Print this page

पार्टी हाईकमान के आदेश का पालन करेंगे : महाराष्ट्र कांग्रेस
Monday, 11 November 2019 17:14

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में शिवसेना नीत सरकार को समर्थन देने के मुद्दे पर कड़ी माथापच्ची के बीच प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष माणिकराव ठाकरे ने सोमवार को कहा कि अंतिम निर्णय कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा लिया जाएगा और विधायक हाईकमान के आदेश को मानेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी का शिवसेना के साथ विचारधारा के स्तर पर मतभेद है।

ठाकरे ने कहा, "कांग्रेस और राकांपा दोस्त हैं, जबकि शिवसेना भाजपा की गठबंधन साथी है, लेकिन हमें राज्य के हित के लिए निर्णय लेना होगा।"

शिवसेना नेता मिलिंद नार्वेकर और अनिल देसाई ने इन रपटों के बीच अहमद पटेल से मुलाकात की कि कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) को बाहर से समर्थन दे सकती है।

कांग्रेस ने इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय लेने के लिए सोमवार को दूसरी बैठक बुलाई है।

खबर है कि पार्टी के अधिकतर विधायक शिवसेना और राकांपा को समर्थन देने के पक्ष में हैं, कांग्रेस नेतृत्व को सोमवार को इसपर निर्णय लेना है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार सुबह अहमद पटेल, अंबिका सोनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया और अन्य नेताओं के साथ महाराष्ट्र सरकार में पार्टी की संभावित भूमिका को लेकर बैठक की थी।

कांग्रेस ने खरीद-फरोख्त से बचने के लिए अपने सभी 44 विधायकों को राजस्थान के जयपुर में रखा है।

इससे पहले रविवार देर रात राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने भाजपा द्वारा राज्य में सरकार बनाने को लेकर अक्षमता जाहिर करने के बाद राज्य की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने का आमंत्रण दिया था।

हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को 105, शिवसेना को 56 सीटें प्राप्त हुई थीं। वहीं राकांपा और कांग्रेस क्रमश: 54 और 44 सीटें अपनी झोली में डालने में सफल हुई थीं।

--आईएएनएस