजरीवाल ने कहा, "इससे राजधानी में होने वाले अपराधों में कमी आएगी। शहर में होने वाले किसी भी अपराध की हमें जानकारी होगी। तुरंत कदम उठाने में यह सहायक होगा।"

--आईएएनएस

नई द‍िल्‍ली: लोकसभा चुनाव के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) को बड़ा झटका लगा है। आम आदमी पार्टी से निगम पार्षद विजेंद्र यादव ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) ज्‍वाइन कर लिया है। विजेंद्र यादव ने भाजपा प्रदेश मुख्‍यालय में प्रदेश अध्‍यक्ष मनोज तिवारी व उत्‍तर पश्‍चिमी दिल्‍ली से सांसद हंसराज हंस की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा है। 

इस मौके पर विजेंद्र यादव ने बताया क‍ि दिल्ली सरकार की नीतियों के खिलाफ रहा हूं, इसलिए मैं आज बीजेपी में शामिल हूं। उन्‍होंने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी में और भी कई ऐसे लोग हैं जो वहां से निकलना चाह रहे हैं। इसमें कई विधायक भी हैं। हमारे सामने ही एक विधायक को गधा कहा गया। यह किस तरह की तमीज़ है। एमसीडी के काम दिल्‍ली सरकार की नीतियों की वजह से रुके हैं जबकि वहां पैसे की कमी नहीं है। 

इस मौके पर मनोज तिवारी ने दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि जिस व्‍यक्ति को लगता है कि वह कैद में है वह भाजपा में शामिल हो सकता है। आम आदमी पार्टी में कई लोग हैं जो बदलाव के लिए आए थे मगर कैद होकर रह गए। भाजपा सबका सम्‍मान करती है। भाजपा हर छोटे-से-छोटे कार्यकर्ताओं की इज्‍जत करती है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में आम आदमी पार्टी को भाजपा के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा है। इसके बाद से ही आम आदमी पार्टी से कई नेता और कार्यकर्ताओं के भाजपा को ज्‍वाइन करने का सिलसिला जारी है। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने दिल्‍ली की सातों सीट पर कब्‍जा जमा लिया था, वहीं आम आदमी पार्टी इस हार के बाद से विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी है। आम आदमी पार्टी किसी भी हाल में विधानसभा चुनाव में कोई भी रिस्‍क लेना नहीं चाहेगी। 

 

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया के खिलाफ भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता द्वारा दाखिल मानहानि के मुकदमे में सुनवाई की जाएगी। दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को मुकदमे की सुनवाई करने पर सहमति जताई।

विजेंद्र गुप्ता ने दोनों नेताओं द्वारा उनको चार मई को एक रोडशो के दौरान थप्पड़ मारने की साजिश रचने का उनको आरोपी ठहराने के बाद उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है।

एडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने मामले की सुनवाई 24 जून को मुकर्रर की है।

गुप्ता ने उनके खिलाफ मुख्यमंत्री के आरोप को दुर्भावनापूर्ण और जानबूझकर मानहानि करने वाला बताया है। उन्होंने इस आरोप को लेकर उन पर एक करोड़ रुपये का मानहानि का दावा ठोका है और मुकदमे के खर्च में होने वाली क्षति की मांग की है।

गुप्ता ने अपनी याचिका में कहा, "आरोपी-1 (केजरीवाल) ने खुद चार मई को रोडशो के दौरान थप्पड़ मारने की योजना बनाई और भाजपा को इस घटना के लिए दोषी ठहराया ताकि राजनीतिक लाभ लिया जाए।"

गुप्ता ने अदालत से भारतीय दंड संहिता की धारा 499/500 (मानहानि) के तहत अपराध का संज्ञान लेते हुए आम आदमी पार्टी के दोनों नेताओं को कानून के प्रावधानों के अनुसार दंडित करने की गुहार लगाई है।

--आईएएनएस

नई दिल्ली: राजधानी की एक अदालत ने गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की निजी उपस्थिति से छूट देने की मांग की याचिका पर आदेश सुरक्षित रख लिया। 

केजरीवाल ने यह याचिका भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद रमेश बिधूड़ी द्वारा दायर मानहानि के मामले में आरोपी के तौर बयान दर्ज कराने के निजी उपस्थिति से छूट के लिए दाखिल की है।

अतिरिक्त मुख्य महानगर दंडाधिकारी समर विशाल ने कहा कि वह केजरीवाल की याचिका पर शुक्रवार को आदेश सुनाएंगे।

केजरीवाल के वकील ऋषिकेश कुमार और मोहम्मद इरशाद ने अदालत से अनुरोध किया था कि केजरीवाल को लिखित में प्रस्तुतिकरण की अनुमति दी जाए, जो कि अभियुक्त के बयान का हिस्सा होगा।

हालांकि, बिधूड़ी के वकील ने याचिका का विरोध किया और केजरीवाल के बयान दर्ज कराने के दौरान उनके व्यक्तिगत तौर पर मौजूदगी की मांग की। वह मामले में आरोपी है।

