सीबीआई ने भविष्य निधि अधिकारी को रिश्वत लेते दबोचा
Monday, 18 March 2019 20:18

  • Print
  • Email

नागपुर: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के एक प्रवर्तन अधिकारी को यहां एक व्यक्ति से 50,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी।

आरोपी की पहचान ए.बी.पहाडे के रूप में हुई है। उस पर भ्रष्टाचार रोकथाम (संशोधन) अधिनियम 2018 के तहत प्रासंगिक धाराओं में आरोप लगाए गए हैं और उसे विशेष सीबीआई अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

एजेंसी के अनुसार, शिकायतकर्ता क्षेत्र में विभिन्न बिजली की कंपनियों को ठेके पर मजदूरों की आपूर्ति करता है और कर्मचारियों के लिए नियमित तौर पर ईपीएफओ नागपुर कार्यालय में भविष्य निधि (पीएफ) का भुगतान करता है।

पहाडे ने उसके कार्यालय का दौरा किया और उससे बीते पांच सालों के विभिन्न रिकॉर्ड की मांग की, जिसे जांच के लिए दिया गया था।

बाद में जब शिकायतकर्ता ने पीएफ ऑडिट की स्थिति के बारे में जानकारी के लिए पहाडे से उनके दफ्तर गया तो अधिकारी ने कथित तौर पर सात साल के ऑडिट को बिना किसी बाधा के मंजूरी देने के लिए 350,000 रुपये के रिश्वत की मांग की।

शिकायतकर्ता के रिश्वत देने से इनकार करने के बाद पहाडे ने कहा कि वह रकम के बारे में चर्चा व बातचीत के लिए उसके दफ्तर आएंगे।

इसके बाद पहाडे कटौती करने पर सहमत हुए और 300,000 में मामले को निपटाने के लिए तैयार हो गए। इसकी पहली किस्त 50,000 रुपये थी।

ठेकेदार की शिकायत के बाद सीबीआई ने जाल बिछाया और पहाडे को रिश्वत लेते हुए दबोच लिया।

--आईएएनएस

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.