अदालत बिधूड़ी द्वारा दायर एक मानहानि के मामले पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें आरोप लगाया गया है कि केजरीवाल ने 17 जुलाई, 2015 को एक निजी टेलीविजन चैनल को दिए एक साक्षात्कार के दौरान, उनके खिलाफ मानहानिकारक बयान दिया और 'अपराधी' करार दिया।

बिधूड़ी ने अदालत से कहा कि केजरीवाल के मानहानिकारक बयान ने उनकी छवि को नुकसान पहुंचाया है।

--आईएएनएस

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव-2019 में दिल्ली की सातों सीटों (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर शिकस्त खाने वाली आम आदमी पार्टी (aam aadmi party) अभी से दिल्ली विधानसभा चुनाव-2020 की तैयारी में जुट गई है। 

यही वजह है कि दिल्ली में पिछले चार साल से अधिक समय से सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा चुनाव-2020 में जीत हासिल करने के लिए बड़ा मास्टरस्ट्रोक खेलने की तैयारी में है। दरअसल, दिल्ली की सत्ता में अपनी वापसी सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल सोमवार को दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त यात्रा करने की सुविधा देने का ऐलान कर सकते हैं।

मिली  जानकारी के मुताबिक, सोमवार दोपहर आम आदमी पार्टी पत्रकार वार्ता करने जा रही है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसमें सीएम अरविंद केजरीवाल दिल्ली मेट्रो और दिल्ली परिवहन निगम की बसों में मुफ्त सफर का ऐलान कर सकते हैं। 

यहां पर बता दें कि दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) के वरिष्ठ अधिकारियों से कहा है कि यह योजना हर हाल में हमें लागू ही करनी है। मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर आने वाले खर्च को दिल्ली सरकार उठाएगी। इसके लिए वह डीएमआरसी को भुगतान करेगी।

बता दें कि दिल्ली की बसों व मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसद महिलाएं होती हैं। इस हिसाब से जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार, प्रति वर्ष करीब 200 करोड़ रुपये का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा।

मेट्रो के अधिकारियों का कहना है कि बसों की अपेक्षा मेट्रो में महिलाएं अधिक यात्रा करती हैं। यदि योजना लागू होती है तो यह दिल्ली की अपनी तरह की अलग योजना होगी।

यहां पर बता दें कि दिल्ली की सातों सीटों (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों के न केवल हार मिली, बल्कि पार्टी का वोट शेयर भी गिरा है। वहीं, दिल्ली विधानसभा चुनाव होने में एक साल से भी कम का वक्त बचा है, ऐसे में केजरीवाल सरकार दिल्ली की सत्ता में वापसी के प्रयास में अभी से जुट गई है।

बताया जा रहा है कि दिल्ली सरकार की मंशा इस योजना को बसों और मेट्रो में एक साथ लागू करने की है। यह अलग बात है कि डीटीसी व क्लस्टर स्कीम की बसों में इसे लागू करने में सरकार के सामने कोई अड़चन नहीं है, लेकिन मेट्रो में सुरक्षा की दृष्टि से इसे लागू कर थोड़ा जटिल काम है।

 

 

नई दिल्ली: बिजली हाफ और पानी माफ योजना को सफलतापूर्वक संचालित करने के बाद अब दिल्ली सरकार महिलाओं को मेट्रो और सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा कराने जा रही है। यानी आने वाले समय में दिल्ली में मेट्रो व बसों में यात्र करने के लिए महिलाओं को टिकट नहीं लेना पड़ेगा। कोई तकनीकी अड़चन नहीं आई तो छह माह में योजना लागू हो जाएगी। दिल्ली सरकार ने इसके लिए मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) से जल्द प्रस्ताव लाने को कहा है।

आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से पूछा है कि वह इस योजना को कैसे लागू करेगा? मुफ्त पास की व्यवस्था होगी या कोई अन्य विकल्प होगा? अनुमान है कि योजना को लागू करने पर सरकार पर प्रति वर्ष करीब 1200 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। दिल्ली विधानसभा चुनाव-2020 के मद्देनजर अरविंद केजरीवाल का यह मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा है। 

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2019 के लोकसभा चुनावों में जीत दर्ज के लिए बधाई दी और कहा कि वह शहर के लोगों के लिए उनके साथ मिलकर काम करने को तत्पर हैं। 

आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख ने एक ट्वीट में कहा, "मैं इस ऐतिहासिक जीत के लिए नरेंद्र मोदी को बधाई देता हूं और दिल्ली की जनता की भलाई के लिए मिलकर काम करने को तत्पर हूं।"

भाजपा 303 सीटों पर आगे चल रही है, जिसमें दिल्ली की सभी सात सीटें शामिल हैं।

इससे पहले, आप ने भाजपा को जीत पर बधाई दी और कहा कि उम्मीद है कि मोदी भविष्य में अपने कार्यकाल के दौरान अच्छा काम जारी रखेंगे।

इस बीच, आतंकवाद का आरोप झेल रही भाजपा की प्रज्ञा सिंह ठाकुर भोपाल में आगे चल रही हैं। आप ने इस पर कहा कि लोगों को अपने इस निर्णय पर आत्मनिरीक्षण करना होगा।

आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने एक ट्वीट में कहा, "महात्मा गांधी के हत्यारे को 'देशभक्त' कहने वाले लोग संसद में पहुंच गए हैं और हम सभी मूकदर्शक बने हुए हैं। लोगों को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए।"

--आईएएनएस

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उन्हें और उनके द्वारा शुरू की गई सकारात्मक राजनीति को खत्म कराना चाहती है।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "भाजपा मेरी हत्या क्यों कराना चाहती है? मेरी क्या गलती है? मैं लोगों के लिए स्कूल, अस्पताल बनवा रहा हूं। पहली बार देश में स्कूलों और अस्पतालों के बारे में एक सकारात्मक राजनीति है। भाजपा इसे खत्म करना चाहती है। लेकिन मैं अंतिम सांस तक लड़ाई जारी रखूंगा।"

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी कहा कि भाजपा केजरीवाल की हत्या कराने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा, "भाजपा मुख्यमंत्री के दैनिक सुरक्षा रिपोर्ट की जानकारी ले रही है और इसके जरिए भाजपा उनकी हत्या की साजिश रचेगी।"

केजरीवाल ने इस महीने के प्रारंभ में भी भाजपा पर आरोप लगाया था कि वह उनकी हत्या की साजिश रच रही है, जब एक व्यक्ति ने शहर में केजरीवाल को एक चुनावी रोडशो के दौरान थप्पड़ मार दिया था। उन्होंने यह भी दावा किया था कि पिछले पांच वर्षो में उन पर नौ बार हमले किए जा चुके हैं।

--आईएएनएस

 

 

नई दिल्ली: आम चुनाव के तहत दिल्ली की सातों सीटों (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, उत्तरी पूर्वी दिल्ली, उत्तरी पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर 12 मई को मतदान हो चुका है, लेकिन सभी दलों ने मतदान को लेकर अपना-अपना आंकलन शुरू कर दिया है।इस बीच दिल्ली सरकार के मंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता राजेंद्र पाल गौतम ने कहा है कि पहले दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर AAP को जीत मिलने की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन मुस्लिम वोटर ने कंफ्यूजन में वोट डाला, जिसके चलते कुछ वोटर काग्रेस की तरफ शिफ्ट हुए हैं। इसके अलावा वोटिंग से दो रात पहले गरीब वोटरों को पैसे बांटे गए, जिसके चलते भी वोट ट्रांसफर हुए हैं। राजेंद्र पाल गौतम उत्तरी-पूर्वी दिल्ली की सीमापुरी विधानसभा से विधायक भी हैं।

बता दें कि दिल्ली की सात लोकसभा सीटों में से उत्तरी-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर सबसे ज्यादा वोटिंग हुई थी। यहां पर 63.39 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। इस लोकसभा क्षेत्र में दिल्ली की सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी है। यहां करीब 23 फीसद मुस्लिम हैं, जिसमें सीलमपुर और मुस्तफाबाद जैसे मुस्लिम बहुल इलाके हैं। उत्तरी-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी शीला दीक्षित, भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी और आम आदमी पार्टी के दिलीप पांडेय के बीच मुकाबला है।

वहीं, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के अलावा चांदनी चौक और पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर भी मुस्लिम वोटरों की तादाद निर्णायक है। चुनाव प्रचार में आप मुखिया अरविंद केजरीवाल लगातार वोट न बंटने की अपील कर रहे थे। AAP को ये आस थी कि भाजपा के विरोध में मुस्लिम समाज का वोट उसे एकतरफा मिलेगा, लेकिन  वोटिंग के बाद चर्चा ये रही कि कांग्रेस के हिस्से भी मुस्लिम समाज का वोट गया है।

 

संगरूर (पंजाब): दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) के प्रचार अभियान की शुरुआत की लेकिन उनका स्वागत काले झंडों से किया गया।

केजरीवाल संगरूर से आप के उम्मीदवार भगवंत मान के लिए प्रचार कर रहे थे।

राज्य को मादक पदार्थो के नाम पर बदनाम करने के लिए प्रदर्शनकारियों ने केजरीवाल के खिलाफ नारे लगाए और उन्हें वापस जाने को कहा।

एक प्रदर्शनकारी गुरिंदर सिंह ने कहा, "पिछले लोकसभा चुनाव में केजरीवाल ने पंजाब को यह कहकर बदनाम किया था कि यह 'मादक पदार्थो का स्वर्ग है' और 'यहां के युवा नशे के आदी हैं'। बाद में, उन्होंने पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से उनके खिलाफ मादक पदार्थो के कारोबार में संलिप्त होने के आरोप लगाने को लेकर बिना शर्त माफी मांगी थी।"

उसने कहा, "मजीठिया से माफी मांगने के बजाए उन्हें पंजाब के लोगों से बार-बार और लगातार झूठ बोलने के लिए माफी मांगनी चाहिए थी।"

मजीठिया शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के बहनोई हैं और पिछली राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री थे।

आप संयोजक शुक्रवार तक पंजाब में चुनाव प्रचार करेंगे।

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को राज्य के सभी निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होना है।

--आईएएनएस

Published in पंजाब